Showing posts with label India. Show all posts

मोबिन और नकीब ने मुंबई में कोरियाई यूट्यूबर से की छेड़छाड़, आदित्य और अथर्व ने महिला को बचाया

corea-lady-in-mumbai-india

दो-तीन दिन पहले मुंबई की सड़कों पर दक्षिण कोरिया से आई एक महिला युट्यूबर से दो युवकों मोबीन चंद और  मोहम्मद नकीब ने छेड़छाड़ की जब युट्यूबर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लाइव स्ट्रीमिंग कर रही थी, ये दोनों आरोपी महिला से और ज्यादा बदसलूकी कर पाते उससे पहले आदित्य और अथर्व ने कोरियाई महिला को बचा लिया।

कोरियाई पर्यटक, ह्योजियोंग पार्क ने उत्पीड़न से बचाने के लिए दो पुरुषों, आदित्य और अथर्व को धन्यवाद दिया। कोरियाई महिला ने मुंबई के एक रेस्तरां में दोपहर का लंच करते हुए एक तस्वीर के साथ ट्वीट किया, जिसमें अथर्व और आदित्य भी थे, महिला ने अथर्व और आदित्य को धन्यवाद देते हुए कहा कि मैं भारत में सुरक्षित हूँ.

कोरियाई महिला से छेड़छाड़ करने वाले दोनों आरोपियों मोबीन चंद मोहम्मद शेख (19) और मोहम्मद नकीब सदरियालम अंसारी (20) को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और आगे की कार्यवाही जारी है.

NDTV से रवीश कुमार की छुट्टी, जानिए अब कहाँ होगा उनका नया ठिकाना?

ravish-kumar-resign-from-ndtv

वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने बुधवार रात को एनडीटीवी से इस्तीफ़ा दे दिया। रवीश कुमार एनडीटीवी में बतौर वरिष्ठ कार्यकारी संपादक के रूप में कार्यरत थे, दो दिन पहले ही एनडीटीवी प्रमोटर कंपनी आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक प्रणय रॉय और राधिका रॉय ने भी इस्तीफा दे दिया था, गौरतलब है कि अब एनडीटीवी के मालिक गौतम अडानी हो गए हैं.

आपको बता दें कि रवीश कुमार 1996 में NDTV में शामिल हुए थे, उन्होंने NDTV इंडिया पर कई शो जैसे हम लोग, रवीश की रिपोर्ट, देश की बात और प्राइम टाइम में एंकरिंग की। हालाँकि अब रवीश कुमार एनडीटीवी पर नहीं दिखाई देंगे। रवीश कुमार का अब नया ठिकाना यूट्यूब होगा। रवीश ने एक वीडियो के जरिए अपने इस्तीफे की पुष्टि की और कहा कि अब मेरा नया ठिकाना यूट्यूब है, यूट्यूब पर रवीश कुमार ऑफिसियल नाम से चैनल है.

आफताब ने किये श्रद्धा के 35 टु'कड़े, अखिलेश-राहुल-केजरीवाल खामोश, एक ट्वीट तक नहीं किया

rahul-gandhi-akhilesh-yadav-and-kejriwal-not-tweeted-shraddha-murder

दिल्ली के महरौली में आफताब अमीन पूनावाला ने अपनी लिव इन पार्टनर श्रद्धा की बेरहमी से हत्या कर दी, हर मामलें पर ट्वीट करने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सपा मुखिया अखिलेश यादव और AAP मुखिया केजरीवाल एकदम खामोश हैं, इन तीनों नेताओं ने अभी तक संवेदना का एक ट्वीट तक नहीं किया है, कुछ सालों पहले इन्हीं नेताओं ने हाथरस की दुःखद घटना को जमकर तूल दिया था, राहुल गांधी तो हाथरस भी गए थे. सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि आरोपी मुस्लिम है इसलिए ये सब नेता कुछ भी बोलने से बच रहे हैं, क्योंकि वोटबैंक खिसकने का डर है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, श्रद्धा और आफताब मुंबई के रहने वाले थे, 2019 में एक डेटिंग एप पर दोनों की मुलाक़ात हुई थी, जब श्रद्धा के परिवार वालों को इसके बारें में जानकारी हुई तो उन्होंने विरोध किया, लेकिन प्यार में संतुलन खो बैठी श्रद्धा ने आफताब के साथ लिव इन में रहने के लिए अपने माँ-बाप से बगावत करके आफताब के साथ दिल्ली चली आई.

श्रद्धा ने जब आफताब से शादी करने को कहा तो इसी साल मई महीनें में आफताब ने श्रद्धा की ह्त्या कर दी और शव के 35 टुकड़े करके फ्रिज में रख दिया। रोज रात को एक-एक टुकड़े जंगलों में फेंकता था, फ़िलहाल अब पुलिस ने आफ़ताब को गिरफ्तार कर लिया है और चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं.

आपको बता दें कि जैसे-जैसे इस मामलें की जांच बढ़ रही है, वैसे-वैसे इस केस से जुड़े नए खुलासे हो रहे हैं, दिल्ली पुलिस के मुताबिक़, आरोपी आफताब अब बार-बार बयान बदल रहा है, यही नहीं जब उसने श्रद्धा को 35 टुकड़ों में काटा था तो उसके चेहरे का मेकअप भी किया था, फिलहाल दिल्ली पुलिस आफताब की निशानदेही पर टुकड़ों को एकत्रित करने में जुटी हुई है, आफताब को लेकर पुलिस जंगलों में भी गई थी.

भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुई पूजा भट्ट तो मेजर पुनिया ने 26/11 का जिक्र कर राहुल गांधी पर साधा निशाना

major-poonia-twetted-on-pooja-bhatt-and-bharat-jodo-yatra

कांग्रेस नेता राहुल गांधी इस समय 'भारत जोड़ो यात्रा' पर निकले हुए हैं, अबतक कई राज्यों की यात्रा कर चुके हैं, उनकी विचारधारा से इत्तेफाक रखने वाले लोग इस यात्रा से जुड़ रहे हैं, राहुल गांधी के साथ 'भारत जोड़ो यात्रा' में 2 नवंबर को अभिनेत्री पूजा भट्ट भी शामिल हुई, जिसपर बवाल मच गया है, मेजर पुनिया ने 26/11 आतंकी हमले का जिक्र करके राहुल गांधी पर निशाना साधा है.

आपको बता दें कि बॉलीवुड एक्ट्रेस और फिल्म निर्माता पूजा भट्ट बुधवार को तेलंगाना के हैदराबाद में राहुल गांधी के साथ 'भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल हुईं, बोवेनपल्ली में रात्रि विश्राम के बाद बालानगर से फिर से यात्रा की शुरुवात हुई और पूजा भट्ट राहुल गांधी के साथ पैदल चलती हुई दिखाई दी.पूजा भट्ट के भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने पर मेजर पुनिया ने कहा, पूजा भट्ट के सगे भाई ने 26/11 मुंबई आतंकी हमले में शामिल आतंकवादी डेविड हेडली की सहायता की थी, राहुल गांधी 26/11 मुंबई आतंकी हमले से जुड़े लोगों के साथ लगे हुये हैं..क्यों? 

मेजर ( रिटायर्ड) सुरेंद्र पुनिया ने अपने ट्वीट में लिखा, पूजा भट्ट के सगे भाई ने 26/11 मुंबई आतंकी हमले में शामिल आतंकवादी डेविड हेडली की सहायता की..इसी पूजा भट्ट के पिता श्री महेश भट्ट ने अपने बेटे को बचाने के लिये RSS को 26/11 हमले का ज़िम्मेदार ठहराया। राहुल गांधी 26/11 मुंबई आतंकी हमले से जुड़े लोगों के साथ लगे हुये हैं..क्यों? 

कांग्रेस नेता उदित राज ने किया राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का अपमान, NCW ने भेजा नोटिस

congress-leader-udit-raj-insulted-President-draupadi-murmu

अपने उल-जुलूल बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले कांग्रेस नेता उदित राज ने अब राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का अपमान किया है, उदित राज ने ट्वीट कर कहा कि द्रौपदी मुर्मू जैसा राष्ट्रपति किसी देश को न मिले, इसके अलावा कांग्रेस नेता ने राष्ट्रपति के लिए चमचागीरी जैसे बेहद अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल किया है, उदित राज द्वारा किये गए अपमानजनक ट्वीट के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग ने उन्हें नोटिस भेज दिया है.

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट कर कहा, देश की सुप्रीम पॉवर और अपनी कड़ी मेहनत से इस मुकाम तक पहुंची महिला के खिलाफ बेहद आपत्तिजनक बयान। उदित राज को अपने अपमानजनक बयान के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए। रेखा शर्मा ने कहा, NCW उदित राज को नोटिस भेज रहा है.

आपको बता दें कि राष्ट्रपति के खिलाफ अपने अपमानजनक ट्वीट में कांग्रेस नेता उदित राज ने लिखा, 'द्रौपदी मुर्मू जी जैसा राष्ट्रपति किसी देश को न मिले। चमचागिरी की भी हद्द है। कहती हैं 70% लोग गुजरात का नमक खाते हैं। खुद नमक खाकर ज़िंदगी जिएँ तो पता लगेगा। इस ट्वीट के बाद उदित राज और कांग्रेस पार्टी की जमकर फजीहत होने लगी, जिसके बाद उदित राज ने सफाई देते हुए एक अन्य ट्वीट में लिखा, मेरा बयान द्रोपदी मुर्मू जी के लिऐ निजी है,कांग्रेस पार्टी का नही है।  जी को उम्मीदवार बनाया व वोट मांगा आदीवासी के नाम से। राष्ट्रपति बनने से क्या आदिवासी नही रहीं? देश की राष्ट्रपती हैं तो आदिवासी की प्रतिनिधि भी। रोना आता है जब एससी/एसटी के नाम से पद पर जाते हैं फिर चुप।


आतंकवाद और दंगों के आरोपी PFI पर मोदी सरकार ने लगाया बैन, सहयोगी संगठन भी प्रतिबंधित किये गए

pfi-ban-in-india

कटटर इस्लामिक संगठन 'पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इण्डिया ( पीएफआई ) पर मोदी सरकार ने बैन लगा दिया है, इसके आलावा पीएफआई के कई सहयोगी संगठनों को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है, हाल ही में देश के कई राज्यों में NIA ने छापेमारी की थी, 300 से ज्यादा पीएफआई के गुर्गों की गिरफ़्तारी हुई थी, जिसके बाद सरकार ने बड़ी कार्यवाही करते हुए इस संगठन पर ही प्रतिबंध लगा दिया। पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के अलावा रिहैब इंडिया फाउंडेशन, कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया, ऑल इंडिया इमाम काउंसिल, NCHRO, नेशनल वीमेंस फ्रंट , जूनियर फ्रंट और एम्वायर इंडिया फाउंडेशन को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है.

अधिसूचना में केंद्र सरकार ने कहा कि पीएफआई कई आपराधिक और आतंकी मामलों में शामिल है, यह देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए एक बड़ा खतरा बन गया है। सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ते हैं और आतंक-आधारित प्रतिगामी शासन को प्रोत्साहित करते हैं। वैश्विक आतंकवादी संगठनों के साथ पीएफआई के अंतरराष्ट्रीय संबंधों के कई उदाहरण हैं और पीएफआई के कुछ कार्यकर्ता ISIS में शामिल हो गए हैं.

केंद्र सरकार की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि "विभिन्न मामलों में जांच से पता चला है कि पीएफआई और उसके कार्यकर्ता बार-बार हिंसक और विध्वंसक कृत्यों में लिप्त रहे हैं। पीएफआई द्वारा किए गए आपराधिक हिंसक कृत्यों में एक कॉलेज के प्रोफेसर का हाथ काटना, अन्य धर्मों को मानने वाले संगठनों से जुड़े लोगों की निर्मम हत्याएं शामिल हैं।

दिल्ली कांग्रेस ने कहा- पंजाब के CM भगवंत मान का ज्यादा पीना शर्मनाक, जानिए पूरा मामला

punjab-cm-bhagwant-mann-news-in-hindi

पंजाब के मुख्यमंत्री और AAP नेता भगवंत मान एक बार फिर विवादों में हैं, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, जर्मनी में भगवंत मान को समान सहित हवाई-जहाज से उतार दिया गया, मान को क्यों उतारा गया इसका कारण तो स्पष्ट नहीं है, लेकिन मीडिया में चल रही ख़बरों का हवाला देते हुए भाजपा, कांग्रेस और अकाली दल के नेता आरोप लगा रहे है कि भगवंत शराब के नशे में धुत थे, इसलिए उन्हें प्लेन से उतार दिया गया. हालाँकि AAP नेताओं का कहना है कि स्वास्थ्य कारणों से भगवंत मान को प्लेन से उतारा गया.

अकाली दल के मुखिया सुखबीर सिंह बादल ने ट्वीट कर कहा, सह-यात्रियों के हवाले से मीडिया में आई ख़बरों में कहा गया है कि लुफ्थांसा की फ्लाइट से भगवंत मान को उतार दिया गया, क्योंकि वह बहुत नशे में था। और इससे 4 घंटे की उड़ान में देरी हुई। रिपोर्टों ने पूरी दुनिया में पंजाबियों को शर्मिंदा किया है। दिल्ली कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, बड़े शर्म की बात है कि पंजाब के मुख्यमंत्री शराब के नशे में थे, इसलिए विमान से उतारे गए

भाजपा नेता ब्रजेश राय ने ट्वीट कर कहा, भगवंत मान ने तो अपनी मां की कसम खाकर शराब छोड़ने का ऐलान किया था... मगर इनकी आदत है भारत को बदनाम करने की अगर इतनी ही तलब लगी थी तो भारत में पी लेते विदेश जाकर क्यों बेज्जती कराई...


PM मोदी के जन्मदिन पर पैदा होने वाले बच्चों को भाजपा देगी सोने की अंगूठी

bjp-will-give-gold-rings-to-children-born-on-pm-modi-birthday

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कल ( 17 सितंबर ) जन्मदिन है, तमिलनाडु भाजपा ने प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर जन्म लेने वाले नवजात शिशुओं को सोने की अंगूठियां देने का ऐलान किया है, केंद्रीय राज्य मंत्री एल मुरुगन ने जानकारी देते हुए बताया कि "चेन्नई के सरकारी आरएसआरएम अस्पताल में प्रधान मंत्री के जन्मदिन पर पैदा होने वाले सभी बच्चों को सोने की अंगूठी दी जाएगी। 

उन्होंने जानकारी दी कि अंगूठी 2 ग्राम सोने की होगी, इसकी कीमत लगभग 5000 रूपये है. केंद्रीय मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि यह फ्रीबी नहीं है। हम सिर्फ उस दिन पैदा हुए बच्चों का स्वागत करके अपने प्रधान मंत्री का जन्मदिन मना रहे हैं. आपको बता दें कि भाजपा देशभर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्म सेवा पखवाड़ा के रूप में मनाएगी।इनमें मुख्य रूप रक्तदान शिविर एवं सफाई अभियान व जरूरतमंद लोगों को भोजन वितरण, फल वितरण, सिंगल यूज प्लास्टिक की जगह कपड़े से बने आइटम, थैले व स्कूल बैग बांटना शामिल हैं।


जो आमिर खान की फिल्म Laal Singh Chaddha देखेगा, समझो वो आतंकवाद को फंडिंग करेगा: मेजर पुनिया

major-surendra-poonia-tweeted-against-laal-singh-chaddha

रिलीजिंग से पहले ही आमिर खान की फिल्म Laal Singh Chaddha का विरोध जारी है, अब मेजर पुनिया ने  Laal Singh Chaddha के विरोध में एक ट्वीट करते हुए कहा कि जो आमिर खान की फिल्म Laal Singh Chaddha देखेगा, समझो वो आतंकवाद को फंडिंग करेगा। हमारे फ़ौजी भाईयों के कातिल हैं. मेजर (  रिटायर्ड) सुरेंद्र पुनिया ने अपने ट्वीट में लिखा, आमिर खान तुर्की के राष्ट्रपति की पत्नी से मिलते हैं…तुर्की का राष्ट्रपति रोज़ कहता है-“कश्मीर Pak का है,वहाँ के आतंकी Freedom Fighter है” जो लोग आमिर की मूवी देख रहे हैं वो सब कश्मीर में आतंकवाद/Pak को फंड कर रहे हैं..हमारे फ़ौजी भाईयों के कातिल हैं.

आपको बता दें कि दो वर्ष पहले आमिर खान ने तुर्की के राष्ट्रपति की बीबी से मुलाक़ात की थी, आमिर ने ऐसे वक्त में मुलाक़ात की थी जब तुर्की का राष्ट्रपति जो भारत के खिलाफ जहर उगलता था, उस समय आमिर खान की काफी आलोचना हुई थी, इन्हीं सब कारणों की वजह से सोशल मीडिया पर पिछले कई दिनों से 'बॉयकॉट लाल सिंह चड्ढा' अभियान चल रहा है.       

फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' 12 अगस्त को रिलीज़ होगी। फिल्म रिलीज से पहले आमिर खान ने थियेटर में एक प्रीमियर शो रखा. थियेटर में आमिर खान स्वयं मौजूद थे, इसके बावजूद थिएटर खाली रहा, फ्री में फिल्म दिखाए जाने के बाद भी थियेटर खाली रहना आमिर खान को बहुत दर्द पहुंचा रहा होगा। एक दिन और प्रीमियर रखा गया था, जिसमें फिल्म की हीरोइन करीना कपूर खान सो गई थी, आमिर खान भी काफी निराश नजर आये थे.

काले कपड़े पहनकर सड़क पर उतरे कांग्रेसी, अमित शाह बोले- कांग्रेस राम मंदिर का विरोध कर रही है

Congress-demonstrated-by-wearing-black-clothes-news-in-hindi

लगातार कई दिनों से ED के खिलाफ प्रदर्शन कर रही कांग्रेस पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने आज ( 5 अगस्त ) को काले कपडे पहनकर महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेताओं द्वारा काले कपडे पहनकर प्रदर्शन करना सुबह से ही चर्चा का विषय बना रहा, क्योंकि 5 अगस्त अपने आप में एक ऐतिहासिक तारीख़ हो चुकी है, क्योंकि 5 अगस्त 2019 को मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाई थी, 5 अगस्त को ही पीएम मोदी ने राम मंदिर का शिलान्यास किया था.

5 अगस्त को कांग्रेस द्वारा किये गए प्रदर्शन पर निशाना साधते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, कांग्रेस राम मंदिर का विरोध कर रही है। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए अमित शाह ने कहा, एक जिम्मेदार पार्टी होने के नाते कानून का सहयोग देना चाहिए। वो (कांग्रेस) रोज प्रदर्शन करते हैं। मेरा मानना है कि कांग्रेस ने आज के विरोध प्रदर्शन से तुष्टीकरण की राजनीति को बढ़ाया है। आज ED ने आज किसी को तलब नहीं किया लेकिन फिर भी उन्होंने प्रदर्शन किया।

अमित शाह ने कहा, कांग्रेस ने आज के दिन काले कपड़े पहनकर विरोध प्रदर्शन किया जबकि आज ही के दिन PM ने राम जन्मभूमि का शिलान्यास किया था। कांग्रेस आज प्रदर्शन कर संदेश देना चाहते हैं कि वो राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और तुष्टीकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं, सीएम योगी ने कहा, आज भारत की आस्था को अपमानित करने वाला कांग्रेस का आचरण अत्यंत निंदनीय है। कांग्रेस पार्टी कई दिनों से आंदोलन कर रही है। अब तक वे सामान्य कपड़ो में प्रदर्शन कर रहे थे। आज कांग्रेसियों ने काले कपड़ो में जो प्रदर्शन किया है यह रामभक्तों का अपमान है.

द्रौपदी मुर्मू ने ली राष्ट्रपति पद की शपथ, आज़ाद भारत में जन्म लेने वाली पहली राष्ट्रपति हैं

president-draupadi-murmu-take-oath

द्रौपदी मुर्मू जी ने आज राष्ट्रपति पद की शपथ ली, संसद भवन में भारत के चीफ जस्टिस एनवी रमना ने राष्ट्रपति की शपथ दिलाई। द्रौपदी मुर्मू जी भारत का राष्ट्रपति बनने के साथ ही कई अन्य रिकॉर्ड भी बना ली हैं, द्रौपदी मुर्मू जी पहली आदिवासी महिला हैं जो भारत की राष्ट्रपति बनीं हैं, इसके अलावा द्रौपदी मुर्मू जी ऐसी पहली राष्ट्रपति भी हैं जिनका जन्म आज़ाद भारत में हुआ है।

राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद द्रौपदी मुर्मू जी ने कहा, मैंने अपनी जीवन यात्रा ओडिशा के एक छोटे से आदिवासी गाँव से शुरू की थी। मैं जिस पृष्ठभूमि से आती हूँ, वहां मेरे लिये प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त करना भी एक सपने जैसा ही था। लेकिन अनेक बाधाओं के बावजूद मेरा संकल्प दृढ़ रहा और मैं कॉलेज जाने वाली अपने गांव की पहली बेटी बनी। मैं जनजातीय समाज से हूँ, और वार्ड कौन्सिलर से लेकर भारत की राष्ट्रपति बनने तक का अवसर मुझे मिला है। यह लोकतंत्र की जननी भारतवर्ष की महानता है।

द्रौपदी मुर्मू जी ने कहा, ये हमारे लोकतंत्र की ही शक्ति है कि उसमें एक गरीब घर में पैदा हुई बेटी, दूर-सुदूर आदिवासी क्षेत्र में पैदा हुई बेटी, भारत के सर्वोच्च संवैधानिक पद तक पहुंच सकती है। राष्ट्रपति के पद तक पहुँचना, मेरी व्यक्तिगत उपलब्धि नहीं है, ये भारत के प्रत्येक गरीब की उपलब्धि है। मेरा निर्वाचन इस बात का सबूत है कि भारत में गरीब सपने देख भी सकता है और उन्हें पूरा भी कर सकता है।

बम्पर वोट हासिल कर भारत की राष्ट्रपति बनीं द्रौपदी मुर्मू, यशवंत सिन्हा की शर्मनाक हार

draupadi-murmu-is-next-president-of-india

विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को हराकर NDA की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू भारत की नई राष्ट्रपति बन गई हैं, भारत की राष्ट्रपति बनने वाली द्रौपदी मुर्मू प्रथम आदिवासी महिला हैं, द्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति बनने से 1,30,000 जनजाति बाहुल गांवों के लिए सामाजिक न्याय का की वो राह खुली है जिसने रायसीना हिल्स ( राष्ट्रपति निवास ) से उन्हें सीधा जोड़ दिया है। द्रौपदी मुर्मू को जीत की बधाई देने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके घर पहुंचे। 

राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को 540 सांसदों ने वोट दिया जिसका मूल्य 378000 है, वहीं यशवंत सिन्हा को 208 सांसदों का वोट मिला जिसका मूल्य 145600 है, कुल वोट पड़े - 748 , जिसका मूल्य 523600, 15 वोट अवैध पाए गए. अभी विधायकों के वोटों का मूल्यांकन चल रहा है. क़रीब 14 सांसदों ने द्रौपदी मुर्मू के समर्थन में क्रॉस वोटिंग की, यानि जिन्होनें यशवंत सिन्हा को वोट देने का वादा किया था वो द्रौपदी मुर्मू को दे दिए. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, १०० से ज्यादा विधायकों ने भी क्रॉस वोटिंग की है.

राष्ट्रपति का चुनाव हारने के बाद यशवंत सिन्हा ने द्रौपदी मुर्मू को बधाई देते हुए कहा, मैं राष्ट्रपति चुनाव 2022 में उनकी जीत पर #DroupadiMurmu को दिल से बधाई देता हूं। मुझे उम्मीद है कि वास्तव में, हर भारतीय की उम्मीद है कि 15 वें राष्ट्रपति के रूप में वह बिना किसी डर या पक्षपात के संविधान के संरक्षक के रूप में कार्य करें। मैं देशवासियों के साथ उन्हें शुभकामनाएं देता हूं.

PM मोदी ने किया बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन, UP के इन 7 जिलों से होकर गुजरेगा एक्सप्रेसवे

pm-modi-innaugrated-bundelkhand-expressway

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 16 जुलाई, 2022 को उत्तर प्रदेश का दौरा किया और सुबह 11:30 बजे जालौन जिले की उरई तहसील के कैथेरी गांव में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया। केन्द्र सरकार देश भर में कनेक्टिविटी को बेहतर करने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसकी एक प्रमुख विशेषता सड़क के बुनियादी ढांचे में सुधार लाने की दिशा में काम करना है। इसी कड़ी में एक महत्वपूर्ण प्रयास के रूप में प्रधानमंत्री द्वारा 29 फरवरी, 2020 को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया गया था। इस एक्सप्रेसवे का काम 28 महीने के भीतर पूरा कर लिया गया है और अब इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री द्वारा किया गया.

कुल 296 किलोमीटर लंबे इस चार लेन वाले एक्सप्रेसवे का निर्माण उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीईआईडीए) के तत्वावधान में लगभग 14,850 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है और आगे चलकर इसे छह लेन तक भी विस्तारित किया जा सकता है। यह एक्सप्रेसवे चित्रकूट जिले में भरतकूप के पास गोंडा गांव में राष्ट्रीय राजमार्ग-35 से लेकर इटावा जिले के कुदरैल गांव तक फैला हुआ है, जहां यह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के साथ मिल जाता है। यह एक्सप्रेसवे सात जिलों यानी चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया और इटावा से होकर गुजरता है।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इस इलाके की कनेक्टिविटी में सुधार के साथ-साथ आर्थिक विकास को भी बढ़ावा देगा, जिसके परिणामस्वरूप स्थानीय लोगों के लिए हजारों रोजगार का सृजन होगा। बांदा और जालौन जिलों में इस एक्सप्रेसवे के समीप औद्योगिक कॉरिडोर बनाने का काम पहले ही शुरू हो चुका है।   

खत्म हुआ इंतजार, अब इस चैनल के साथ नई पारी शुरू करेंगे सुधीर चौधरी

journalist-sudhir-chaudhary-join-aajtak-news-channel

वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी अब 'आजतक' न्यूज़ चैनल के साथ नई पारी की शुरुवात करेंगे। समाचार 4 मीडिया की खबर के मुताबिक, सुधीर चौधरी ने बतौर कंसल्टिंग एडिटर आजतक जॉइन किया है, गौरतलब है कि जी न्यूज़, अंतराष्ट्रीय अंग्रेजी न्यूज़ चैनल WION और जी 24तास के एडिटर इन चीफ और सीईओ सुधीर चौधरी ने 1 जुलाई को ZEE मीडिया से इस्तीफ़ा दे दिया था, हालाँकि तब खबर आई थी कि वो अपना नया वेंचर शुरू करेंगें, लेकिन अब खबर आ रही है कि सुधीर चौधरी आजतक जॉइन कर लिए हैं.

आपको बता दें कि सुधीर चौधरी लगभग 10 साल तक जी न्यूज़ के साथ जुड़े थे, सुधीर किसी पहचान के मोहताज नहीं है, जी न्यूज़ पर रात 9 बजे प्रसारित होने वाला उनका शो DNA दर्शकों के बीच काफी पॉपुलर था. अक्सर लोग अपने परिवार के साथ DNA देखते थे क्योंकि सुधीर चौधरी कई बार अपने शो में बता चुके थे कि DNA सबको ध्यान में रखकर तैयार किया जाता है.


अब DNA में नहीं दिखेंगे सुधीर चौधरी, जानिए क्यों दिए ZEE न्यूज़ से इस्तीफा?

sudhir-chaudhary-resign-from-zee-news

राष्ट्रवादी पत्रकार के तौर पर पहचान बनाने वाले सुधीर चौधरी ने जी न्यूज़ से इस्तीफा दे दिया है, वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी पिछले कई दिनों से चैनल पर दिखाई नहीं दे रहे थे, तभी से तरह-तरह की अटकलें लगनी शुरू हो गई थी, लेकिन अब इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे की वजह भी सामने आ गई है.

आपको बता दें कि सुधीर चौधरी जी न्यूज़, अंतराष्ट्रीय अंग्रेजी न्यूज़ चैनल WION और जी 24तास के एडिटर इन चीफ और सीईओ थे, लेकिन अब उन्होंने 10 जी न्यूज़ के साथ 10 साल लम्बी पारी को विराम दे दिया है, इस बात की पुष्टि कंपनी एचआर द्वारा भेजे गए एक मेल में किया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुधीर चौधरी अपना खुद का वेंचर शुरू करने के लिए जी न्यूज़ से इस्तीफा दिया है.

समाचार 4 मीडिया के मुताबिक, जी न्यूज़ के मालिक सुभाष चंद्रा ने सुधीर चौधरी का इस्तीफा स्वीकार करते हुए एक इंटरनल मेल लिखा है। अपने मेल में डॉ. चंद्रा का कहना है,'पिछले दो दिनों में सुधीर चौधरी के साथ कई मीटिंग हुईं और मैंने उनके यहां रुकने पर भी जोर दिया। लेकिन सुधीर चौधरी अपनी फैन फॉलोइंग के लिए एक नया वेंचर लॉन्च करने की योजना पर काम कर रहे हैं। लिहाजा, मैं उनके सफलता की राह में कोई रुकावट नहीं बनना चाहता, इसलिए मैंने उनके इस्तीफे को स्वीकृति दी है। मेरी शुभकामनाएं हैं कि वह और ऊंचाइयों पर पहुंचें। आपको बता दें कि अपने चर्चित शो डेली न्यूज़ एनालिसिस ( DNA ) के जरिये घर-घर में लोकप्रिय थे, लेकिन अब वो DNA में नहीं दिखाई देंगे। अक्सर लोग अपने परिवार के साथ DNA देखते थे क्योंकि सुधीर चौधरी कई बार अपने शो में बता चुके थे कि DNA सबको ध्यान में रखकर तैयार किया जाता है.

आपातकाल की 47 वीं बरसी आज, हार्दिक पटेल ने इंदिरा गाँधी को बताया तानाशाह

hardik-patel-tweeted-on-emergency

आज आपातकाल की 47वीं बरसी है,  25 जून जून 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की एक सिफारिश को तत्कालीन राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद ने लागू कर कर दिया था और अगले ही दिन देशभर में आपातकाल लागू हो गया. आपातकाल के विरोध में उठने वाली हर आवाजों को जेलों में जकड़ दिया गया.

आपातकाल की 47वीं बरसी पर भाजपा नेता हार्दिक पटेल ने इंदिरा गांधी को तानाशाह करार दिया है, हार्दिक पटेल ने अपने ट्वीट में लिखा, 25 जून 1975 को देश पर तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा थोपा गया आपातकाल, संविधान को कुचलकर सत्ता पर कब्जे का कुटिल षड्यंत्र था। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को तानाशाही की काली कोठरी में ढकेल दिया गया था। आपातकाल का साहसिक विरोध करने वाले सभी वीरों को नमन करता हूँ।

आपको बता दें कि आपातकाल लगने के बाद 21 महीने नागरिक अधिकार छीन लिए गए, सत्‍ता के खिलाफ बोलना अपराध हो गया, विरोधी जेलों में ठूंस दिए गए। 12 जून 1975 के फैसले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने फैसला सुनाया कि इंदिरा ने लोकसभा चुनाव में गलत तौर-तरीके अपनाए। दोषी करार दी गईं इंदिरा गांधी का चुनाव रद्द कर दिया गया। इसके बाद सत्‍ता जाने के डर से इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लगा दिया।

प्रगति मैदान एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, जनता को होगा लाभ

pm-modi-inaugurates-pragati-maidan-Integrated-Transit-corridor

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार 19 जून, 2022 को सुबह 10:30 बजे प्रगति मैदान एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की मुख्य सुरंग और पांच अंडरपास राष्ट्र को समर्पित कर दिया। यह एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना प्रगति मैदान पुनर्विकास परियोजना का एक अभिन्न अंग है।

पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित इस प्रगति मैदान इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना को 920 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया गया है। इसका उद्देश्य प्रगति मैदान में विकसित किए जा रहे नए विश्व स्तरीय प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर तक परेशानी मुक्त और सुगम पहुंच प्रदान करना है,जिससे प्रगति मैदान में होने वाले कार्यक्रमों में प्रदर्शकों और आगंतुकों की आसानी से भागीदारी हो सके।

हालांकि इस परियोजना का प्रभाव प्रगति मैदान से बहुत आगे का होगा क्योंकि यह वाहनों की परेशानी मुक्त आवाजाही सुनिश्चित करेगा और जिससे यात्रियों के समय और आवाजाही पर आने वाली लागत को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी। यह शहरी बुनियादी ढांचे को बदलने के माध्यम से लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए सरकार की व्यापक दृष्टि का हिस्सा है।

मुख्य सुरंग प्रगति मैदान से गुजरने वाली पुराना किला रोड के माध्यम से रिंग रोड को इंडिया गेट से जोड़ती है। छह लेन में इस विभाजित सुरंग के कई उद्देश्य हैं, जिसमें प्रगति मैदान की विशाल बेसमेंट पार्किंग तक पहुंच शामिल है। इस सुरंग का एक अनूठा घटक यह है कि पार्किंग स्थल के दोनों ओर से यातायात की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए मुख्य सुरंग सड़क के नीचे दो क्रॉस सुरंगों का निर्माण किया गया है। यह सुरंग स्मार्ट फायर प्रबंधन, आधुनिक वेंटिलेशन और स्वचालित जल निकासी, डिजिटल रूप से नियंत्रित सीसीटीवी और सार्वजनिक घोषणा प्रणाली जैसे यातायात की सुचारू आवाजाही के लिए नवीनतम वैश्विक मानक सुविधाओं से लैस है। लंबे समय से प्रतीक्षित यह सुरंग भैरों मार्ग के लिए एक वैकल्पिक मार्ग के रूप में काम करेगी जिस पर इस समय जो अपनी वहन क्षमता बहुत अधिक दवाब बना हुआ है और इससे भैरों मार्ग पर चलने वाले  आधे से अधिक यातायात भार के कम हो जाने की उम्मीद है। इस सुरंग के साथ-साथ छह अंडरपास भी होंगे जिसमे चार मथुरा रोड पर, एक भैरों मार्ग पर तथा एक रिंग रोड और भैरों मार्ग के चौराहे पर होगा ।

मेजर गौरव आर्या ने किया शांतिपूर्ण प्रदर्शन का समर्थन, बोले- उपद्रव करने वालों के घर का पता बुलडोजर को...

major-gaurav-arya-tweeted-on-agnipath-protest

भारतीय सशस्त्र बलों में चार साल की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है, हालाँकि अब ये प्रदर्शन काफी हिंसक हो चुका है, जिससे अब इनका समर्थन करने वाले भी पाँव खींच रहे हैं, मेजर ( रिटायर्ड ) गौरव आर्या ने ट्वीट कर कहा कि 'शांतिपूर्ण प्रदर्शन का हम समर्थन करते हैं और जो राष्ट्र की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, उनके घर का पता शीघ्र बुलडोजर को चल जाय.

मेजर ( रिटायर्ड ) गौरव आर्या ने अपने ट्वीट में लिखा, अगर आप अग्निपथ योजना से संतुष्ट नहीं पर अपना विरोध शांतिपूर्वक तरीक़े से कर रहे हैं, मैं आपका सम्मान करता हूँ और आपके साथ खड़ा हूँ। जो ट्रेन फूंक रहे हैं और राज्य की सम्पति नष्ट कर रहे हैं मैं कामना करता हूँ कि बुल्डोज़र को शीघ्र आपके घर का पता चल जाए।

फ़ौज में जाने वाले भाइयों से अपील करते हुए मेजर गौरव आर्या ने कहा, जो राजनीतिक पार्टियों के लीडर आपको दंगे के लिए भड़का रहे हैं उन से एक बार ज़रूर पूछना कि साहब क्या आपका बेटा भी फ़ौज में भरती होगा? आपको बता दें कि इससे पहले गौरव आर्या अग्निपथ योजना पर चिंता व्यक्त कर चुके हैं, उन्होंने कहा था कि 'जो 18 साल की आयु में देश की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी ले सकता है, देश को उसके भविष्य की ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए। चार साल के बाद वो सैनिक क्या करेगा, मेरे लिए चिंता का विषय यह है।

8 साल से किसान-जवान का अपमान कर रही भाजपा, 'अग्निपथ योजना' को वापस लेना ही होगा: राहुल गाँधी

agneepath-scheme-has-to-be-withdrawn-says-rahul-gandhi

भारतीय सशस्त्र बलों में चार साल की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है, इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि अग्निपथ योजना को वापस लेना ही होगा, उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार 8 सालों से किसानों और जवानों का अपमान कर रही है, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, जैसे कृषि कानून वापस हुआ, वैसे ही  'अग्निपथ योजना' को वापस लेना ही होगा।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, 8 सालों से लगातार भाजपा सरकार ने ‘जय जवान, जय किसान' के मूल्यों का अपमान किया है। मैंने पहले भी कहा था कि प्रधानमंत्री जी को काले कृषि कानून वापस लेने पड़ेंगे। ठीक उसी तरह उन्हें ‘माफ़ीवीर' बनकर देश के युवाओं की बात माननी पड़ेगी और 'अग्निपथ' को वापस लेना ही पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि अग्निपथ योजना के विरोध में दो-तीन दिनों से देश के कई राज्यों में हिंसक विरोध प्रदर्शन हो रहा है, अबतक प्रदर्शनकारियों ने दर्जनों ट्रेनें और उनके इंजन फूंक दिए हैं, रेलवे को अबतक 500 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हो चुका है, अग्निपथ योजना का विरोध के बीच गृहमंत्रालय ने ऐलान किया है कि अग्निवीरों को CAPF और असम राइफल्स में 10 परशेंट आरक्षण दिया जाएगा।

चाहे जितना ट्रेन फूंक लें उपद्रवी, सिलेंडर और पेट्रोल का दाम बढ़ाकर भरपाई कर लेगी सरकार

violence-against-agnipath-scheme-in-india

भारतीय सशस्त्र बलों में चार साल की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन अब हिंसक हो चुका है, विरोध प्रदर्शन की आड़ में उपद्रवी राष्ट्र की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, कहीं ट्रेन फूंक रहे हैं तो कहीं बस में आग लगा रहे हैं, कहीं स्टेशनों पर लूटपाट कर रहे हैं. ऐसा करके उपद्रवी सोंच रहे हैं कि वो सरकार को नुकसान पहुंचा रहे हैं, लेकिन शायद ये उपद्रवी भूल रहे हैं कि सरकार जनता के पैसों से ही इसकी भरपाई की जाएगी।

जानकारी के अनुसार, बिहार में उपद्रवियों ने आज पूर्व मध्य रेलवे की 60 से ज़्यादा बोगियाँ और 10 इंजन को आग के हवाले कर दिए. आज 200 से ज़्यादा ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं. इसके अलावा तेलंगाना में भी उपद्रवियों ने कई ट्रेनें फूंक दी, यूपी के बलिया में भी एक ट्रेन जला दी गई उपद्रवियों द्वारा। एक आंकड़े के मुताबिक़, उपद्रवियों ने आज लगभग साढ़े तीन सौ करोड़ का नुकसान किया है.

आपको बता दें कि सरकार के पास नुकसान की भरपाई के कई तरीके हैं, हालाँकि तरीके चाहे जो अपनाएं लेकिन पैसा पब्लिक का ही जाएगा। नुकसान की भरपाई के लिए अगर सरकार 2 रूपये भी पेट्रोल का दाम बढ़ा दे तो कुछ दिन में भरपाई हो जाएगी, डीजल-पेट्रोल के साथ अगर सरकार सिलेंडर के दाम में भी महज 20 रूपये वृद्धि कर दे तो दो-तीन में ही नुकसान की भरपाई हो जाएगी, लेकिन इसका बोझ पब्लिक पर पड़ेगा, राष्ट्र की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाए उपद्रवी और नुकसान झेले आम जनता, सरकार का कुछ नहीं नुकसान होगा।