Showing posts with label India. Show all posts

आपातकाल की 47 वीं बरसी आज, हार्दिक पटेल ने इंदिरा गाँधी को बताया तानाशाह

hardik-patel-tweeted-on-emergency

आज आपातकाल की 47वीं बरसी है,  25 जून जून 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की एक सिफारिश को तत्कालीन राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद ने लागू कर कर दिया था और अगले ही दिन देशभर में आपातकाल लागू हो गया. आपातकाल के विरोध में उठने वाली हर आवाजों को जेलों में जकड़ दिया गया.

आपातकाल की 47वीं बरसी पर भाजपा नेता हार्दिक पटेल ने इंदिरा गांधी को तानाशाह करार दिया है, हार्दिक पटेल ने अपने ट्वीट में लिखा, 25 जून 1975 को देश पर तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा थोपा गया आपातकाल, संविधान को कुचलकर सत्ता पर कब्जे का कुटिल षड्यंत्र था। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को तानाशाही की काली कोठरी में ढकेल दिया गया था। आपातकाल का साहसिक विरोध करने वाले सभी वीरों को नमन करता हूँ।

आपको बता दें कि आपातकाल लगने के बाद 21 महीने नागरिक अधिकार छीन लिए गए, सत्‍ता के खिलाफ बोलना अपराध हो गया, विरोधी जेलों में ठूंस दिए गए। 12 जून 1975 के फैसले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने फैसला सुनाया कि इंदिरा ने लोकसभा चुनाव में गलत तौर-तरीके अपनाए। दोषी करार दी गईं इंदिरा गांधी का चुनाव रद्द कर दिया गया। इसके बाद सत्‍ता जाने के डर से इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लगा दिया।

प्रगति मैदान एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, जनता को होगा लाभ

pm-modi-inaugurates-pragati-maidan-Integrated-Transit-corridor

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार 19 जून, 2022 को सुबह 10:30 बजे प्रगति मैदान एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की मुख्य सुरंग और पांच अंडरपास राष्ट्र को समर्पित कर दिया। यह एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना प्रगति मैदान पुनर्विकास परियोजना का एक अभिन्न अंग है।

पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित इस प्रगति मैदान इंटीग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना को 920 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाया गया है। इसका उद्देश्य प्रगति मैदान में विकसित किए जा रहे नए विश्व स्तरीय प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर तक परेशानी मुक्त और सुगम पहुंच प्रदान करना है,जिससे प्रगति मैदान में होने वाले कार्यक्रमों में प्रदर्शकों और आगंतुकों की आसानी से भागीदारी हो सके।

हालांकि इस परियोजना का प्रभाव प्रगति मैदान से बहुत आगे का होगा क्योंकि यह वाहनों की परेशानी मुक्त आवाजाही सुनिश्चित करेगा और जिससे यात्रियों के समय और आवाजाही पर आने वाली लागत को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी। यह शहरी बुनियादी ढांचे को बदलने के माध्यम से लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए सरकार की व्यापक दृष्टि का हिस्सा है।

मुख्य सुरंग प्रगति मैदान से गुजरने वाली पुराना किला रोड के माध्यम से रिंग रोड को इंडिया गेट से जोड़ती है। छह लेन में इस विभाजित सुरंग के कई उद्देश्य हैं, जिसमें प्रगति मैदान की विशाल बेसमेंट पार्किंग तक पहुंच शामिल है। इस सुरंग का एक अनूठा घटक यह है कि पार्किंग स्थल के दोनों ओर से यातायात की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए मुख्य सुरंग सड़क के नीचे दो क्रॉस सुरंगों का निर्माण किया गया है। यह सुरंग स्मार्ट फायर प्रबंधन, आधुनिक वेंटिलेशन और स्वचालित जल निकासी, डिजिटल रूप से नियंत्रित सीसीटीवी और सार्वजनिक घोषणा प्रणाली जैसे यातायात की सुचारू आवाजाही के लिए नवीनतम वैश्विक मानक सुविधाओं से लैस है। लंबे समय से प्रतीक्षित यह सुरंग भैरों मार्ग के लिए एक वैकल्पिक मार्ग के रूप में काम करेगी जिस पर इस समय जो अपनी वहन क्षमता बहुत अधिक दवाब बना हुआ है और इससे भैरों मार्ग पर चलने वाले  आधे से अधिक यातायात भार के कम हो जाने की उम्मीद है। इस सुरंग के साथ-साथ छह अंडरपास भी होंगे जिसमे चार मथुरा रोड पर, एक भैरों मार्ग पर तथा एक रिंग रोड और भैरों मार्ग के चौराहे पर होगा ।

मेजर गौरव आर्या ने किया शांतिपूर्ण प्रदर्शन का समर्थन, बोले- उपद्रव करने वालों के घर का पता बुलडोजर को...

major-gaurav-arya-tweeted-on-agnipath-protest

भारतीय सशस्त्र बलों में चार साल की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है, हालाँकि अब ये प्रदर्शन काफी हिंसक हो चुका है, जिससे अब इनका समर्थन करने वाले भी पाँव खींच रहे हैं, मेजर ( रिटायर्ड ) गौरव आर्या ने ट्वीट कर कहा कि 'शांतिपूर्ण प्रदर्शन का हम समर्थन करते हैं और जो राष्ट्र की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, उनके घर का पता शीघ्र बुलडोजर को चल जाय.

मेजर ( रिटायर्ड ) गौरव आर्या ने अपने ट्वीट में लिखा, अगर आप अग्निपथ योजना से संतुष्ट नहीं पर अपना विरोध शांतिपूर्वक तरीक़े से कर रहे हैं, मैं आपका सम्मान करता हूँ और आपके साथ खड़ा हूँ। जो ट्रेन फूंक रहे हैं और राज्य की सम्पति नष्ट कर रहे हैं मैं कामना करता हूँ कि बुल्डोज़र को शीघ्र आपके घर का पता चल जाए।

फ़ौज में जाने वाले भाइयों से अपील करते हुए मेजर गौरव आर्या ने कहा, जो राजनीतिक पार्टियों के लीडर आपको दंगे के लिए भड़का रहे हैं उन से एक बार ज़रूर पूछना कि साहब क्या आपका बेटा भी फ़ौज में भरती होगा? आपको बता दें कि इससे पहले गौरव आर्या अग्निपथ योजना पर चिंता व्यक्त कर चुके हैं, उन्होंने कहा था कि 'जो 18 साल की आयु में देश की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी ले सकता है, देश को उसके भविष्य की ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए। चार साल के बाद वो सैनिक क्या करेगा, मेरे लिए चिंता का विषय यह है।

8 साल से किसान-जवान का अपमान कर रही भाजपा, 'अग्निपथ योजना' को वापस लेना ही होगा: राहुल गाँधी

agneepath-scheme-has-to-be-withdrawn-says-rahul-gandhi

भारतीय सशस्त्र बलों में चार साल की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है, इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि अग्निपथ योजना को वापस लेना ही होगा, उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार 8 सालों से किसानों और जवानों का अपमान कर रही है, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, जैसे कृषि कानून वापस हुआ, वैसे ही  'अग्निपथ योजना' को वापस लेना ही होगा।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, 8 सालों से लगातार भाजपा सरकार ने ‘जय जवान, जय किसान' के मूल्यों का अपमान किया है। मैंने पहले भी कहा था कि प्रधानमंत्री जी को काले कृषि कानून वापस लेने पड़ेंगे। ठीक उसी तरह उन्हें ‘माफ़ीवीर' बनकर देश के युवाओं की बात माननी पड़ेगी और 'अग्निपथ' को वापस लेना ही पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि अग्निपथ योजना के विरोध में दो-तीन दिनों से देश के कई राज्यों में हिंसक विरोध प्रदर्शन हो रहा है, अबतक प्रदर्शनकारियों ने दर्जनों ट्रेनें और उनके इंजन फूंक दिए हैं, रेलवे को अबतक 500 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हो चुका है, अग्निपथ योजना का विरोध के बीच गृहमंत्रालय ने ऐलान किया है कि अग्निवीरों को CAPF और असम राइफल्स में 10 परशेंट आरक्षण दिया जाएगा।

चाहे जितना ट्रेन फूंक लें उपद्रवी, सिलेंडर और पेट्रोल का दाम बढ़ाकर भरपाई कर लेगी सरकार

violence-against-agnipath-scheme-in-india

भारतीय सशस्त्र बलों में चार साल की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन अब हिंसक हो चुका है, विरोध प्रदर्शन की आड़ में उपद्रवी राष्ट्र की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, कहीं ट्रेन फूंक रहे हैं तो कहीं बस में आग लगा रहे हैं, कहीं स्टेशनों पर लूटपाट कर रहे हैं. ऐसा करके उपद्रवी सोंच रहे हैं कि वो सरकार को नुकसान पहुंचा रहे हैं, लेकिन शायद ये उपद्रवी भूल रहे हैं कि सरकार जनता के पैसों से ही इसकी भरपाई की जाएगी।

जानकारी के अनुसार, बिहार में उपद्रवियों ने आज पूर्व मध्य रेलवे की 60 से ज़्यादा बोगियाँ और 10 इंजन को आग के हवाले कर दिए. आज 200 से ज़्यादा ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं. इसके अलावा तेलंगाना में भी उपद्रवियों ने कई ट्रेनें फूंक दी, यूपी के बलिया में भी एक ट्रेन जला दी गई उपद्रवियों द्वारा। एक आंकड़े के मुताबिक़, उपद्रवियों ने आज लगभग साढ़े तीन सौ करोड़ का नुकसान किया है.

आपको बता दें कि सरकार के पास नुकसान की भरपाई के कई तरीके हैं, हालाँकि तरीके चाहे जो अपनाएं लेकिन पैसा पब्लिक का ही जाएगा। नुकसान की भरपाई के लिए अगर सरकार 2 रूपये भी पेट्रोल का दाम बढ़ा दे तो कुछ दिन में भरपाई हो जाएगी, डीजल-पेट्रोल के साथ अगर सरकार सिलेंडर के दाम में भी महज 20 रूपये वृद्धि कर दे तो दो-तीन में ही नुकसान की भरपाई हो जाएगी, लेकिन इसका बोझ पब्लिक पर पड़ेगा, राष्ट्र की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाए उपद्रवी और नुकसान झेले आम जनता, सरकार का कुछ नहीं नुकसान होगा। 

अग्निपथ के विरोध में हिंसा जारी, पूर्व DGP बोले- सरकारी संपत्ति नष्ट करने वालों को देखते ही गोली मार दी जानी चाहिये

retd-ips-nc-asthana-tweeted-on-agnipath-scheme

भारतीय सेना की भर्ती की नई नीति 'अग्निपथ योजना' के विरोध में देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है, ये विरोध प्रदर्शन हिंसक हो चुका है, कहीं ट्रेन फूंकी जा रही हैं तो कहीं सरकारी सम्पत्ति को नष्ट किया जा रहा है, अग्निपथ योजना के विरोध में हो रही हिंसा से नाराज रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी डॉ एनसी अस्थाना ने कहा, सरकारी संपत्ति नष्ट करने वालों को देखते ही गोली मार दी जानी चाहिये। अस्थाना ने आशंका जताई है कि अग्निपथ के विरोध में हो रहा हिंसक प्रदर्शन प्रायोजित है. 

केरल के पूर्व डीजीपी और रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी डॉ एनसी अस्थाना ने अपने ट्वीट में लिखा, अग्निपथ को लेकर हिंसक विरोध प्रदर्शन वैसे ही प्रायोजित हैं जैसे रेलवे भर्ती के मुद्दे पर पहले किये गये थे। सरकारी संपत्ति नष्ट करने वालों को देखते ही गोली मार दी जानी चाहिये और पहचान के बाद उन्हें आजीवन सरकारी नौकरी से वंचित कर दिया जाना चाहिये। प्रायोजकों की शिनाख्त भी जरूरी है.

आपको बता दें कि अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने बिहार में भभुआ रोड रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन को भी आग के हवाले कर दिया। कई जगह तोड़फोड़ भी की. प्रदर्शनकारियों ने टायर जलाए और राज्य के कई हिस्सों में रेल और सड़क यातायात को बाधित किया। कैमूर जिले में भभुआ रोड रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया और ट्रेन में आग लगा दी. इसके अलावा आज समस्तीपुर में पूरी ट्रेन जला दी उपद्रवियों ने.


अग्निपथ योजना के विरोध में बवाल, प्रदर्शनकारियों ने जमकर की हिंसा, ट्रेन में भी लगाई आग

protest-against-agnipath-scheme

अग्निपथ योजना के विरोध में उत्तर प्रदेश, बिहार और हरियाणा में गुरुवार को युवाओं ने विरोध प्रदर्शन किया, विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा और आगजनी भी देखने को मिली। प्रदर्शनकारियों ने बिहार में भभुआ रोड रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन को भी आग के हवाले कर दिया। कई जगह तोड़फोड़ भी की. बिहार में 'अग्निपथ' योजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन गुरुवार को भी जारी रहा, प्रदर्शनकारियों ने टायर जलाए और राज्य के कई हिस्सों में रेल और सड़क यातायात को बाधित किया। कैमूर जिले में भभुआ रोड रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया और ट्रेन में आग लगा दी. प्रदर्शनकारियों ने कहा, "हमने लंबे समय से तैयारी की थी और अब वे 4 साल की नौकरी के रूप में अग्निपथ योजना लाए हैं। हमें अग्निपथ नहीं बल्कि पुरानी भर्ती प्रक्रिया चाहिए।

इससे पहले सुबह सैकड़ों की संख्या में युवा नवादा, जहानाबाद और मुंगेर जिलों में भी अग्निपथ योजना के विरोध में एकजुट हुए, बिहार के जहानादाब शहर में भी छात्रों ने रेल और सड़क यातायात बाधित कर प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने कहा, हम सशस्त्र बलों में शामिल होने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। महीनों के प्रशिक्षण और छुट्टी के साथ 4 साल की सेवा कैसी होगी? सिर्फ 3 साल के प्रशिक्षण के बाद हम देश की रक्षा कैसे करेंगे? सरकार को इस योजना को वापस लेना होगा।

गौरतलब है कि अग्निपथ भर्ती योजना' के तहत युवाओं को चार साल की अवधि के लिए सेना में शामिल होने का मौका मिलेगा। साढ़े 17 साल से 21 साल के युवा लड़के और लड़कियां इसके लिए पात्र होंगे।  इसके लिए 10वीं से लेकर 12वीं तक के छात्र आवेदन कर सकेंगे। इसकी शुरुआत 90 दिन के भीतर हो जाएगी। इस साल 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। पहली भर्ती प्रक्रिया में युवाओं को छह महीने की ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग का समय भी चार साल में शामिल होगा। 

हर अग्निवीर को भर्ती के साल 30 हजार महीने तनख्वाह मिलेगी। दूसरे साल अग्निवीर की तनख्वाह बढ़कर 33 हजार, तीसरे साल 36.5 हजार तो चौथे साल 40 हजार रुपये हो जाएगी। 25 फीसदी अग्निवीरों को सेवा विस्तार भी मिलेगा। 

शाखा के संघियों को सेना के अंदर घुसाने की रणनीति है अग्निपथ योजना: विंग कमांडर अनुमा आचार्य

wing-commander-anuma-acharya-tweeted-against-agneepath-scheme

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को भारतीय सशस्त्र बलों की भर्ती के लिए अग्निपथ योजना शुरू की। कुछ लोग इस योजना का समर्थन कर रहे हैं तो कुछ इसका विरोध भी कर रहे हैं, विंग कमांडर अनुमा आचार्य (सेवानिवृत्त) ने तो ट्वीट कर कहा है कि अग्निपथ योजना शाखा के संघियों को सेना के अंदर घुसाने की सुनियोजित रणनीति है.

अनुमा आचार्य ने अपने ट्वीट में लिखा, हेडलाइन मैनेजमेंट से ज़्यादा कुछ नहीं है अग्निपथ योजना. जज़्बे वाले, होनहार और महत्वाकांक्षी युवा सिर्फ़ 4 सालों के लिये आयेंगे नहीं. इस तरह शाखा के संघियों को सेना के अंदर पैठाने की सुनियोजित स्ट्रैटिजी है ये! एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, हर संस्था को बर्बाद किया और आज सेनाओं का नम्बर भी आ ही गया!!! चार से छः साल के अंदर जिस तरह से सेना की नींव हिलेगी, उसके ज़िम्मेदार आज के समय के कमांडर और वो वेटेरंस होंगे, जिन्होंने चरण वंदना में ख़ुद ही अपनी रीढ़ की हड्डी गँवा दी!

गौरतलब है कि अग्निपथ भर्ती योजना' के तहत युवाओं को चार साल की अवधि के लिए सेना में शामिल होने का मौका मिलेगा। साढ़े 17 साल से 21 साल के युवा लड़के और लड़कियां इसके लिए पात्र होंगे।  इसके लिए 10वीं से लेकर 12वीं तक के छात्र आवेदन कर सकेंगे। इसकी शुरुआत 90 दिन के भीतर हो जाएगी। इस साल 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। पहली भर्ती प्रक्रिया में युवाओं को छह महीने की ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग का समय भी चार साल में शामिल होगा। 

हर अग्निवीर को भर्ती के साल 30 हजार महीने तनख्वाह मिलेगी। दूसरे साल अग्निवीर की तनख्वाह बढ़कर 33 हजार, तीसरे साल 36.5 हजार तो चौथे साल 40 हजार रुपये हो जाएगी। 25 फीसदी अग्निवीरों को सेवा विस्तार भी मिलेगा। 


बेरोजगारों के लिए खुशखबरी: डेढ़ साल में मोदी सरकार देगी 10 लाख लोगों को नौकरी

modi-sarar-will-give-jobs-to-10-lakh-people-in-1.5-year

बेरोजगार लोगों के लिए आज केंद्र सरकार ने बढ़िया खुशखबरी सुनाई है. प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने मंगलवार सुबह ट्वीट कर कहा कि मोदी सरकार अगले डेढ़ साल में विभिन्न विभागों और मंत्रालयों में 10 लाख लोगों की भर्ती करेगी। पीएमओ द्वारा किये गए ट्वीट के अनुसार, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी विभागों और मंत्रालयों को मिशन मोड में भर्ती शुरू करने का निर्देश दिया है।

पीएमओ इंडिया के ट्वीट में लिखा है, "पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी विभागों और मंत्रालयों में मानव संसाधन की स्थिति की समीक्षा की और निर्देश दिया कि सरकार अगले 1.5 साल में मिशन मोड में 10 लाख लोगों की भर्ती करे। इण्डिया टीवी के मुताबिक, इससे पहले अप्रैल में, पीएम मोदी ने शीर्ष सरकारी अधिकारियों से मुलाकात की थी और उन्हें विभिन्न सरकारी विभागों में रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया को प्राथमिकता देने के लिए कहा था. फरवरी में राज्यसभा में पेश किए गए सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 1 मार्च, 2020 तक केंद्र सरकार के विभागों में 87 लाख पद खाली थे.

सरकार का काम है कानून-व्यवस्था बनाना, इसके लिए दं'गाईयों को गोली भी मारने का पूर्ण अधिकार है: पूर्व DGP

ex-dgp-dr-nc-asthana-tweet

भाजपा की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा एक टीवी चैनल पर पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ दिए गए बयान के बाद बवाल मचा हुआ है, मुस्लिम समुदाय देश के विभिन्न हिंसों में दंगा-फसाद कर रहा है, हालाँकि भाजपा ने नूपुर को पार्टी से निकाल दिया, दिल्ली पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज कर ली, यही नहीं नूपुर ने माफ़ी भी मांग ली, इसके बावजूद उपद्रवी उपद्रव करने से नहीं बाज आ रहे हैं.

बीते शुक्रवार को जुम्मे की नवाज अदा करने के बाद मुस्लिम समुदाय ने देश के कई राज्यों में हिंसा, आगजनी और पत्थरबाजी की, यूपी के प्रयागराज में भी जमकर आगजनी और पत्थरबाजी हुई, जब ये सब हो रहा था, तब लिबरल मस्त से देख रहे थे, उन्हें कोई तकलीफ नहीं हो रही थी, जब सरकार ने कार्यवाही शुरू की तो लिबरल बिलबिला रहे हैं, पूर्व डीजीपी राकेश अस्थाना ने कहा है कि 'शासन का काम है कानून-व्यवस्था दुरुस्त करना, अगर इसके लिए दं'गाईयों को गोली भी मारने का पूर्ण अधिकार है.

गौरतलब है कि प्रयागराज में जुम्मे की नवाज के बाद हुई हिंसा के बाद सरकार ने कार्यवाही करते हुए आरोपी जावेद मोहम्मद के घर पर बुलडोजर चलवाकर घर को ध्वस्त करवा दिया, सरकार का दावा है कि घर अवैध था, यूपी सरकार की इस कार्यवाही के बाद लिबरल जमकर बिलख रहे हैं, ऐसे लिबरलों के लिए पूर्व आईपीएस अधिकारी डॉ एनसी अस्थाना ने एक ट्वीट किया है.

केरल के डीजीपी रह चुके पूर्व आईपीएस डॉ एनसी अस्थाना ने अपने ट्वीट में लिखा, लिब्बू मुद्दे से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। मुख्य मुद्दा ये है कि दंगाईयों ने दंगा किया। लिब्बुओं को शासन की कार्यवाही से शिकायत है तो कोर्ट जायें। लेकिन कानून व्यवस्था बनाये रखना शासन की प्रतिबद्धता है और उसके लिये शासन को दंगाईयों को गोली भी मार देने का पूर्ण अधिकार है।

3 घंटे तक चली पूछताछ, ED दफ्तर से निकलते ही सीधा अस्पताल पहुंचे राहुल गांधी

ed-questioned-rahul-gandhi-for-3-hours-in-national-herald-case

नेशनल हेरॉल्ड केस में प्रवर्तन निदेशालय ( ED ) ने आज कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को पूछताछ के लिए बुलाया था, राहुल गांधी ED दफ्तर पहुंचे, एजेंसी के तीन सीनियर अधिकारियों ने लगवा सवा 3 घंटे राहुल गांधी से पूछताछ की, पूछताछ के बाद राहुल गांधी ईडी कार्यालय से निकले और सीधा गंगाराम अस्पताल पहुंचे, इस अस्पताल में राहुल गांधी की माँ सोनिया गांधी एडमिट हैं, माँ से मुलाक़ात करने के बाद राहुल गांधी एकबार फिर ईडी दफ्तर पहुँच गए हैं, जानकारी के अनुसार, ईडी राहुल गांधी से अभी कई घंटे और पूछताछ करेगी। 23 जून को सोनिया गांधी को भी पेश होना है ED के सामने इसी केस में.

आपको बता दें कि ईडी की कार्यवाही के विरुद्ध आज दिल्ली में कांग्रेस नेताओं ने प्रदर्शन किया, कई कांग्रेसी नेताओं को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में भी लिया, लेकिन बाद में सबको छोड़ दिया गया. राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने कहा, ED और अन्य केंद्रीय एजेंसियों के ऊपर गृह मंत्रालय की तरफ़ से बहुत ज़्यादा दबाव होता है। इन्होंने ये हालात बहुत खतरनाक बना रखे हैं। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, नेशनल हेराल्ड मामला फर्जी है सिर्फ परेशान करने के लिए सबको ED ऑफिस बुलाया जा रहा है।

आपको बता दें कि नेशनल हेराल्ड एक अख़बार था, एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) द्वारा प्रकाशित किया गया था और आजादी के बाद कांग्रेस पार्टी का मुखपत्र बन गया। हालांकि, 2008 में 90 करोड़ रुपये से अधिक के बकाया कर्ज के साथ पेपर को बंद कर दिया गया था। नेशनल हेराल्ड का मामला तब सामने आया जब बीजेपी के पूर्व सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर जमीन हड़पने और हजारों करोड़ रुपये के फंड की हेराफेरी का आरोप लगाते हुए दिल्ली हाई कोर्ट में केस दायर किया।

रणदीप सुरजेवाला कर बैठे बड़ी गलती, सोशल मीडिया पर हो रही जमकर फजीहत

randeep-surjewala-news-in-hindi

अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक ऐसी गलती कर दी है कि अब सोशल मीडिया पर उनकी जमकर फजीहत हो रही है, मीडिया के सामने रणदीप सुरजेवाला ने सीता मैया के चीरहरण होने की बात कह डाली, जबकि चीरहरण महाभारत में द्रौपदी का हुआ था, सुरजेवाला ने जानकारी के अभाव में ऐसा बोला या उनकी जुबान फिसल गई, ये तो वही बता सकते हैं लेकिन अभी तक उन्होंने कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है.

सुरजेवाला की 'चीर हरण' टिप्पणी तब आई जब वह ईडी, सीबीआई और आयकर विभाग जैसी लोकतांत्रिक संस्थाओं और जांच एजेंसियों को बदनाम करने के लिए केंद्र सरकार की आलोचना कर रहे थे। सुरजेवाला ने दावा किया कि केंद्र ऐसे सभी संस्थानों के महत्व को मिटा रहा है।

राज्यसभा चुनाव से पहले रणदीप सुरजेवाला ने एक प्रेस-कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, जैसे सीता मैया का हुआ था चीरहरण, वैसे ही वह अब प्रजातंत्र का चीरहरण भाजपा वाले करना चाहते हैं..आपको बता दें कि कांग्रेस पार्टी रणदीप सुरजेवाला को राजस्थान से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया है, सुरजेवाला की जीत तय है.

कटटर'पंथियों से बोलीं रुबिका लियाकत, हिन्दू देवी-देवताओं की इज्जत करो, तभी इज्जत पाओगे

rubika-liyaquat-news-in-hindi

भाजपा प्रवक्ता रहीं नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी करने के बाद कुछ खाड़ी देश नाराज हैं और कथित तौर पर भारतीय सामानों का बायकॉट कर रहे हैं. खाड़ी देशों में भारतीय सामानों के बॉयकॉट की खबर सुनकर भारत का एक वर्ग बहुत खुश है, ऐसे लोगों को पत्रकार रुबिका लियाकत ने करारा जवाब दिया है, रुबिका ने कहा, हैरानी होती है उनपर जो अरब देशों में हिंदुस्तान के सामानों पर बैन को अपनी जीत मान रहे हैं.

हर मुद्दे पर बेबाक बात रखने के लिए विख्यात एबीपी न्यूज़ की सीनियर एंकर रुबिका लियाकत ने अपने ट्वीट में लिखा, हैरानी होती है उनपर जो अरब देशों में हिंदुस्तान के सामानों पर बैन को अपनी जीत मान रहे हैं.. नुक़सान दोनों का है किसी एक का नहीं। हुज़ूर की शान में ग़ुस्ताख़ी न-बर्दाश्त-ए-काबिल है लेकिन यही भावना हिंदुओं के भगवानों पर लागू क्यों नहीं..इज़्ज़त देंगे तब पाएँगे भी। बात कड़वी लगेगी। 

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में हाल में मिले शिवलिंग को कुछ लोगों ने फव्वारा बताकर अपमान किया, ये वही लोग हैं जो नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल की टिप्पणी पर कार्यवाही की मांग कर रहे हैं.

गौरतलब है कि पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी करने पर भाजपा ने नूपुर शर्मा को 6 साल के लिए सस्पेंड कर दिया जबकि नवीन जिंदल को पार्टी से निकाल दिया। हालाँकि भाजपा के इस फैसले का पार्टी के ही कुछ नेता अप्रत्यक्ष तौर पर विरोध भी कर रहे हैं.

जिन्हें खुश करने के लिए भाजपा ने नूपुर शर्मा को सस्पेंड किया, वो कभी BJP को वोट नहीं देंगे: अशोक पंडित

ashoke-pandit-tweeted-on-nupur-sharma-suspention

तेजतर्रार प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन कुमार जिंदल को भाजपा ने पार्टी से निकाल दिया गया है, बताया जा रहा है कि इन दोनों नेताओं ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी की थी, जिसके चलते भाजपा ने इन्हें पार्टी से निष्काषित कर दिया। भाजपा की इस कार्यवाही का पार्टी के अंदर ही कुछ नेता विरोध कर रहे हैं, सोशल मीडिया पर #ShameonBJP टॉप ट्रेंड हो रहा है. फिल्ममेकर अशोक पंडित ने ट्वीट कर कहा, भाजपा चाहे जो कर ले, दुश्मन कभी वोट नहीं देंगे।

भाजपा द्वारा नूपुर शर्मा को सस्पेंड किये जाने के बाद फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने कहा, नूपुर शर्मा को पार्टी से निकाल कर भाजपा किसे ख़ुश करना चाहती है? भाजपा के दुश्मन फिर भी इनसे ख़ुश नहीं होंगे और ज़िंदगी भर वोट नहीं देंगे! आज लाखों भाजपा के कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ दिया है ! आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर इस समय भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की जमकर किरकिरी हो रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, नूपुर शर्मा ने एक टीवी न्यूज़ चैनल पर पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी की थी, इस टिप्पणी के बाद नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकी मिल चुकी है, और अब भाजपा उन्हें पार्टी से भी सस्पेंड कर चुकी है.

अब कुछ ऐसा हो गया कि मोदी से नाराज हो गए कांग्रेसी

ed-sent-summon-to-sonia-and-rahul-gandhi

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी और राहुल गांधी को समन भेजा है, ED द्वारा समन भेजे जाने के बाद कांग्रेस मोदी से नाराज हो गए हैं, सुरजेवाला ने तो मोदी सरकार को तानाशाह तक बता दिया। सुरजेवाला ने पुष्टि की कि सोनिया गांधी और सांसद राहुल गांधी को नेशनल हेराल्ड मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने नोटिस जारी कर एजेंसी के सामने पेश होने को कहा है. गौरतलब है कि मामला 2011-12 के नेशनल हेराल्ड मामले में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों से जुड़ा है।

सोनिया गांधी को 8 जून को ईडी के सामने पेश होने के लिए कहा गया है। हालांकि, राहुल गांधी ने और समय मांगा है क्योंकि वह इस समय विदेशों में घूम रहे हैं. मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए सुरजेवाला ने कहा, "हर बार नेशनल हेराल्ड को निशाना बनाकर, भाजपा ने स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है उन्होंने यह भी कहा कि 1942 में नेशनल हेराल्ड अखबार की शुरुआत हुई थी। रणदीप सुरजेवाला ने कहा, "उस समय अंग्रेजों ने इसे दबाने की कोशिश की थी। आज मोदी सरकार ईडी का इस्तेमाल कर रही है।" सुरजेवाला ने कहा, “मनी लॉन्ड्रिंग का कोई मामला नहीं होने पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया गया है। यह कदम प्रतिशोध, भय और राजनीतिक घटियापन का प्रतीक है।

आपको बता दें कि नेशनल हेराल्ड एक अख़बार था, एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) द्वारा प्रकाशित किया गया था और आजादी के बाद कांग्रेस पार्टी का मुखपत्र बन गया। हालांकि, 2008 में 90 करोड़ रुपये से अधिक के बकाया कर्ज के साथ पेपर को बंद कर दिया गया था। नेशनल हेराल्ड का मामला तब सामने आया जब बीजेपी के पूर्व सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर जमीन हड़पने और हजारों करोड़ रुपये के फंड की हेराफेरी का आरोप लगाते हुए दिल्ली हाई कोर्ट में केस दायर किया।

10 करोड़ किसानों के खातों में पहुंचे 21 हजार करोड़, PM मोदी ने जारी की किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त

kisan-samman-nidhi-21-hajar-crore

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश के शिमला में 'गरीब कल्याण सम्मेलन' को संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के आठ वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में यह अनूठा सार्वजनिक कार्यक्रम देश भर में राज्यों की राजधानियों, जिला मुख्यालयों और कृषि विज्ञान केंद्रों में आयोजित किया जा रहा है। इस सम्मेलन की अवधारणा देश भर में चुने हुए जनप्रतिनिधियों को सरकार द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न कल्याणकारी कार्यक्रमों के बारे में प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए जनता के साथ सीधे बातचीत करना है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत वित्तीय लाभ की 11वीं किस्त भी जारी की। इससे 10 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसान परिवारों को करीब 21,000 करोड़ की राशि ट्रांसफर हो सकेगी। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने देश भर के (पीएम-किसान) के लाभार्थियों से भी बातचीत की। शिमला में इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल श्री राजेन्द्र अर्लेकर, हिमाचल के मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर और केन्द्रीय मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर उपस्थित थे।

सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने इस महत्वपूर्ण अवसर पर हिमाचल में उपस्थित होने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने किसानों को बधाई और शुभकामनाएं दीं क्योंकि पीएम किसान योजना के माध्यम से 10 करोड़ से अधिक किसानों को उनके बैंक खातों में पैसा मिला है। प्रधानमंत्री ने संतोष व्यक्त किया कि उन्होंने अपनी सरकार के 8 वर्ष पूरे होने के अवसर पर पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना के तहत लाभ जारी किए। उन्होंने शिमला से देशभर में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत वित्तीय लाभ जारी करने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने देश के 130 करोड़ नागरिकों की सेवा करने का अवसर देने के लिए लोगों को धन्यवाद दिया।

TV पर चीख-चीखकर कांग्रेस का पक्ष रखने वाले पवन खेड़ा को पार्टी ने दिखाया ठेंगा, बोले- मेरी तपस्या में कमी रह गई

Congress-did-not-send-Pawan-Khera-to-Rajya-Sabha

कांग्रेस पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए 10 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी, लिस्ट जारी होने के बाद पार्टी के कई नेताओं की नाराजगी सामने आई है, जिसमें पवन खेड़ा और नगमा शामिल हैं। कांग्रेस ने रविवार को आगामी राज्यसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा की, छत्तीसगढ़ से राजीव शुक्ला और रंजीत राजन, हरियाणा से अजय माकन और कर्नाटक से जयराम रमेश को मैदान में उतारा। अन्य प्रमुख नामों में राजस्थान से रणदीप सिंह सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी शामिल थे, जबकि विवेक तन्खा को मध्य प्रदेश से मैदान में उतारा गया है. लिस्ट में सबसे ज्यादा चौंकाने वाला नाम इमरान प्रतापगढ़ी का है. पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को तमिलनाडु से पार्टी का उम्मीदवार बनाया गया है।

कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवारों के नाम सामने आने के बाद कांग्रेस के तेजतर्रार प्रवक्ता पवन खेड़ा काफी दुःखी हैं, उनका दर्द उनके ट्वीट में झलक रहा है, पवन खेड़ा ने ट्वीट कर कहा, ‘शायद मेरी तपस्या में कुछ कमी रह गई..पवन खेड़ा कांग्रेस के वो प्रवक्ता हैं जो हर मुद्दे पर जोरदार तरीक़े से पार्टी का पक्ष रखते हैं, उन्हें उम्मीद थी कि राज्यसभा का टिकट देकर पार्टी उन्हें ईनाम देगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

इसी तरह कांग्रेस नेत्री नगमा ने ट्वीट कर कहा, हमारी भी 18 साल की तपस्या कम पड़ गई इमरान भाई के आगे। आपको बता दें कि इमरान प्रतापगढ़ी को कांग्रेस ने महाराष्ट्र से उम्मीदवार बनाया है, मूलरूप से यूपी के प्रतापगढ़ से आने वाले इमरान का नाम घोषित होने के बाद कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं में नाराजगी देखने को मिल रही है.


लद्दाख में सेना की जो गाड़ी नदी में गिरी, उसका ड्राइवर स्थानीय कश्मीरी अहमद शाह था, FIR दर्ज

accident-in-ladakh-7-indian-army-jawan-killed

लद्दाख के तुरतुक सेक्टर में शुक्रवार को एक वाहन सड़क से श्योक नदी में गिर गया, जिसमें सात सैनिकों की मृत्यु हो गई और 19 सैनिक घायल हैं. हादसा थोइस से करीब 25 किलोमीटर दूर सुबह नौ बजे हुआ। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़, किराए के वाहन से 26 सैनिक परतापुर में ट्रांजिट कैंप से जा रहे थे, इसी दौरान वाहन सड़क से श्योक नदी में गिर गया, जिसकी गहराई लगभग 50-60 फीट है. नदी में वाहन गिरने से सभी घायल हो गए, जिसमें से सात सैनिकों की मृत्यु हो गई.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस वाहन का ड्राइवर स्थानीय कश्मीरी अहमद शाह था, लापरवाही से गाड़ी चलाने के मामले में ड्राइवर अहमद शाह पर एफआईआर दर्ज हो गई है. नुब्रा पुलिस स्टेशन में अहमद शाह पर आईपीसी की धारा 279, 337 और 304-ए के तहत एफआईआर दर्ज हुई है. यह एफआईआर सेना की शिकायत पर दर्ज की गई है. ऑपइण्डिया के मुताबिक़, वाहन नदी में गिरने से कुछ सेकंड पहले ड्राइवर अहमद शाह गाड़ी से कूद गया था और वह ज़िंदा बच गया है. नुब्रा के एसएचओ इंस्पेक्टर स्टेनज़िन दोरजे ने कहा, "प्रथम दृष्टया, यह ड्राइवर की लापरवाही का मामला प्रतीत होता है।

भारतीय सेना ने लेह पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से बचाव अभियान चलाया। शुरुआत में जवानों को परतापुर के 403 फील्ड अस्पताल ले जाया गया। सर्जिकल टीमों को लेह से परतापुर लाया गया। बाद में, जिन 19 सैनिकों को चोटें आई थीं, उन्हें चंडी मंदिर (चंडीगढ़) के वेस्टर्न कमांड अस्पताल ले जाया गया। सभी की स्थिति फिलहाल स्थिर है।

BJP का एजेंडा हिंदुत्व है, UP में 403 सीटें हैं लेकिन एक भी टिकट अल्पसंख्यकों को नहीं दिया: गहलोत

ashok-gehlot-statement-on-chintan-civir

राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस का तीन दिवसीय चिंतन शिविर समाप्त होने के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि 'पार्टी में एक कॉमन मांग है कि राहुल गांधी पार्टी की कमान संभालें, एक आदमी को छोड़कर सभी ने कहा कि राहुल गांधी ही कांग्रेस अध्यक्ष बनें।

भाजपा पर निशाना साधते हुए सीएम गहलोत ने कहा, भाजपा का एजेंडा हिंदुत्व है, ये अल्पसंख्यकों को चुनाव में टिकट नहीं देते। यूपी विधानसभा चुनाव का उदाहरण देते हुए गहलोत ने कहा, इनका ( भाजपा ) एजेंडा हिन्दुत्व का है, उसके कारण दंगे करवा रहे हैं। ध्रुवीकरण कर रहे हैं चुनाव में। दुनिया क्या सोचती होगी उ.प्र. के बारे में कि चुनाव के दौरान 403 टिकटों में से एक टिकट भी अल्पसंख्यकों को भाजपा नहीं दे रही। दुनिया में क्या संदेश जा रहा है.

इसके अलावा गहलोत ने कहा, 3 दिन का जो कैंप हुआ है, इसमें जो गंभीरता और रूचि दिखाई गई है, जो फैसले हुए हैं उससे लगता है कि ये नए सिरे से लागू होंगे और कांग्रेस एक मज़बूत पार्टी के रूप में और मज़बूत होगी।

तेजी से बढ़ती जा रही Faridabad News की लोकप्रियता

faridabad-news-channel-popularity-grown
 
Faridabad: Faridabad News is a media service provider in Delhi & NCR started by Journalist Dharmendra Pratap Singh. Faridabad News is very famous channel on Facebook, YouTube, Instagram and Twitter. It provide video and article contents in Hindi Language. 

This news channel had been started in 2016 and since then digital revolution started in Faridabad and Delhi NCR and many similar news channel created by many journalists.