Showing posts with label State. Show all posts

जहांगीरपुरी में बुलडोजर चलने के बाद भाजपा प्रवक्ता ने JCB का बताया ऐसा फुलफार्म कि बवाल....

jvl-narsimha-rao-tweeted-jcb-fullform

उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा आज जहांगीरपुरी में अवैध अतिक्रमण पर बुलडोजर चलाने के बाद भाजपा सांसद व् पार्टी प्रवक्ता नरसिम्हा राव ने JCB का ऐसा फुलफॉर्म  बताया कि बवाल मच गया है, राव ने ट्विटर पर जेसीबी का फुलफॉर्म 'जिहाद नियंत्रण बोर्ड' करार दिया। उन्होंने अपने ट्वीट में जेसीबी की तस्वीर के साथ "जेसीबी = जिहाद कंट्रोल बोर्ड #बुलडोजरबाबा" लिखा। नरसिम्हा राव के इस ट्वीट का विपक्ष खूब विरोध कर रहा है.

गौरतलब है कि बुधवार को, जहांगीरपुरी में नगर-निगम के बुलडोजरों ने अवैध दुकानों और घरों को ध्वस्त कर दिया। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने विध्वंस अभियान को रोक दिया और मामले को गुरुवार को सुनवाई के लिए स्थगित कर दिया। सुप्रीम कोर्ट द्वारा रोक लगाए जानें के बावजूद करीब डेढ़ घंटे तक तोड़फोड़ का अभियान चलता रहा। हालाँकि अब पुलिस ने पुष्टि की है कि जहांगीरपुरी में बुलडोजर कार्यवाही रोक दी गई है। 

जहांगीरपुरी पहुँची माकपा नेता वृंदा करात ने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने सुबह 10:45 पर अतिक्रमण विरोधी अभियान पर यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया था। जो बुलडोजर यहां कानून की धज्जियां उड़ा रहा है और सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां उड़ा रहा है मैं उसे रोकने यहां आई हूं.जहांगीरपुरी के लोगों से मैं इतना ही कहूंगी कि सभी लोग सद्भाव और शांति बनाए रखें, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक यहां बुलडोजर रूक चुका है। सुप्रीम कोर्ट के अगले आदेश का इंतजार करें।

मुझे हर साल 50 हजार करोड़ रुपये दीजिये मोदीजी, पंजाब की हालत बहुत खस्ता है: AAP CM भगवंत मान

 bhagwant-mann-demand-rs-50000-crore-to-pm-narendra-modi

दिल्ली, 26 मार्च: पंजाब के नए मुख्यमंत्री भगवंत मान और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाक़ात की चर्चाएं गरम हैं और उससे भी अधिक चर्चाएं भगवंत मान की मांगों की हो रही है.

नए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पहली ही बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पंजाब के लिए हर साल 50 हजार करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज की मांग कर डाली है। 

भगवंत मान ने पंजाब की हालत को बहुत खस्ता बताया है। आर्थिक हालत सुधारने के लिए केंद्र सरकार से हर साल 50 हजार करोड़ रुपये का पैकेज माँगा जा रहा है।
लोग आम आदमी पार्टी से सवाल पूछ रहे हैं कि जब पंजाब की हालत इतनी खस्ता है तो आपने करीब 1 करोड़ महिलाओं को हर महीनें 1000-1000 हजार रुपये देने के वादे कैसे कर लिए। इस वादे को पूरा करने के लिए हर साल करीब 12 हजार करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी। अगर केंद्र सरकार ने आर्थिक पैकेज नहीं दिया तो यह वादा कैसे पूरा होगा। 

लोग यह भी कह रहे हैं कि जब पंजाब की आर्थिक हालत इतनी खस्ता है तो 300 यूनिट बिजली फ्री करने का वादा क्यों किया। इससे तो पंजाब की हालत और खराब हो जाएगी। यही नहीं पंजाब की आप की सरकार करीब 35000 कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का भी वादा कर रही है। जब पंजाब की हालत इतनी खस्ता है तो इनकी सैलरी और अन्य सुविधाएं कैसे दी जाएंगी। 

इसी तरह आम आदमी पार्टी ने पंजाब की जनता से अनगिनत वादे किये हैं जिसे पूरा करना भगवंत मान के लिए बहुत भारी पड़ने वाला है क्योंकि पंजाब पहले से ही कर्ज में डूबा पड़ा है। 

भाजपा को आप पार्टी के खिलाफ एक मुद्दा भी मिल गया है। लोग कह रहे हैं कि आम आदमी पार्टी एक भी वादा पूरा नहीं कर पाएगी और पंजाब की जनता को अपने फैसले पर पछतावा जरूर होगा। 

अचानक दुल्हन के कमरे में घुस गई बिहार पुलिस, वजह जानकर हैरान रह गए लोग: देखें वीडियो


दुल्हन और उसके परिवार वाले उस वक्त दंग रहे गए जब कमरे में कुछ पुलिसकर्मीं घुसे और तलाशी लेने लगे, यह मामला बिहार का है, दरअसल बिहार में  शराबबंदी है. लेकिन चोरी-चुपके राज्य में शराब की बिक्री होती है, इसी की आड़ में जहरीली शराब की भी बिक्री होती है, आये दिन बिहार में जहरीली शराब पीने वालों की मृत्यु होती रहती है.

बिहार में अब शराब पीने और बेचने वालों के खिलाफ सघन अभियान चलाया जा रहा है. घर-घर शराब तलाशी जा रही है, इसी कड़ी में बिहार पुलिस पुलिस ने शराब की तलाश में दुल्हन के कमरे में घुस गई.

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट किया है. इसमें पुलिस बिना महिला सिपाही के दुल्हन के कमरे में जाकर तलाशी अभियान चला रही है और उसके कपड़ों तक की तलाशी लेती दिख रही है.

यह वीडियो एक होटल या घर का है, जहां किसी लड़की की शादी है. ऐसे में पुलिस अचानक शराबबंदी के तहत रेड मारती है और सभी कमरों की तलाशी लेती दिख रही है. इस बीच एक पुलिस अधिकारी दुल्हन के कमरे की जांच करता भी दिख रहा है. वीडियो में कोई महिला पुलिस दिखाई नहीं दे रही है. हालांकि, दुल्हन के रिश्तेदार वीडियो में दिखाई दे रहे हैं. 

वीडियो शेयर करते हुए राबड़ी देवी ने अपने ट्वीट में लिखा, बिहार पुलिस शराबबंदी के नाम पर बिना महिला पुलिसकर्मियों के दुल्हन के कमरों और कपड़ों की तलाशी ले रही है। यह निजता के अधिकार का उल्लंघन है। बिहार में शराब कैसे व क्यों पहुँच रही है,कौन पहुँचा रहा है? उसकी जाँच और खोजबीन नहीं लेकिन उल्टा सनकी सरकार महिलाओं को ही परेशान कर रही है? अब लोग शादी करें या तानाशाह की सनक मिटाए। बिहार पुलिस, शराब माफिया और सरकार के गठजोड़ से ये खुद शराब मँगवाते, बेचते और बिकवाते है। उस पर कारवाई ना करने की बजाय आम नागरिकों को परेशान करना, उनकी निजता का उल्लंघन कर उनके निजी जीवन में अतिक्रमण करना कौन सा क़ानून है? CM जवाब दें।

भारत में ही हैं, महाराष्ट्र पुलिस से लग रहा डर, सुप्रीम कोर्ट में बोले परमबीर सिंह के वकील


सुप्रीम कोर्ट में आज मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की याचिका पर सुनवाई हुई, सुप्रीम कोर्ट में परमबीर के वकील पुनीत बाली ने स्पष्ट किया कि 'परमबीर सिंह भारत में ही हैं, लेकिन मुंबई पुलिस से डर लग रहा है, इसलिए सामने नहीं आ रहे हैं, उल्लेखनीय है कि परमबीर के देश छोड़कर भाग जाने की आशंका जताई गई है.

सुप्रीम कोर्ट ने फ़िलहाल परमबीर सिंह की गिरफ़्तारी पर रोक लगा दी है, कोर्ट ने परमबीर के खिलाफ सभी मुकदमों को रद्द करने या सीबीआई को ट्रांसफर करने की मांग पर नोटिस जारी किया. साथ ही, उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है. कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई 6 दिसंबर को होगी. तब तक कोर्ट ने परमबीर से जांच में सहयोग करने के लिए कहा है.

18 नवंबर को हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने परमबीर सिंह की याचिका पर सुनवाई से मना कर दिया था, जज साहब ने उनके वकील से पूछा था, "सबसे पहले हमें यह बताइए कि वह कहां हैं? देश में हैं या बाहर फरार हो गए हैं? इस जानकारी के बिना मामले पर सुनवाई नहीं हो सकती। आज सुनवाई शुरू होते ही पूर्व पुलिस कमिश्नर के लिए पेश वरिष्ठ वकील पुनीत बाली ने जजों को बताया, "मेरी उनसे खुद बात हुई है. वह भारत में ही हैं. लेकिन महाराष्ट्र में कदम रखते ही उन्हें खतरा है. इसलिए सामने नहीं आ रहे हैं. 

परमबीर सिंह आखिरी बार इस साल मई में अपने कार्यालय में आए थे जिसके बाद वे छुट्टी पर चले गए थे। राज्य पुलिस ने पिछले महीने बॉम्बे हाईकोर्ट को बताया था कि उनके ठिकाने का पता नहीं है।

हरियाणा सरकार के डीपीआरओ के फैक्ट चेक में झूठी निकली यह खबर


हरियाणा 21 नवंबर: सोशल मीडिया पर कई दिनों से एक अफवाह चल रही है कि हरियाणा सरकार ने रोडवेज बसों की रंग को बदल कर लाल कर दिया है, हरियाणा सरकार के डीपीआरओ विभाग ने एक फैक्ट चेक किया जिसमें खबर पूरी तरह झूठ पाई गई.

डीपीआरओ ने कहा है कि हरियाणा सरकार ने रोडवेज की बसों का रंग लाल नहीं किया है और जो अफवाह फैलाई जा रही है उसमें दिख रही बस की फोटो डीलक्स बस की है जिसका रंग पहले से ही लाल है.

एक खबरों को देखते हुए डीपीआरओ विभाग ने एक फैक्ट चेक ट्विटर हैंडल जारी किया है जिस पर फेक खबरों और फोटो को भेजने के लिए कहा गया है ताकि फैक्ट चेक करके उसकी सच्चाई जनता को बताई जा सके.