Showing posts with label States. Show all posts

दिवंगत CDS जनरल बिपिन रावत के भाई कर्नल (सेवानिवृत्त) विजय रावत भाजपा में शामिल हुए

दिवंगत सीडीएस बिपिन रावत के भाई कर्नल (सेवानिवृत्त) विजय रावत बुधवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात के बाद विजय रावत भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए.

उत्तराखंड के सीएम से मुलाकात करते हुए, विजय रावत ने कहा: "मुझे राज्य के लिए उत्तराखंड के सीएम का विजन पसंद है। यह मेरे भाई के दिमाग में जो कुछ भी था, उससे मेल खाता है। बीजेपी की भी यही मानसिकता है।"समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि जब रावत से पूछा गया कि क्या वह भाजपा में शामिल होंगे, तो उन्होंने कहा: "अगर वे मुझसे पूछते हैं, तो मैं उत्तराखंड के लोगों की सेवा करूंगा।"

उत्तराखण्ड भाजपा ने ट्वीट कर कहा, देश के प्रथम सीडीएस जनरल स्व. बिपिन रावत जी के भाई कर्नल विजय सिंह रावत जी ने आज दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। राष्ट्रवाद व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के विचारों से प्रभावित होकर उन्होंने भाजपा में शामिल होकर उत्तराखंड की सेवा का संकल्प लिया।

अब शुरू हुई सपा में भगदड़, मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव भाजपा में शामिल

हाल ही में भाजपा के कई नेताओं और मंत्रियों ने समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया था, अब भाजपा ने मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव को भाजपा में शामिल करा के ईंट का जवाब पत्थर से दिया है, बताया जा रहा है कि अभी सपा के कई और बड़े नेता भाजपा में शामिल होंगे। अपर्णा यादव से शुरुवात हो चुकी है. दिल्ली में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या की मौजूदगी में अपर्णा ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की.

अपर्णा यादव ने साल 2017 में लखनऊ की कैंट सीट से विधान सभा का चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें भाजपा प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी   से हार का सामना करना पड़ा था. साल 2017 के चुनाव में अखिलेश यादव ने भी अपर्णा के लिए प्रचार किया था. अपर्णा यादव सपा के पूर्व अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना यादव के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं. 

भाजपा की योगी सरकार के तमाम मंत्रियों और विधायकों के सपा में शामिल होने से हुए सियासी नुकसान की भरपाई के लिए भाजपा ने सपा प्रमुख के घर में सेंधमारी करने की कोशिश के तहत अपर्णा को पार्टी में शामिल करने की पहल की है।

पंजाब: AAP का CM चेहरा घोषित होने के बाद बोले भगवंत मान, कांग्रेसी आपस में लड़ रहे, सरकार..?

पंजाब विधानसभा चुनाव के ठीक पहले आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल ने भगवंत मान को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित किया है, सीएम का चेहरा घोषित होने के बाद आप नेता भगवंत मान ने इंडिया टुडे से बात की और मौजूदा कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा। मान ने कहा, लोगों द्वारा उन पर विश्वास करने के बाद उनकी जिम्मेदारी और प्रेरणा की भावना दोगुनी हो गई है।

मंगलवार को AAP के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की कि पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए संगरूर के सांसद भगवंत मान पार्टी के सीएम चेहरा होंगे। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दो दिन पहले आप द्वारा जारी किए गए 'पिक-योर-सीएम-कैंडीडेट' फोन नंबर पर भेजे गए फोन कॉल और टेक्स्ट मैसेज पर लाखों लोगों ने भगवंत मान को वोट दिया था, जिसके बाद पार्टी इस फैसले पर पहुंची। 90 फीसदी से ज्यादा लोगों ने मान के लिए अपनी पसंद जाहिर की.

भगवंत मान ने इंडिया टुडे से कहा, मैं बहुत भाग्यशाली महसूस करता हूं। लोगों ने मुझ पर भरोसा किया है और यही सबसे बड़ी बात है। मेरी जिम्मेदारी और प्रेरणा की भावना दोगुनी हो गई है, उन्होंने कहा, 'पंजाब के लोगों को आम आदमी पार्टी पर भरोसा है। हम जहां भी जाते हैं, वे कहते हैं, 'आप सत्ता में आ जाएं और सब कुछ संभाल लिया जाएगा।'

कांग्रेस और भाजपा-अकाली पर निशाना साधते हुए भगवंत मान ने कहा, “पंजाब भारत में नंबर 1 राज्य हुआ करता था। अब, सभी मानकों पर अब यह 26वां या 27वां है। पिछले दस वर्षों में, अकाली दल-भाजपा और कांग्रेस ने राज्य को बर्बाद कर दिया है। माफिया राज है और युवा कनाडा और न्यूजीलैंड की ओर भाग रहे हैं क्योंकि उन्हें यहां कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही है। लेकिन आप ने एक नई उम्मीद जगाई है। हम काम करेंगे, रोजगार देंगे, अच्छे स्कूल और अस्पताल बनाएंगे। हमारा राज्य एक सीमावर्ती राज्य है और एक मजबूत सरकार की जरूरत है।”

भगवंत मान ने कहा, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पिछली बार बड़े वादे किए थे और लोगों ने उन पर विश्वास किया। उन्होंने उनका दिल तोड़ा, वे अब कांग्रेस से खफा हैं। कांग्रेस अब आपस में लड़ती रहती है और उन्होंने सीएम उम्मीदवार का ऐलान भी नहीं किया है. उन्होंने सर्कस की तरह अपनी सरकार चलाई है।

सिद्धू को बड़ा झटका, पंजाब में चन्नी ही होंगे मुख्यमंत्री का चेहरा, कांग्रेस ने वीडियो ट्वीट कर...

पंजाब का मुख्यमंत्री बनने का सपना देख रहे नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस ने बड़ा झटका दिया है, कांग्रेस पार्टी द्वारा ट्विटर पर पोस्ट किए गए 36 सेकेंड के वीडियो में सबकुछ स्पष्ट हो चुका है कि पंजाब में कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री का चेहरा कौन होगा। वीडियो में सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को बेहतरीन मुख्यमंत्री दर्शाया गया है. अटकलें लगाई जा रही हैं कि पार्टी ने चन्नी को अनौपचारिक रूप से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में घोषित कर दिया है..

आपको बता दें कि सीएम चन्नी और पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू दोनों ने कहा कि पार्टी को मुख्यमंत्री के चेहरे के साथ चुनाव मैदान में उतरना चाहिए। हालांकि, कांग्रेस आलाकमान शीर्ष पद के लिए अपनी पंजाब इकाई में नेताओं के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा के कारण अपना रुख स्पष्ट करने से कतरा रहा है।

वीडियो का शीर्षक है:  बोल रहा पंजाब, अब पंजे के साथ- मजबूत करेंगे हर हाथ। इसमें अभिनेता सोनू सूद हैं, जिन्हें एक आदर्श मुख्यमंत्री के गुणों के बारे में बात करते देखा जा सकता है। वीडियो में सिर्फ सीएम चरणजीत सिंह चन्नी की क्लिप्स हैं, वीडियो में पंजाब कांग्रेस का कोई अन्य नेता नहीं दिख रहा है। नीचे देखिये पूरा वीडियो।

यूपी चुनाव: राकेश टिकैत बोले- योगी का चुनाव जीतना जरुरी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है, भारतीय जनता पार्टी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर शहर से मैदान में उतारने का फैसला किया है। इसको लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने तंज कसते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर से चुनाव जीतना चाहिए, इससे उत्तर प्रदेश में विपक्ष भी मजबूत होगा।

राकेश टिकैत ने कहा, ”विपक्ष को मजबूत रहना चाहिए, वो अपनी आवाज हाउस में उठाएंगे। योगी जी वहां (गोरखपुर) से चुनाव लड़ रहे हैं, उनको वहां से जीतना चाहिए।” उन्होंने कहा कि यूनियन के नेता किसी के यहां नहीं जा रहे हैं और हमारे यहां जो भी आ रहा है उन सभी का स्वागत है। 

राकेश टिकैत ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति आपके घर आता है तो यही कहा जाता है कि हम आपके साथ हैं। हम किसी को नहीं बोल रहे कि आप किसको वोट करें। आरएलडी-सपा को समर्थन देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम किसी को भी समर्थन नहीं दे रहे हैं।

किसान आंदोलन को लेकर पश्चिमी यूपी में सियासत गरमाई हुई है। वहीं, चुनाव को लेकर राकेश टिकैत कहते रहे हैं कि वे किसी भी दल के लिए प्रचार नहीं करेंगे और उनका चुनाव से कोई लेना नहीं है। 

UP चुनाव: कई घाट पर गए अमित जानी, कहीं नहीं मिला पानी, शिवपाल यादव के बाद कांग्रेस ने ठुकराया

हिंदूवादी और राष्ट्रवादी नेता के तौर पर छवि बनाने वाले अमित जानी इस समय बहुत मुश्किलों से गुजर रहे हैं, शिवपाल यादव के करीबी अमित जानी को पहले प्रसपा ने धोखा दिया, उसके बाद कांग्रेस ने भी ठुकरा दिया, जी हाँ! इसीलिए ऊपर शीर्षक दिया गया है कि "कई घाट पर गए अमित जानी, नहीं मिला कहीं पानी"

अमित जानी कुछ साल पहले शिवपाल यादव की पार्टी प्रसपा में शामिल हुए थे, पार्टी में शामिल होने के बाद शिवपाल यादव ने अमित जानी को बड़ी जिम्मेदारी देते हुए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी युवजन सभा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया। युवजन सभा की कमान मिलने के बाद अमित जानी ने मेरठ के सिवालखास विधानसभा सीट से चुनाव की तैयारियाँ शुरू कर दी, संभवतः उन्हें शिवपाल ने टिकट देने का भरोसा किया था. 

यूपी विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान से महीनों भर पहले शिवपाल यादव की पार्टी प्रसपा का समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन हो गया, शायद प्रसपा ने अमित जानी को टिकट देने से इनकार कर दिया, इसके बाद आनन-फानन में अमित जानी ने कांग्रेस का तिरंगा ओढ़ लिया, लेकिन कांग्रेस ने यह कहते हुए अमित जानी को अस्वीकार कर दिया कि 'कांग्रेस पार्टी अपनी विचारधारा के प्रति प्रतिबद्ध है. किसी भी उन्मादी, अतिवादी एवं कट्टरपंथी तत्व की कांग्रेस में कोई जगह नहीं है. विचारधारा को तिलांजलि देकर अमित जानी ने कई पार्टियों का रुख किया, लेकिन किसी ने भाव नहीं दिया। अमित जानी 2019 के लोकसभा चुनाव में झारखण्ड के गिरिडीह से चुनाव लड़कर हार चुके हैं.

राजनैतिक पार्टियों द्वारा भाव न दिए जाने के बाद अब अमित जानी ने सिवालखास विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया है, हालाँकि अमित जानी का कहना है कि 'हम प्रसपा सपा गठबंधन से भले ही ना लड़ें लेकिन मरते दम तक चाचा ( शिवपाल यादव ) के साथ रहेंगे।

आपको बता दें कि अमित जानी  2012 में मायावती की मूर्तियों को तोड़ चुकें हैं, राहुल गांधी को काले झंडे दिखा चुके हैं, #YOGI4PM कैंपेन चला चुके हैं,  2017 में UP नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी ने आजम खां को जीभ काटने की चेतावनी दी थी. इसके वाला जेएनयू में देश विरोधी नारेबाजी करने के आरोपी कन्हैया कुमार को भी धमका चुका हैं. 

भाजपा ने मंत्री Harak Singh Rawat को पार्टी से किया निष्कासित, सामने आई यह वजह

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से कुछ हफ्ते पहले, भाजपा ने रविवार को सरकार में मंत्री हरक सिंह रावत को पार्टी से निष्काषित कर दिया। बताया जा रहा है कि हरक सिंह रावत ने एक महीनें से पार्टी के खिलाफ ही मोर्चा खोला था, वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि हरक सिंह रावत अपने बेटे के लिए टिकट मांग रहे थे, जिसपर पार्टी राजी नहीं हुई, इसके बाद से वो पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त हो गए.

भाजपा नेताओं ने कहा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी राज्यपाल को हरक सिंह रावत को मंत्रिमंडल से हटाने के बारे में पत्र लिखा है। उनके अनुसार, भाजपा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए रावत को छह साल के लिए अपनी प्राथमिक सदस्यता से हटा दिया है।

हरक सिंह रावत अपने परिवार के कई सदस्यों के लिए टिकट मांग रहे थे और वह कांग्रेस के संपर्क में भी थे, रावत के भाजपा नेतृत्व से नाखुश होने की खबरें हफ्तों से सामने आ रही थी..हालांकि, पिछले महीने के अंत में, सीएम धामी ने रावत के साथ उनके घर पर रात के खाने के लिए एक तस्वीर ट्वीट की, यह दिखाने का प्रयास किया कि सबकुछ ठीक है..हालाँकि बात नहीं बन सकी. उत्तराखंड में 14 फरवरी को मतदान होगा और 10 मार्च को नतीजे घोषित किये जाएंगे।


भारत की सबसे ईमानदार पार्टी है AAP, हमें मोदी जी ने खुद ईमानदारी का सर्टिफिकेट दिया है: केजरीवाल



दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) 1947 के बाद से देश की सबसे "ईमानदार" पार्टी है, यह दावा करते हुए कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनकी पार्टी को "ईमानदारी का प्रमाण पत्र" दिया है। चुनावी राज्य गोवा में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, अरविंद केजरीवाल ने कहा, "पीएम मोदी ने आप को आजादी के बाद से भारत की सबसे ईमानदार पार्टी का प्रमाण पत्र दिया है। सीबीआई, पुलिस ने मुझ पर और मनीष सिसोदिया पर छापा मारा। 21 पार्टी विधायकों को गिरफ्तार किया गया, ए 400 फाइलों की जांच के लिए आयोग का गठन किया गया था। फिर भी कुछ नहीं मिला।"उन्होंने कहा, "भ्रष्टाचार मुक्त शासन हमारे डीएनए में है।"

14 फरवरी को होने वाले गोवा विधानसभा चुनाव के लिए अरविंद केजरीवाल ने 13 सूत्री एजेंडा भी रखा। केजरीवाल ने कहा, "गोवा की जनता 14 फरवरी को होने वाले चुनावों का इंतजार कर रही है। आप नई उम्मीद है। उनके पास पहले भाजपा/कांग्रेस के अलावा कोई विकल्प नहीं था, वे बदलाव चाहते हैं और निराश हैं।" आप के 13 सूत्री एजेंडे के तहत केजरीवाल ने कहा कि युवाओं को रोजगार दिया जाएगा और जिन्हें नहीं मिलेगा उन्हें 3,000 रुपये प्रति माह की सहायता मिलेगी।

”केजरीवाल ने कहा, बेहतर और मुफ्त स्वास्थ्य सेवा के लिए गोवा के हर गांव और जिले में मोहल्ला क्लीनिक और अस्पताल खोले जाएंगे। किसान समुदाय से चर्चा कर खेती की समस्या का समाधान किया जाएगा। व्यापार प्रणाली को सुव्यवस्थित और सरल बनाया जाएगा, "हम 18 वर्ष से अधिक उम्र की प्रत्येक महिला को 1,000 रुपये प्रदान करेंगे। पर्यटन क्षेत्र को अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार विकसित किया जाएगा। गोवा में 24×7 मुफ्त बिजली और पानी होगा। सड़कों में सुधार किया जाएगा और सभी सरकारी स्कूलों में मुफ्त शिक्षा दी जाएगी।

कैराना का सपा उम्मीदवार नाहिद हसन गिरफ्तार, गैंगस्टर मामलें में चल रहा था फरार

उत्तर प्रदेश के कैराना से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार और मौजूदा विधायक नाहिद हसन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, हसन की गिरफ़्तारी शामली में हुई है, मिली जानकारी के मुताबिक़, गैंगस्टर मामले में सपा विधायक नाहिद हसन वांछित थे. आपको बता दें कि अगर नाहिद हसन की जमानत न हुई तो उन्हें जेल से ही चुनाव लड़ना होगा।

2016 में कैराना कांड में नाहिद हसन का नाम सामने आया था। भाजपा के तत्कालीन सांसद हुकुम सिंह ने आरोप लगाया था कि सपा सरकार में कैराना से हिंदू पलायन कर रहे हैं। कैराना मुस्लिम बाहुल्य इलाका है।

2019 में शामली की विशेष अदालत ने उन्हें भगोड़ा घोषित किया था और पूरे एरिया में मुनादी करवाई थी। सितंबर 21 में उन्होंने कोर्ट में सरेंडर किया था, कुछ घंटों के बाद उन्हें जमानत मिल गई थी। पुलिस ने उनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट भी लगा दिया। नाहिद हसन पूर्व विधायक मुनव्वर हसन के बेटे हैं। गैंगस्टर एक्ट लगने के बाद से भूमिगत था, लेकिन अब पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है..नाहिद हसन हिन्दुओं के खिलाफ जहर उगलने के लिए कुख्यात है.

UP में भाजपा के लिए प्रचार करेगा 'मुस्लिम राष्ट्रीय मंच', BJP राज में मुसलमान सबसे खुश और सुरक्षित

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) ने पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनावों में अल्पसंख्यक समुदाय से भाजपा को वोट देने की शुक्रवार को अपील करते हुए कहा कि भाजपा शासन में मुसलमान ‘सबसे सुरक्षित और खुश’ हैं, जबकि कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी उन्हें केवल ‘वोट बैंक’ मानती हैं। एमआरएम ने समुदाय के कल्याण के लिए केंद्र और राज्यों में भाजपा सरकारों द्वारा लागू की गई विभिन्न योजनाओं का जिक्र किया और कहा कि पार्टी देश में मुसलमानों की ‘सबसे बड़ी शुभचिंतक’ है।

एमआरएम ने आरोप लगाया कि कांग्रेस, सपा और बसपा सहित विपक्षी दलों ने मुसलमानों को केवल अपना वोट बैंक माना है और सत्ता में आने के बाद, उन्होंने समुदाय के सदस्यों को गरीबी, अशिक्षा, पिछड़ापन और ‘‘तीन तलाक जैसे अत्याचार दिए।’’ संगठन के राष्ट्रीय संयोजक शाहिद सईद ने बताया कि एमआरएम का 'निवेदन पत्र' पर्चे के रूप में प्रकाशित हुआ है और इसे चुनाव वाले राज्यों में वितरित करने के लिए यहां एक बैठक में (इसे) जारी किया गया

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर और पंजाब में भाजपा के लिए वोट मांगने के लिए पर्चे को अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों के बीच बांटा जाएगा। यह जिक्र किया गया, ‘‘नरेंद्र मोदी सरकार ने 2014 से अल्पसंख्यक समुदायों के कल्याण के लिए नयी रोशनी, नया सवेरा, नयी उड़ान, सीखो और कमाओ, उस्ताद और नयी मंजिल सहित 36 योजनाएं शुरू की हैं।

संगठन ने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को प्रधानमंत्री आवास योजना, मुद्रा योजना, जन धन योजना, उज्ज्वला योजना, अटल पेंशन योजना, स्टार्टअप इंडिया और मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई अन्य योजनाओं से भी लाभ हुआ है।

दलित परिवार के घर खिचड़ी प्रसाद खाकर खुश हुए CM योगी आदित्यनाथ, बोले- भारती जी का धन्यवाद

मकर संक्रांति के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में दलित परिवार अमृत लाल भारती के घर लंच किया. मुख्यमंत्री फर्श पर बैठकर भारती के साथ पारंपरिक खिचड़ी पत्तल (पत्ती की थाली) में ग्रहण किया। दोपहर के भोजन के बाद सीएम आदित्यनाथ ने कहा, सामाजिक समरसता का ध्येय लिए सतत बढ़ते जाना है...गोरखपुर स्थित झुंगिया में आज श्री अमृत लाल भारती जी के घर पर खिचड़ी का प्रसाद ग्रहण करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। श्री भारती जी का आभार एवं हार्दिक धन्यवाद!

योगी के इस कदम को विपक्ष के मुंहतोड़ जवाब के रूप में देखा जा रहा है, जिसने आगामी विधानसभा चुनावों में सीएम और सत्तारूढ़ राज्य सरकार पर जाति की राजनीति करने का आरोप लगाया है। भारती के परिवार ने कहा कि वे मुख्यमंत्री को अतिथि के रूप में पाकर बहुत खुश हैं। परिवार की महिलाओं ने कहा, "हमने इस अवसर के लिए खिचड़ी, पापड़ और कुछ अन्य व्यंजन तैयार किए थे, जिसे मुख्यमंत्री ने ग्रहण किये।

UP चुनाव: सपा-RLD ने जारी की 29 लोगों की पहली लिस्ट, गैंगस्टर नाहिद हसन समेत 31% मुस्लिमों को टिकट

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोकदल के प्रमुख चौधरी जयंत सिंह गठबंधन कर विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. गुरुवार को सपा-रालोद गठबंधन प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी की गई. सपा 10 तो रालोद 19 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पहली लिस्ट में गैंगस्टर नाहिद हसन समेत 31 फीसदी मुस्लिमों को टिकट दिया गया है. नीचे देखें किस उम्मीवार को कहाँ से टिकट मिला है.

सपा और आरएलएडी की पहली लिस्ट सामने आने के बाद सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने ट्वीट कर कहा, अखिलेश नें जाट बाहुल्य सीटों-कैराना में दंगाई व भगौड़ा नाहिद हसन, बागपत में अहमद हमीद और बुलंदशहर में माफिया हाजी यूनुस सहित 31% मुसलमानों को टिकट देकर हिंदुओं को चुनौती दी है!

आपको बता दें कि कैराना से सपा ने जिस नाहिद हसन को चुनावी मैदान में उतारा है उसपर गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है, नाहिद हसन हिन्दुओं से इस कदर नफरत करता है कि खुलेआम ऐलान किया था हिन्दुओं की दुकानों से कोई सामान न खरीदो।

 

23 जनवरी को 2 पालियों में होगी UP TET की परीक्षा, मुफ्त यात्रा के लिए देनी होगी प्रवेश पत्र की कॉपी

23 जनवरी को प्रस्तावित उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) के प्रवेश पत्र गुरुवार दोपहर बाद वेबसाइट updeled.gov.in पर जारी होंगे। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी के अनुसार अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र तक नि:शुल्क आने-जाने की सुविधा मिलेगी। इसके लिए अभ्यर्थी ऑनलाइन डाउनलोड किए गए प्रवेश पत्र की 5-6 प्रतियां अपने पास सुरक्षित रखें।

यात्रा के दौरान परिवहन विभाग की बसों के परिचालक (कंडक्टर) द्वारा मांगे जाने पर एक प्रति स्वहस्ताक्षरित कर उपलब्ध कराएं। अभ्यर्थी रोडवेज बस के परिचालक को जो प्रति देंगे उस पर जाने के लिए अप ट्रिप और वापस लौटने के लिए डाउन ट्रिप लिखते हुए यात्रा शुरू करने और समाप्त करने का स्थान भी लिखेंगे। परीक्षा में सम्मिलित होने वाले अभ्यर्थी पेपर शुरू होने से 30 मिनट पहले परीक्षा केंद्र में अपना स्थान ग्रहण कर लें। 

किसी भी परिस्थिति में इसके बाद परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षा केंद्र पर प्रवेश पत्र के साथ अभ्यर्थी को अपने ऑनलाइन आवेदन पत्र में अंकित फोटोयुक्त पहचान पत्र की मूल प्रति के साथ प्रशिक्षण योग्यता का मूल प्रमाणपत्र अथवा किसी सेमेस्टर के अंकपत्र की मूल प्रति और संबंधित प्रशिक्षण संस्था के प्राचार्य/सक्षम अधिकारी की ओर से इंटरनेट से प्राप्त अंकपत्र की प्रमाणित प्रति लाना अनिवार्य होगा।

पंजाब में PM की सुरक्षा में चूक: अकाली नेता बोले- CM चन्नी के घर पर रची गई थी साजिश

पंजाब के फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर शिरोमणि अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने मंगलवार को बड़ा दावा किया है. मजीठिया ने कहा कि पंजाब में पिछले पीएम मोदी के दौरे के समय सुरक्षा में हुई चूक चरणजीत सिंह चन्नी सरकार की ओर से रची गई साजिश थी. उन्होंने आरोप लगाया कि CM चन्नी के घर पर साजिश रची गई थी.

अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने मुख्यमंत्री चन्नी पर सुरक्षा चूक के मुद्दे को कमतर करने और इसके लिए अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ने का भी आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, ‘हमने पहले भी देखा है कि किस तरह पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को माला पहनाने आये लोगों ने उनकी जान ले ली थी..

प्रधानमंत्री मोदी के फिरोजपुर दौरे में सुरक्षा चूक के मुद्दे पर मजीठिया ने कहा कि उनकी सुरक्षा के साथ समझौता किया गया. उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री या पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष यात्रा करते हैं तो उनके रास्ते रोके नहीं जाते लेकिन तब भी उनके दूसरे मार्गों से जाने का प्लान तैयार होता है.

मजीठिया ने पूछा कि राज्य सरकार प्रधानमंत्री के लिए कोई वैकल्पिक मार्ग खोजने में विफल क्यों रही. अकाली दल के नेता ने आरोप लगाया, ‘यह भाजपा और पूरी व्यवस्था को असहज करने की सुनियोजित साजिश थी और साजिश कौन रच रहा था? इनमें तत्कालीन डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय, चन्नी, उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू शामिल थे.

पंजाब कांग्रेस में रार बरकरार, सिद्धू ने दिया ऐसा बयान कि आलाकमान में...


कांग्रेस द्वारा पंजाब के लिए सीएम का चेहरा घोषित करने से इनकार करने के साथ, अंतर्धाराएं हैं, जो संकेत देती हैं कि पार्टी उच्च ओकटाइन चुनावों से पहले और अधिक मोड़ और मोड़ देख सकती है।

विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है लेकिन अभी भी पंजाब कांग्रेस में रार थमने का नाम नहीं ले रही है, प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने आलाकमान को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जिसपर बवाल मच सकता है. पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब के लोग मुख्यमंत्री का फैसला करेंगे, न कि कांग्रेस पार्टी के आलाकमान को। मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा: "पंजाब के लोग तय करेंगे कि सीएम कौन होगा। आपसे किसने कहा कि (कांग्रेस) आलाकमान सीएम बनाएगा?" उल्लेखनीय है कि कांग्रेस पार्टी में मुख्यमंत्री कौन बनेगा, इसका फैसला कांग्रेस आलाकमान ही करता है.

यह पूछे जाने पर कि वह किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे, सिद्धू ने कहा, "पंजाब किसी व्यक्ति की संपत्ति नहीं है। मैं पंजाब से चुनाव लड़ूंगा।" उन्होंने लोगों से कहा कि वे अपने मन में कोई गलत प्रभाव न डालें। उन्होंने कहा, "आपको किसने कहा कि आलाकमान सीएम चुनेगा?", उन्होंने कहा कि विधायक, साथ ही मुख्यमंत्री को भी लोगों द्वारा चुना जाएगा।

नवजोत सिंह सिद्धू चंडीगढ़ में 'पंजाब मॉडल' पर प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। हालांकि, बैनरों से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पंजाब के अन्य कांग्रेस नेताओं की तस्वीर गायब थी। 

यह टिप्पणी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ द्वारा की गई थी कि कांग्रेस विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री की घोषणा नहीं करेगी। जाखड़ ने पिछले महीने कहा था कि पार्टी 'संयुक्त नेतृत्व' के तहत चुनाव लड़ेगी।

थूकबाज हेयर डिजाइनर जावेद हबीब ने मांगी माफ़ी, NCW से कहा- दोबारा अब किसी के सर पर नहीं थूकूँगा


थूकबाज हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब मंगलवार को राष्ट्रीय महिला आयोग के सामने पेश हुए। एक महिला के सिर पर थूकने का वीडियो इंटरनेट पर वायरल होने के बाद आयोग ने उन्हें तलब किया था। आयोग की मौजूदगी में जावेद हबीब ने लिखित माफीनामा जारी किया और कहा कि उनका इरादा किसी का अपमान करने का नहीं था। उन्होंने एनसीडब्ल्यू को आश्वासन दिया कि ऐसा दोबारा नहीं होगा।

इस मामले में एनसीडब्ल्यू द्वारा उन्हें फिर से तलब करने की संभावना नहीं है। हालाँकि NCW ने पहले ही उत्तर प्रदेश में पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर कार्रवाई करने के लिए कहा था, इसलिए पुलिस की कार्यवाही जारी रहेगी।

पिछले हफ्ते, सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया जिसमें सेलिब्रिटी हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब ने उत्तर प्रदेश में आयोजित एक सेमीनार के दौरान एक महिला के सिर पर उसके बालों को स्टाइल करते हुए थूक दिया। वीडियो में उन्होंने कहा कि अगर हेयरड्रेसर का पानी खत्म हो जाता है, तो वे बालों को स्टाइल करने के लिए थूक का इस्तेमाल कर सकते हैं। वीडियो वायरल होने के बाद जावेद हबीब की जमकर आलोचना हुई थी.

वीडियो में दिखाई देने वाली महिला की पहचान बागपत की पूजा गुप्ता के रूप में हुई है। एक वीडियो में, उसने कहा कि जावेद हबीब द्वारा उसके बालों पर थूककर मंच पर "दुर्व्यवहार" करने के बाद वह बहुत निराश थी। जावेद हबीब की घिनौनी हरकत के बाद महिला की शिकायत पर मंसूरपुर थाने में मामला दर्ज किया है। यह मामला महामारी अधिनियम संबंधी धाराओं में दर्ज किया गया है। 

यूपी विधानसभा चुनाव 80 प्रतिशत बनाम 20 प्रतिशत का है: योगी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है, इसके साथ ही अब आक्रामक बयानों के दौर का भी आगाज हो चुका है, इसी कड़ी में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक ऐसा बयान दिया है, जिसपर हंगामा मच सकता है, आजतक चैनल को दिए गए इंटरव्यू में सीएम योगी ने कहा, ये चुनाव 80 प्रतिशत बनाम 20 प्रतिशत का है.

सीएम योगी ने कहा, चुनाव बाद जब 10 मार्च को रिजल्ट आएगा तो एक तरफ भारतीय जनता पार्टी तीन चौथाई से अधिक सीटों को पाकर प्रचंड बहुमत से सरकार बना रही होगी। दूसरी तरफ सपा-बसपा और कांग्रेस ये सब 20 प्रतिशत की लड़ाई के लिए माथापच्ची कर रहे होंगे।

एंकर स्वेता सिंह द्वारा यह पूछे जाने पर कि 20 प्रतिशत कौन हैं, जवाब देते हुए सीएम योगी ने कहा, 20 प्रतिशत वे लोग हैं, जो रामजन्मभूमि के निर्माण का विरोध करते हैं, काशी विश्वनाथ धाम का विरोध करते हैं, मथुरा-वृन्दावन के भव्य स्वरुप का विरोध करते हैं. योगी ने कहा, ये 20 प्रतिशत वे लोग हैं जिनकी पीड़ा माफियाओं के साथ है. जिनकी पीड़ा पेशेवर अपराधियों और संवेदना आतंकवादियों के साथ है. सीएम योगी ने यह भी कहा कि हिन्दू विरोधियों को मोदी-योगी पसंद नहीं हैं, अगर मैं अपनी गर्दन भी काटकर रख दूँ तो भी वे मुझपर यक़ीन नहीं करेंगे। 

पूर्व कांग्रेसी CM सिद्धारमैया समेत 30 कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कर्नाटक पुलिस ने दर्ज की FIR

कर्नाटक राज्य पुलिस ने कोविड मानकों का उल्लंघन करने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और राज्य पार्टी प्रमुख डी के शिवकुमार सहित 30 कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। पार्टी नेताओं ने तमिलनाडु द्वारा कानूनी रूप से चुनौती दिए जाने के बाद मेकेदातु पेयजल परियोजना  लागू करने की मांग को लेकर प्रदर्शन निकाला था। 

विरोध प्रदर्शन मार्च कल उस समय निकाला गया जब कोविड महामारी को रोकने के लिए सप्ताहांत कर्फ्यू लागू था। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कानून को लागू करने के एक समान तरीके की वकालत करते हुए आज कहा कि कोविड नियमों का पालन करते हुए आम आदमी और राजनीतिक नेताओं के लिए दो अलग-अलग नियम निर्धारित नहीं किए जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य में कोविड़ रोगियों की दर बढ़कर 6 दशमलव 8 प्रतिशत और बेंगलुरु में 10 प्रतिशत हो गई है। देश में कोविड रोगियों  की संख्या के हिसाब से कर्नाटक देश में तीसरे स्थान पर है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड मामलों में आ रही तेज़ी के दौरान भीड़ इकट्ठा करना और विरोध प्रदर्शन करना उचित नहीं है। राज्य कांग्रेस ने कल कावेरी और अर्कावती नदियों के संगम से अपना 178 किलोमीटर का मार्च शुरू किया और इसे 19 जनवरी को बेंगलुरु पहुंचने से पहले 15 विधानसभा क्षेत्रों तक जाने की योजना है।

UP विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, हाथ का साथ छोड़ साइकिल पर सवार होंगे इमरान मसूद

विधानसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को बड़ा झटका लग गया है, कांग्रेस नेता इमरान मसूद हाथ का साथ छोड़कर आज साइकिल पर सवार हो सकते हैं, इमरान मसूद पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के बड़े मुस्लिम नेता थे, लेकिन अब चुनाव से एक महीनें पहले उन्होंने सपा का दामन थामने का फैसला लिया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, इमरान मसूद ने आज अपने समर्थकों की मीटिंग बुलाई है, इस मीटिंग में चर्चा के बाद इमरान मसूद औपचारिक रूप से सपा में शामिल होने का ऐलान करेंगे, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मसूद ने आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव से भी समय माँगा है. इमरान मसूद एक महीनें पहले से ही कह रहे हैं कि "उत्तर प्रदेश में मुख्य मुकाबला समाजवादी पार्टी और भाजपा के बीच है"।

आपको बता दें कि 2007 में निर्दलीय लड़कर इमरान मसूद ने विधानसभा चुनाव जीता था, 2012 का चुनाव कांग्रेस के टिकट पर लड़ा और हार गए और 2013 में समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। अगले साल, वह कांग्रेस में वापस आ गए और सहारनपुर से 2014 और 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा। लेकिन वह दोनों चुनाव हार गए।

2014 में मसूद को चुनाव प्रचार के दौरान नफरत भरे भाषण के लिए गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया था, मसूद ने "नरेंद्र मोदी को टुकड़े-टुकड़े करने" की धमकी दी थी। इमरान मसूद सहारनपुर से पांच बार के कांग्रेस लोकसभा सांसद राशिद मसूद के भतीजे हैं, जिनकी 2020 में मृत्यु हो गई थी।

फिर से मुख्यमंत्री बनने का सपना देखने वाले अखिलेश यादव बोले-10 मार्च को साफ़ हो जाएगी भाजपा

उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में होने वाले चुनाव की तारीखों का आज चुनाव आयोग ने ऐलान कर दिया। उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में चुनाव होंगे, 10 मार्च को नतीजे आएंगे। चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव की प्रतिक्रिया सामने आई है, दोबारा मुख्यमंत्री बनने का सपना देख रहे अखिलेश यादव ने कहा, 10 मार्च को भाजपा साफ़ हो जाएगी और यूपी में सपा की सरकार बनेगी। समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर कहा, किसानों, नौजवानों, महिलाओं, पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यकों, व्यापारियों, कारोबारियों की खुशहाली लेकर 10 मार्च को आ रहे हैं अखिलेश!

लखनऊ में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, ये तारीखें बदलाव की हैं। शुरुआत 10 फरवरी से हो रही है और 10 मार्च तक परिणाम आएगा। चुनाव आयोग द्वारा रखी गई शर्तों का पालन किया जाएगा। 10 मार्च के बाद यूपी से भाजपा का साफ होना तय है.

यूपी में सात चरणों में चुनाव होगा।

  • प्रथम चरण-10 फरवरी
  • द्वितीय चरण-14 फरवरी
  • तृतीय चरण-20 फरवरी
  • चतुर्थ चरण-23 फरवरी
  • पांचवा चरण-27 फरवरी
  • छठा चरण-3 मार्च 
  • सातवां चरण-7 मार्च

10 मार्च को होगी मतगणना! 

पहले चरण का मतदान:  शामली, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ हापुड़, गाजियाबाद, बुलंदशहर, मथुरा आगरा और अलीगढ।

दूसरा चरण: सहारनपुर, बिजनौर, अमरोहा, संभल, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, बदायूं, शाहजहांपुर।

तीसरा चरण- कासगंज, हाथरस, फिरोजाबाद, एटा, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, जालौन, हमीरपुर, महोबा, झाँसी, ललितपुर।

चौथा चरण- पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई, लखनऊ, उन्नाव, रायबरेली, फतेहपुर, बांदा।

पांचवा चरण- श्रावस्ती, बहराइच, बाराबंकी, गोंडा, अयोध्या, अमेठी, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, कौशांबी, चित्रकूट, प्रयागराज।

छठां चरण- बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, कुशीनगर, बस्ती, संत कबीर नगर, आंबेडकर नगर, गोरखपुर, देवरिया, बलिया।

सातंवा चरण- आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, जौनपुर, संत रविदास नगर, वाराणसी, मिर्जापुर, गाजीपुर, चंदौली, सोनभद्र।