Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts
Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts

Sunday, March 26, 2017

पाकिस्तान और बांग्लादेश की सीमा को सील करेगें: राजनाथ सिंह

पाकिस्तान और बांग्लादेश की सीमा को सील करेगें: राजनाथ सिंह

rajnath-singh-told-pakistan-and-bangladesh-border-will-be-sealed

ग्वालियर (मप्र), 26 मार्च: केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यहां शनिवार को कहा कि आतंकवादी और शरणार्थियों की घुसपैठ को रोकने के लिए भारत से लगी पाकिस्तान और बांग्लादेश की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं को जल्द ही सील किया जाएगा। ग्वालियर के टेकनपुर स्थित सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ ) अकादमी में आयोजित पासिंग आउट परेड के मौके पर पहुंचे राजनाथ ने कहा कि घुसपैठ रोकने की जिम्मेदारी बोर्डर मैनेजमेंट डिवीजन को दी गई है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से सटी 3323 किलोमीटर लंबी सीमा को अभेद्य बनाया जाएगा। पंजाब में 45 स्थानों पर और कश्मीर में 6.9 किलोमीटर लंबी लेजर वॉल पहले ही लगाई जा चुकी है। पंजाब व जम्मू-कश्मीर में कई जगह पक्की दीवार बनेगी और गुजरात में लेजर वॉल व लेजर वीम से सीमा सील होगी।

केंद्रीय गृहमंत्री ने दीक्षांत समारोह के बाद संवाददाताओं से कहा, "देश की सीमाओं की सुरक्षा में बीएसएफ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन बखूबी कर रहा है। यही कारण है कि बीएसएफ के प्रति देश के लोगों का भरोसा बढ़ा है। बीएसएफ की सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी।"

घुसपैठ न थमने के सवाल पर राजनाथ ने कहा, "सीमाएं सील की जाएंगी। जहां फेंसिंग हो सकती है, वहां की जाएगी और जहां यह नहीं हो सकेगी, वहां तकनीक का सहारा लिया जाएगा।"

देश में बढ़ती नक्सली घटनाओं का जिक्र किए जाने पर उन्होंने कहा कि नक्सलवाद का प्रभाव बढ़ा नहीं, घटा है। ढाई-तीन वर्षो के दौरान नक्सलवाद में 50 से 55 प्रतिशत की कमी आई है। पहले देश के 135 जिले नक्सल प्रभावित थे, जो वर्तमान में 35 रह गए हैं। इन जिलों में भी नक्सली घटनाओं में कमी आई है। यह 80 के दशक की समस्या है।

राजनाथ ने कहा, "जिन राज्यों में नक्सलवाद का प्रभाव है, वहां की सरकारें अपनी जिम्मेदारियां बखूबी निभा रही हैं। इसमें केंद्र सरकार पूरी मदद दे रही है। अर्धसैनिक बलों की 100 से अधिक बटालियन इन क्षेत्रों में तैनात हैं।"


मध्यप्रदेश में समानांतर टेलीफोन एक्सचेंज चलाकर भारत के सामरिक महत्व की जानकारी पाकिस्तान तक पहुंचाने के आरोप में पकड़े गए युवाओं के भाजपा से रिश्ते होने के सवाल पर सिंह ने कहा कि इस मामले की जांच एनआईए कर रही है, आरोपी बख्शे नहीं जाएंगे।

Tuesday, March 21, 2017

राहुल गाँधी के लिए खुशखबरी, गिनीज बुक में नाम दर्ज कराने के लिए छात्र ने भेजा नाम

राहुल गाँधी के लिए खुशखबरी, गिनीज बुक में नाम दर्ज कराने के लिए छात्र ने भेजा नाम

rahul-gandhi-name-in-guinness-book
नई दिल्ली, 21 मार्च: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के लिए एक खुशखबरी है क्योंकि मध्य प्रदेश के एक छात्र ने उनका नाम गिनीज बुक में दर्ज कराने के लिए भेजा है और गिनीज बुक वालों ने उनका आवेदन स्वीकार भी कर लिया है हालाँकि पूरी तरह से अप्रूवल के बाद ही उनका नाम गिनीज बुक में दर्ज किया जाएगा। 

एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक़ मध्य प्रदेश के एक इंजीनियरिंग छात्र विशाल दीवान राहुल गाँधी का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड्स में इसलिए शामिल करने के लिए भेजा है क्योंकि राहुल गाँधी जहाँ जहाँ प्रचार करते हैं वहां कांग्रेस हार जाती है, अब तक राहुल गाँधी 27 चुनावों में कांग्रेस को हरा चुके हैं। 

जानकारी के अनुसार विशाल दीवान ने राहुल गाँधी का नाम दर्ज कराने के लिए गिनीज बुक वालों को चिट्ठी लिही और उनका नाम दर्ज कराने के लिए फीस भी चुकाई, गिनीज बुक वालों ने उनका आवेदन प्राप्त करने का कन्फर्मेशन लेटर भी भेज दिया है।

Tuesday, March 7, 2017

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में धमाका, SIMI का हाथ होने की आशंका

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में धमाका, SIMI का हाथ होने की आशंका

bhopal-ujjain-train-blast-doubt-of-simi-hand
भोपाल: मध्य प्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने मंगलवार को कहा है कि भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन के जिस डिब्बे में धमाका हुआ है, उसमें बारूद (गन पाउडर) की गंध आ रही है। घटना के बाद संवाददाताओं से बातचीत में मंत्री ने कहा, "यह घटना गंभीर है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान स्वयं इस पर नजर रखे हुए हैं, पुलिस महानिदेशक व राज्य की गुप्तचर शाखा के अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। प्रारंभिक जानकारी में जो बात सामने आई है, उसमें पता चला है कि डिब्बे में गन पाउडर की गंध आ रही है।"

गृह मंत्री सिंह से जब पूछा गया कि क्या इसमें किसी आतंकवादी संगठन अथवा सिमी का हाथ होने की आशंका है तो उन्होंने कहा, "इस घटना में कौन शामिल है, इस संदर्भ में अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं कहा जा सकता, पर उज्जैन का क्षेत्र पूर्व में स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) का गढ़ रहा है, लिहाजा इसकी आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।"

भोपाल से उज्जैन जा रही पैसेंजर ट्रेन संख्या 59320 के एक डिब्बे में मंगलवार सुबह जबड़ी स्टेशन से निकलते ही धमाका हुआ, जिसमें आठ यात्री घायल हुए। इनमें से दो की हालत गंभीर है। कुछ यात्रियों के मुताबिक ट्रेन की ट्यूबलाइट में धमाका हुआ था, हालाँकि धमाके के असली कारणों का पता जांच के बाद ही निकलेगा। 

Thursday, February 16, 2017

शिवराज सिंह ने बीजेपी विधायकों को ज्ञान और तर्कशक्ति बढाने की सलाह दी, पढ़ते रहो, सीखते रहो

शिवराज सिंह ने बीजेपी विधायकों को ज्ञान और तर्कशक्ति बढाने की सलाह दी, पढ़ते रहो, सीखते रहो

mp-latest-news
पचमढ़ी, 15 फरवरी: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी के विधायकों को अपना ज्ञान बढ़ाने की सलाह देते हुए कहा कि ज्यादा अध्ययन करने से वे ज्यादा तार्किक तरीके से और तथ्यों के साथ अपनी बात लोगों के सामन रख पाएंगे, जिससे उनकी और पार्टी की छवि निखरेगी। मध्यप्रदेश की पर्यटन नगरी पचमढ़ी में बुधवार को दो दिवसीय विधायक प्रशिक्षण शिविर के समापन सत्र में चौहान ने कहा कि, "विधायकों केा अध्ययन बढ़ाकर तथ्यों और तकरे के साथ अपनी बात रखने का सामथ्र्य और बढ़ाना चाहिए, जिससे हम कहीं भी अपनी बात लेकर जाएंगे तो उसे न मानने का कोई कारण किसी के पास नहीं रहेगा। ऐसा करने से समाज में हमारी छवि निखरेगी और जब हमारी छवि निखरेगी तब निश्चित ही भारतीय जनता पार्टी की छवि भी और निखरेगी।"

चौहान ने अपने विधायकों से कहा है, "वे समय का बेहतरीन इस्तेमाल करने के लिए योजना बनाए और जनता के हित के कामों को अधिक से अधिक समय देकर करने का प्रयत्न करें।"

उन्होंने कहा कि सरकार दिन रात मध्यप्रदेश की जनता की सेवा में नई-नई योजनाएं और प्रकल्प लेकर आ रही हैं। विकास के काम दस गुना रफ्तार से आगे बढ़ रहे हैं। इन सभी कार्यो का भूमिपूजन और लोकार्पण उस क्षेत्र के समूचे समाज को साथ लेकर करना चाहिए। 

चौहान ने बताया कि एक मई को आदि गुरु शंकराचार्य की जंयती है। इसे हर जिला स्तर और ग्राम स्तर पर मनाने की योजना है। ओंकारेश्वर में शंकराचार्य की अष्टधातु की प्रतिमा स्थापित की जाना चाहिए, इसके लिए घर घर से धातु मांगी जाएगी। 

समापन सत्र के मंच पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सत्यनारायण जटिया और प्रदेश महामंत्री अजयप्रताप सिंह उपस्थित थे।

Saturday, February 11, 2017

महात्मा गाँधी पहले सेवा को बोझ समझते थे, एक 10 वर्ष की बालिका ने उनकी अंतरात्मा को जगाया: भागवत

महात्मा गाँधी पहले सेवा को बोझ समझते थे, एक 10 वर्ष की बालिका ने उनकी अंतरात्मा को जगाया: भागवत

mohan-bhagwat-told-mahatma-gandhi-understood-service-burden

भोपाल, 10 फरवरी: केंद्र और मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मार्गदर्शक संगठन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत ने एक दृष्टांत के जरिए बताया कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 'सेवा' को बोझ समझते थे, उन्हें 10 साल की एक बच्ची ने बताया था कि सच्ची सेवा क्या है। साथ ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की कार्यशैली की सराहना करते हुए उसकी कोशिशों की तुलना संत रविदास (रैदास) के काल से की। संघ प्रमुख ने कहा कि संत रविदास के काल में पसीने के फूल खिलते थे, जिनकी सुगंध अलग ही होती थी, अब एक बार फिर पसीने के फूल खिलाने की बात हो रही है, इसलिए अब देश फिर से बड़ा होगा। 

संत रविदास जयंती के मौके पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के लाल परेड मैदान में शुक्रवार को संघ से संबद्ध सेवा भारती के रजत जयंती वर्ष पर आयोजित श्रम साधक संगम (सम्मेलन) में भागवत ने सेवा को परिभाषित करते हुए कहा कि सेवा अपनेपन के भाव के चलते हो जाती है। यह करनी नहीं पड़ती, बल्कि अपने आप हो जाती है, सेवा बोझ नहीं होती। 

उन्होंने एक दृष्टांत देते हुए कहा, "पुणे में एक बार महात्मा गांधी पहाड़ी से उतर रहे थे, तो उन्होंने 10 साल की एक बालिका को पांच साल के भाई को कंधे पर बैठाए देखा तो कहा कि उसे कंधे से उतारो, वह चल सकता है, बोझ क्यों ढो रही हो। तब उस बालिका ने गांधी से कहा था कि क्या बात कर रहे हैं आप, अपना भाई बोझ होता है क्या?"

याद रहे कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आरएसएस को महात्मा गांधी की हत्या के लिए जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। इस कारण पुणे में उन पर मानहानि का मुकदमा चल रहा है। गांधी का हत्यारा नाथूराम गोडसे गांधी की हत्या से पहले आरएसएस से निकल चुका था। राहुल का कहना है वह कि आरएसएस की हिंदूवादी विचारधारा को गांधी की हत्या के लिए जिम्मेदार मानते हैं। गोडसे भले ही आरएसएस छोड़ चुका था, लेकिन उसकी विचारधारा वही थी। गांधी की हत्या के समय वह अखिल भारतीय हिंदू महासभा का सदस्य था।

संघ प्रमुख भागवत ने श्रम साधकों को समझाया कि अपनों की सेवा कोई बोझ नहीं होती। उन्होंने कहा कि कोई काम छोटा-बड़ा नहीं होता, जिस देश में श्रम का सम्मान होता है, वही देश प्रगति करता है, संत रविदास जी का भी संदेश है कि अपने श्रम को कम मानो, क्योंकि समाज को उसकी जरूरत है। 

भागवत ने कहा , "रैदास की कीर्ति जब हर तरफ फैलने लगी तो लोग उनके पास जाने लगे, उनके पास तक जाने वाले रास्तों में लोगों को फूलों की नई तरह की खुशबू आई, जिस पर लोगों ने फूलों के बारे में पूछा तो रैदास ने पसीने के फूलों की खुशबू और उन फूलों को श्रम से गिरे पसीने के फूल बताया, पसीने के फूल खिलना बंद हो गया, तो देश अधोगति में चला गया। अब पसीने के फूल फिर से खिलाने की बात हो रही है, इसलिए देश बड़ा होगा।"

सेवा भारती के उद्देश्यों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा, "हिंदू समाज कुटुंब के समान है, इस कुटुंब में एक को मिले और बाकी को नहीं मिले, यह नहीं चलेगा। जिनको मिला है वह दूसरों को देने की कोशिश करें, यह बोझ नहीं है, यह सेवा की बात है।"

इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्रम साधकों के लिए भूखंड और उस पर आवास बनाने के लिए जल्द कानून लाने का वादा किया। साथ ही सरकार की योजनाओं को भी गिनाया। 

भागवत राज्य के आठ दिवसीय दौरे पर हैं। उन्होंने मंगलवार को भोपाल में संघ के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ बैठक की थी, बुधवार को बैतूल में हिंदू सम्मेलन और गुरुवार को होशंगाबाद के बनखेड़ी में भाउ साहब भुस्कुटे स्मृति लोक न्यास के रजत जयंती समारोह में हिस्सा लिया था। 

उन्होंने चौथे दिन शुक्रवार को रायपुर में श्रम साधक सम्मेलन में हिस्सा लिया। भागवत के प्रवास और लाल परेड मैदान में कार्यक्रम के आयोजन के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए। भाजपा के मार्गदर्शक की सुरक्षा के लिए राजधानी के कई मार्गो पर यातायात बंद कर दिया गया और कुछ मार्गो पर वाहनों को दूसरे रास्तों से ले जाने का निर्देश दिया गया।