Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts
Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts

04 May, 2017

शिवराज सिंह का 'काम बोलता है' इंदौर और भोपाल को बना दिया भारत का नंबर 1 और 2 स्वच्छ शहर

शिवराज सिंह का 'काम बोलता है' इंदौर और भोपाल को बना दिया भारत का नंबर 1 और 2 स्वच्छ शहर

shivraj-singh-kaam-bolta-hai-indore-bhopal-india-top-clean-city
भोपाल : उत्तर प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक विज्ञापन शुरू किया था 'काम बोलता है' उनका काम तो नहीं बोला लेकिन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का काम जरूर बोल रहा है क्योंकि भारत सरकार के स्वच्छता अभियान के सर्वे में इंदौर को भारत का नंबर 1 और भोपाल को भारत का नंबर 2 स्वच्छ शहर घोषित किया गया है, यही नहीं TOP 10 में मध्य प्रदेश के 2 शहर हैं तो TOP 25 में मध्य प्रदेश के 8 शहर शामिल हैं, अगर इसे पैमाना माना जाए तो सच में शिवराज सिंह का 'काम बोलता है'.
इस सर्वे में देश के 434 शहरों को शामिल किया गया, इन्हें इनकी स्वच्छता के हिसाब से रैंकिंग की गयी, टॉप 10 में मध्य प्रदश के 2 शहर जबकि गुजरात के 2 शहरों को जगह मिली है, मतलब गुजरात और मध्य प्रदेश दोनों जगह बीजेपी सरकारों का काम बोल रहा है. बीजेपी शासित NDMC New Delhi को भी 7वां स्थान मिला है.

देखिये TOP 10 शहरों के नाम - 
1. इंदौर, मध्य प्रदेश
2. भोपाल, मध्य प्रदेश
3. विसाखापट्टनम, आंध्र प्रदेश
4. सूरत, गुजरात
5. मैसूरू, कर्नाटक
6. तिरुचिरापल्ली, तमिलनाडु
7. NDMC, नेशनल कैपिटल टेरिटरी ऑफ़ देल्ही
8. नवी मुंबई, महाराष्ट्र
9. तिरुपति, आंध्र प्रदेश
10. वड़ोदरा, गुजरात

10 April, 2017

MP के शराबियों के लिए बुरी खबर, धीरे धीरे बंद होते जाएंगे ठेके, फिर हो जाएगी पूर्व शराबबंदी

MP के शराबियों के लिए बुरी खबर, धीरे धीरे बंद होते जाएंगे ठेके, फिर हो जाएगी पूर्व शराबबंदी

shivraj-singh-promised-for-complete-liquor-ban-theke-honge-band

भोपाल, 10 अप्रैल: आज शिवराज सिंह भी फुल फॉर्म में आ गए और उन्होंने शराबबंदी के रास्ते पर चलने की घोषणा कर दी, उन्होने शराबियों को बुरी खबर सुनाते हुए कहा कि कुछ समय बाद राज्य में पूर्व शराब बंदी हो जाएगी, हालाँकि उन्होंने शराबियों को थोडा राहत भी दी है, उन्होंने कहा है कि ठेके एकाएक बंद नहीं किये जाएंगे क्योंकि इससे शराबी शराब के लिए तड़प तड़प कर मर जाएंगे, ठेके धीरे धीरे बंद होंगे ताकि लोगों को अपनी आदत सुधारने का मौका मिला, कुछ समय बाद राज्य में पूर्व शराबबंदी कर दी जाएगी.

जानकारी के लिए बता दें कि गुजरात में मोदी ने पहली बार शराबबंदी की थी, वहां पर 15 वर्षों से शराब बंद है, उसके बाद बिहार में पूर्व शराबबंदी कर दी गयी लेकिन शराबियों की आफत आ गयी और गैरकानूनी ठेके खुल गए, उसी से सबक लेते हुए शिवराज सिंह ने कहा है कि हम भी शराबबंदी करेंगे लेकिन चरणबद्ध तरीक से शराब की दुकानें बंद की जाएंगी, कुछ समय बाद राज्य में पूर्व शराबबंदी हो जाएगी.

शिवराज सिंह ने कहा कि नर्मदा नदी के किनारे पांच किलोमीटर तक सभी शराब की दुकानें बंद करा दी जाएगी, इसके बाद अगले चरण में रिहाइशी इलाकों में शराब बंद कर दी जाएगी, उन सभी इलाकों में शराब बंद कर दी जाएगी जहाँ पर शैक्षिक संस्थान और धार्मिक स्थान हैं.

उन्होंने कहा कि शराबियों को आदत छोड़ने का मौका देने के लिए प्रदेश में नशामुक्ति अभियान चलाया जाएगा, लोगों को नशे से नुकसान के बारे में बताया जाएगा.

08 April, 2017

शिवराज सिंह का धमाकेदार काम, 5 रुपये में कीजिये भरपेट भोजन

शिवराज सिंह का धमाकेदार काम, 5 रुपये में कीजिये भरपेट भोजन

shivraj-singh-deen-dayal-rasoi-yojna-food-thali-in-rs-5-in-49-city

भोपाल, 8 अप्रैल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने एक धमाकेदार काम किया है, उन्होंने कल से दीन दयाल रसोई योजना के तहत प्रदेश के 49 शहरों में केवल 5 रुपये में भरपेट भोजन की व्यवस्था कर दी है, केवल 2 जिलों में यह व्यवस्था नहीं लागू हो पाई है, इसकी वजह यह है कि भिंड जिले की अटेर एवं उमरिया जिले की बांधवगढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं, चुनाव बाद इन जिलों में भी यह व्यवस्था शुरू होगी.

शिवराज सरकार ने यह व्यवस्था पार्टी के संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर शुरू की है. शुक्रवार शाम को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर में इसका शुभारंभ किया.

मिलेगा पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन

मध्यप्रदेश की नगरीय विकास मंत्री माया सिंह ने माया ने बताया, ‘हर जिला मुख्यालय में न्यूनतम एक स्थान पर दीनदयाल रसोई प्रारंभ की जायेगी. आवश्यकतानुसार बड़े शहरों में एक से अधिक केन्द्र स्थापित किए जा सकेंगें.’ उन्होंने कहा कि दीनदयाल रसोई योजना से न सिर्फ कम कीमत पर गुणवत्तापूर्ण पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन उपलब्ध होगा बल्कि हर वर्ग के व्यक्ति को अपने सामाजिक दायित्व निभाने का सुअवसर भी मिलेगा.

पांच रुपये की थाली में कोई भी व्यक्ति भरपेट भोजन कर सकेगा

मंत्री माया सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री की मंशानुसार नगरीय क्षेत्रों में व्यवसाय एवं श्रम कार्य करने वाले गरीबों को आवास व्यवस्था के साथ-साथ भोजन की समुचित व्यवस्था के मद्देनजर दीनदयाल रसोई योजना की शुरुआत की गई है. उन्होंने कहा, ‘पांच रुपये की थाली में कोई भी व्यक्ति भरपेट भोजन कर सकेगा. थाली में चार रोटी, एक सब्जी और दाल शामिल होगी. रोजाना पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक लगभग 2,000 लोगों के खाने की व्यवस्था होगी.’ 

रसोई केन्द्रों के लिए गेहूं एवं चावल एक रुपये प्रति किलो की दर से

माया ने बताया कि योजना की व्यवस्था की निगरानी जिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति करेगी. समिति में शासकीय अधिकारियों के अतिरिक्त अनाज व्यापारी संघ तथा सब्जी मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष को भी सदस्य बनाया गया है. रसोई केन्द्रों के लिए गेहूं एवं चावल एक रुपये प्रति किलो की दर से उचित मूल्य की दुकान के माध्यम से उपलब्ध करवाया जायेगा. पानी तथा बिजली की व्यवस्था नगर निगम द्वारा नि:शुल्क की जायेगी.

उन्होंने कहा कि केन्द्रों की स्थापना के लिए मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना योजना से राशि उपलब्ध होगी. प्रत्येक केन्द्र के लिए स्थानीय मुख्यालय के राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता खोला जायेगा.

26 March, 2017

पाकिस्तान और बांग्लादेश की सीमा को सील करेगें: राजनाथ सिंह

पाकिस्तान और बांग्लादेश की सीमा को सील करेगें: राजनाथ सिंह

rajnath-singh-told-pakistan-and-bangladesh-border-will-be-sealed

ग्वालियर (मप्र), 26 मार्च: केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यहां शनिवार को कहा कि आतंकवादी और शरणार्थियों की घुसपैठ को रोकने के लिए भारत से लगी पाकिस्तान और बांग्लादेश की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं को जल्द ही सील किया जाएगा। ग्वालियर के टेकनपुर स्थित सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ ) अकादमी में आयोजित पासिंग आउट परेड के मौके पर पहुंचे राजनाथ ने कहा कि घुसपैठ रोकने की जिम्मेदारी बोर्डर मैनेजमेंट डिवीजन को दी गई है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से सटी 3323 किलोमीटर लंबी सीमा को अभेद्य बनाया जाएगा। पंजाब में 45 स्थानों पर और कश्मीर में 6.9 किलोमीटर लंबी लेजर वॉल पहले ही लगाई जा चुकी है। पंजाब व जम्मू-कश्मीर में कई जगह पक्की दीवार बनेगी और गुजरात में लेजर वॉल व लेजर वीम से सीमा सील होगी।

केंद्रीय गृहमंत्री ने दीक्षांत समारोह के बाद संवाददाताओं से कहा, "देश की सीमाओं की सुरक्षा में बीएसएफ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन बखूबी कर रहा है। यही कारण है कि बीएसएफ के प्रति देश के लोगों का भरोसा बढ़ा है। बीएसएफ की सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी।"

घुसपैठ न थमने के सवाल पर राजनाथ ने कहा, "सीमाएं सील की जाएंगी। जहां फेंसिंग हो सकती है, वहां की जाएगी और जहां यह नहीं हो सकेगी, वहां तकनीक का सहारा लिया जाएगा।"

देश में बढ़ती नक्सली घटनाओं का जिक्र किए जाने पर उन्होंने कहा कि नक्सलवाद का प्रभाव बढ़ा नहीं, घटा है। ढाई-तीन वर्षो के दौरान नक्सलवाद में 50 से 55 प्रतिशत की कमी आई है। पहले देश के 135 जिले नक्सल प्रभावित थे, जो वर्तमान में 35 रह गए हैं। इन जिलों में भी नक्सली घटनाओं में कमी आई है। यह 80 के दशक की समस्या है।

राजनाथ ने कहा, "जिन राज्यों में नक्सलवाद का प्रभाव है, वहां की सरकारें अपनी जिम्मेदारियां बखूबी निभा रही हैं। इसमें केंद्र सरकार पूरी मदद दे रही है। अर्धसैनिक बलों की 100 से अधिक बटालियन इन क्षेत्रों में तैनात हैं।"


मध्यप्रदेश में समानांतर टेलीफोन एक्सचेंज चलाकर भारत के सामरिक महत्व की जानकारी पाकिस्तान तक पहुंचाने के आरोप में पकड़े गए युवाओं के भाजपा से रिश्ते होने के सवाल पर सिंह ने कहा कि इस मामले की जांच एनआईए कर रही है, आरोपी बख्शे नहीं जाएंगे।

21 March, 2017

राहुल गाँधी के लिए खुशखबरी, गिनीज बुक में नाम दर्ज कराने के लिए छात्र ने भेजा नाम

राहुल गाँधी के लिए खुशखबरी, गिनीज बुक में नाम दर्ज कराने के लिए छात्र ने भेजा नाम

rahul-gandhi-name-in-guinness-book
नई दिल्ली, 21 मार्च: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के लिए एक खुशखबरी है क्योंकि मध्य प्रदेश के एक छात्र ने उनका नाम गिनीज बुक में दर्ज कराने के लिए भेजा है और गिनीज बुक वालों ने उनका आवेदन स्वीकार भी कर लिया है हालाँकि पूरी तरह से अप्रूवल के बाद ही उनका नाम गिनीज बुक में दर्ज किया जाएगा। 

एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक़ मध्य प्रदेश के एक इंजीनियरिंग छात्र विशाल दीवान राहुल गाँधी का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड्स में इसलिए शामिल करने के लिए भेजा है क्योंकि राहुल गाँधी जहाँ जहाँ प्रचार करते हैं वहां कांग्रेस हार जाती है, अब तक राहुल गाँधी 27 चुनावों में कांग्रेस को हरा चुके हैं। 

जानकारी के अनुसार विशाल दीवान ने राहुल गाँधी का नाम दर्ज कराने के लिए गिनीज बुक वालों को चिट्ठी लिही और उनका नाम दर्ज कराने के लिए फीस भी चुकाई, गिनीज बुक वालों ने उनका आवेदन प्राप्त करने का कन्फर्मेशन लेटर भी भेज दिया है।