Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts
Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts

Sep 13, 2017

MP के सतना जिले के स्कूलों में अब यस सर, यस मैडम की जगह छात्र बोलेंगे जय हिन्द, पढ़ें क्यों

MP के सतना जिले के स्कूलों में अब यस सर, यस मैडम की जगह छात्र बोलेंगे जय हिन्द, पढ़ें क्यों

mp-education-minister-vijay-shah-jai-hind-in-school-yas-sir-madam

मध्य प्रदेश में छात्रों को देशभक्त बनाने के लिए एक अनूठा प्रयोग किया जा रहा है और अगर यह प्रयोग सफल रहा तो पूरे राज्य में इसे लागू किया जाएगा ताकि छात्रों में शुरुआत से ही देशभक्ति का जज्बा जग सके. मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने यह प्रयोग सतना जिले के स्कूलों में किया है.

शिक्षा मंत्री विजय शाह ने सतना जिले के सभी स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि अब अटेंडेंस लगाते वक्त छात्र यस सर और यस मैडम नहीं बल्कि जय हिन्द बोलें. यह आदेश 1 अक्टूबर से लागू किया जाएगा.  इस जिले के स्कूलों में अब हाजिरी लगाते वक्त छात्र यस सर यस मैडम नहीं बोलेंगे बल्कि जय हिन्द बोलेंगे.

विजय शाह ने कहा कि अभी यह प्रयोग सिर्फ सतना जिले में यह, अगर प्रयोग सफल रहा तो मुख्यमंत्री से परमिशन लेकर इसे पूरे राज्य में लागू किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हमने यह आदेश सिर्फ सरकारी स्कूलों के लिए दिया है, प्राइवेट स्कूलों को भी कहा गया है लेकिन उन्हें सिर्फ सुझाव के तौर पर कहा गया है क्योंकि यह देशभक्ति से जुड़ा मामला है.

Sep 8, 2017

ब्रिलिएंट पब्लिक स्कूल में शिक्षकों ने बनाया छात्रों को मुर्गा, पीछे जमाया धड़ाधड़, वीडियो वायरल

ब्रिलिएंट पब्लिक स्कूल में शिक्षकों ने बनाया छात्रों को मुर्गा, पीछे जमाया धड़ाधड़, वीडियो वायरल

mp-brilliant-public-school-teacher-made-student-murga

मध्य प्रदेश के अशोकनगर में ब्रिलिएंट पब्लिक स्कूल का एक वीडियो वायरल हो गया है जिसमें स्कूल के शिक्षकों ने दर्जनों छात्रों को एक साथ मुर्गा बना दिया और उन्हें छत पर मुर्गा बनाकर चला दिया. जो छात्र मुर्गा बनकर नहीं चल पा रहे थे शिक्षक लोग उनके पीछे डंडे से धड़ाधड़ जमा भी रहे थे. यह वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है.

अशोक नगर के जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कि हमारे पास शिकायत आयी है, हम इस घटना के लिए जिम्मेदार शिक्षकों पर कार्यवाही करेंगे. छात्रों ने बताया है कि 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस पर वे लोग स्कूल नहीं आये थे इसलिए उन्हें मुर्गा बनाया गया और उनसे 50 रुपये भी मांगे गए.

Aug 20, 2017

शिवराज बोले: अबकी बार सभी बच्चों को फोन दूंगा लेकिन हाय-हेलो, हाउ डू यू डू के लिए नहीं बल्कि?

शिवराज बोले: अबकी बार सभी बच्चों को फोन दूंगा लेकिन हाय-हेलो, हाउ डू यू डू के लिए नहीं बल्कि?

shivraj-singh-promised-to-gift-12-th-pass-sudents-mobile-phone-mp

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल में छात्र सम्मलेन को संबोधित किया और उनके सामने अपनी सरकार का बखान था. उन्होंने सभी छात्रों से वादा किया कि पैसे की कमीं से किसी भी बच्चे की पढ़ाई नहीं रुकेगी, आपका यह मामा आपका खर्च उठाएगा. उन्होंने कहा कि मेरी आपके सामने एक शर्त है अगर आप डॉक्टर बनेंगे तो 3 साल गाँव में रहकर सेवा करनी पड़ेगी, अगर आप इंजीनियर बनेंगे तो हमारे देश के लिए और प्रदेश को आगे बढाने के लिए काम करना पड़ेगा, आपका भविष्य बनने के बाद देश की तरक्की के लिए काम करना पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि मेरे चाहे बेटे हों या बेटी, अगर 12वीं में 85 परसेंट लाते हैं तो हम उन्हें लैपटॉप दिलवाते हैं और अगर कॉलेज में एडमिशन लेते हैं तो इस बार हम फोन दिलवाएंगे. हम इसलिए फोन नहीं दिलवाएंगे कि आपको हाय-हेलो, हाउ डू यू डू करना है, बल्कि इसलिए ताकि पूरी दुनिया का ज्ञान उन बच्चों की ऊँगली के नीचे हो. वे जो चाहें वह जानकारी उनके सामने आ जाए इसलिए हमने उन्हें मोबाइल फोन देने की व्यवस्था की है.

शिवराज सिंह ने कहा कि हमारी सरकार में एक नहीं बल्कि अनेको योजनायें हैं लेकिन एक बात मेरे कलेजे में सुई की तरह चुभती थी, गरीब बच्चे हमसे कहते थे कि हमारे माँ-बाप हमारी पढ़ाई का खर्च नहीं उठा पा रहे हैं, हम कैसे पढ़ें, उसके बाद हमनें जितने भी गरीब बच्चे थे उनके लिए स्कॉलर की व्यवस्था की. हमने सभी वर्गों के गरीब बच्चों को यह स्कॉलर दी, हमने ST-SC, OBC के बच्चों को स्कॉलर दी तो सामान्य वर्ग के गरीब बच्चों को स्कॉलर दी, किसी के साथ भेदभाव नहीं दिया.

शिवराज सिंह ने कहा कि मेरे बच्चों, मैं आपके सपनों को मरने नहीं दूंगा, धन के अभाव में आपकी पढ़ाई रुकेगी नहीं, प्रतिभा कुंठित नहीं होगी, आपका कभी भी एडमिशन हो, चाहे IIM में, IIT में या मेडिकल कॉलेज में, आपकी पढ़ाई का खर्च मैं उठाऊंगा.

Aug 12, 2017

UP के बाद MP के भी मदरसा शिक्षा परिषद ने दिया 'आजादी दिवस मनाने, तिरंगा यात्रा निकालने का आदेश'

UP के बाद MP के भी मदरसा शिक्षा परिषद ने दिया 'आजादी दिवस मनाने, तिरंगा यात्रा निकालने का आदेश'

mp-madarsa-order-to-celebrate-independence-day-and-tiranga-march

उत्तर प्रदेश के बाद अब मध्य प्रदेश के भी मदरसा शिक्षा बोर्ड ने भी सभी मदरसों को आजादी दिवस मनाने और तिरंगा यात्रा निकालने के आदेश दिए हैं. मदरसा शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन सैयद इमाद उद्दीन ने कहा कि जो सच्चा इस्लाम का मानने वाला है उसे लाजमी तौर पर वतन से मुहब्बत करनी चाहिए इसलिए स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा और राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम भी गाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि इस अवसर सभी मदरसों में सांस्कृतिक कार्यक्रम मनाने के अलावा तिरंगा यात्रा निकालने का भी आदेश दिया गया है.

इससे पहले आज उत्तर प्रदेश के मदरसा शिक्षा परिषद ने नयी शुरुआत करते हुए सभी मदरसों को स्वतंत्रता दिवस पर सांस्कृतिक कार्यक्रम करने, राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम गाने और तिरंगा फहराने के आदेश दिए गए थे.

मदरसा शिक्षा परिषद् के आदेश की बीजेपी ने तारीफ की है. बीजेपी नेता सत्यपाल सिंह ने कहा कि यह शुरुआत बहुत अच्छी है और इससे देश के मुसलमानों को एक सीख मिलेगी. उन्होंने कहा कि वन्दे मातरम नारे ने देश की आजादी में बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी इसलिए देश के सभी नागरिकों को आजादी का जश्न मनाते हुए वन्दे मातरम जरूर गाना चाहिए.

उन्होंने यह भी कहा कि यह गीत देश के लोगों को यूनाइट करता है और मन में जोश पैदा करता है. उन्होंने कहा कि मदरसा शिक्षा परिषद् को यह शुरुआत बहुत पहले ही कर देनी चाहिए थी लेकिन कोई बात नहीं क्योंकि देर आये दुरुस्त आए. उन्होने कहा कि यह शुरुआत देश के युवाओं में देशभक्ति का जज्बा पैदा करेगी.

Aug 5, 2017

मध्य प्रदेश में दो सगे भाइयों ने कर डाली शादी: पढ़ें क्यों

मध्य प्रदेश में दो सगे भाइयों ने कर डाली शादी: पढ़ें क्यों

mp-news-2-brothers-married-to-appease-rain-god

मध्य प्रदेश में एक अजीब सी खबर आयी है, दो सगे भाइयों ने आपस में शादी कर ली है, यह सब Rain God यानी इंद्र भगवान को खुश करने के लिए किया गया है ताकि इंद्र भगवान खुश हो जाएं और बारिश कर दें.

यह घटना इंदौर के मूसाखेड़ी गाँव की है, लोगों का कहना है कि वहां बारिश ना होने से किसानों का नुकसान हो रहा है इसलिए भगवान को खुश करने के लिए दोनों की शादी करा दी गयी है. यह सब केवल भगवान को खुश करने के लिए किया गया है. सोशल मीडिया पर इस घटना के काफी आलोचना हो रही है, लोग इसे अन्धविश्वास मान रहे हैं.