Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts
Showing posts with label Madhya Pradesh. Show all posts

21 June, 2017

YOGA DAY: कांग्रेसी ऐसे लेट गए जैसे मर गए हों, पढ़ें क्यों?

YOGA DAY: कांग्रेसी ऐसे लेट गए जैसे मर गए हों, पढ़ें क्यों?

international-yoga-day-congress-workers-shavaasana-in-bhopal
Bhopal, 21 June: आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस है, देश विदेश में योग करके करोड़ों लोगों ने योग दिवस को धूम धाम से मनाया, भारत में बीजेपी नेताओं ने आम जनता के साथ जमकर योग किया तो कांग्रेस ने योग करने से परहेज किया क्योंकि कांग्रेस के युवराज अपनी नानी के घर इटली गए हैं इसलिए कांग्रेसियों को रास्ता दिखाने वाला कोई है.

योग के नाम पर भोपाल में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने सिर्फ शवासन किया, वो भी मंडसौर में पुलिस फायरिंग का विरोध करने के लिए. मतलब कांग्रेसियों ने योग दिवस को भी बीजेपी के खिलाफ प्रदर्शन करने का माध्यम बना लिया.

शवासन करने के लिए कांग्रेस शव की मुद्रा में लेट गए और ऐसा जाहिर किया जैसे वे मर गए हों, ऐसा करके वे मंडसौर फायरिंग में किसानों की मौत की याद दिलाना चाहते थे, कांग्रेसियों ने इसे प्रोटेस्ट योग का नाम दिया, यह आयोजन भोपाल में पार्टी ऑफिस से बाहर किया गया, मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा कि वे सरकार का किसानों की मौत पर ध्यान खींचने के लिए यह योगा कर रहे हैं.

20 June, 2017

पाकिस्तान की जीत पर पाकिस्तान-जिंदाबाद बोलकर फोड़े पटाखे, MP पुलिस ने पकडे 15 जिहादी गद्दार

पाकिस्तान की जीत पर पाकिस्तान-जिंदाबाद बोलकर फोड़े पटाखे, MP पुलिस ने पकडे 15 जिहादी गद्दार

mp-police-arrested-15-jihadi-gaddar-celebrating-paksitan-victory
New Delhi, 20 June: ICC Champions Trophy में पाकिस्तान द्वारा भारत के हारने से कम से कम एक फायदा तो हुआ है, हिन्दुस्तानियों को पता चल गया है कि कहाँ कहाँ जिहादी गद्दार बैठे हुए हैं, कहाँ के लोगों से खतरा है और कहाँ जिहादी गद्दार अधिक हैं.

पाकिस्तान की जीत और भारत की हार पर भारत के कई जगह खुशियाँ मनाई गयी, पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाकर पटाखे फोड़े गए, लोगों ने साबित कर दिया कि ये लोग खाते तो भारत का हैं लेकिन इनके दिल में पाकिस्तान बसा हुआ है, भारत में एक दो जगह नहीं, हजारों-लाखों जगह गद्दारों ने अपना असली रूप दिखाया है. कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक, जहाँ जहाँ भी घनी मुस्लिम आबादी थी वहां पर पटाखे फोड़े गए.

कल मध्य प्रदेश पुलिस ने 15 जिहादी गद्दारों को बुरहानपुर में गिरफ्तार कर लिया, इस जगह का नाम भी देखिये, कश्मीर के आतंकवादी बुरहान-वानी के नाम पर हैं जिससे साबित हो जाता है कि इनके दिनों में आतंक, जिहाद और पाकिस्तान ही बसा हुआ था. ये लोग पाकिस्तान की जीत के बाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने लगे और जमकर पटाखे फोड़े, लेकिन पुलिस ने 15 गद्दारों को गिरफ्तार कर लिया है. फोटो क्रेडिट ANI ट्विटर.

14 June, 2017

मंडसौर के किसानों से मिले शिवराज सिंह, मृतकों के बैंक खाते में डालेंगे 1 करोड़ रुपये

मंडसौर के किसानों से मिले शिवराज सिंह, मृतकों के बैंक खाते में डालेंगे 1 करोड़ रुपये

cm-shivraj-singh-meet-farmers-of-mandsaur-madhya-pradesh
New Delhi: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह आज मंडसौर के किसानों से मिले और मृतक किसान परिवारों का दुःख साझा करके मृतकों को श्रधांजलि दी. शिवराज सिंह दो दिवसीय मंडसौर दौरे पर गए हैं और वे यहाँ के किसानों से मिलकर उनकी सभी समस्याओं को सुनेंगे.

शिवराज सिंह ने मृतक किसान परिवारों से वादा किया कि - किसान आन्दोलन के दौरान हुई हिंसा में जान गंवाने वाले घनश्याम धाकड़ के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा सरकार उठाएगी, इसके अलावा घनश्याम धाकड़ के परिजनों के बैंक खाते में RTGS के माध्यम से 1 करोड़ रुपये भी ट्रांसफर कर दिए गए हैं.

घनश्याम धाकड़ के अलावा शिवराज सिंह किसान आन्दोलन में जान गंवाने वाले ग्राम लोध के सत्यनारायण के पिता मांगीलाल से भी मिलकर संवेदनाएं व्यक्त की, उन्होंने इस परिवार के लोगों के बैंक खाते में 1 करोड़ रुपये जमा करवा दिए साथ ही वादा किया कि इस परिवार की गिरवी जमीन को जल्द ही छुड़वा दिया जाएगा. इसके अलावा परिवार के किसी एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी.

इसके बाद शिवराज सिंह नीमच के नयाखेड़ा में मृतक चैनसुख पाटीदार के निवास पर पहुंचकर परिजनों से मिले और शोक संवेदना व्यक्त की, शिवराज सिंह ने इस परिवार की भी हर संभव मदद करने का भरोसा जताया.

इसके बाद शिवराज सिंह मंडसौर के बरखेड़ा पंथ के अभिषेक पाटीदार के घर पहुंचकर श्रधांजलि दी, शिवराज सिंह ने अभिषेक के पिता दिनेश पाटीदार, माँ रूपा बाई पाटीदार और भाइयों मधुसूदन एवं संदीप से भेंट की और परिवार को 1 करोड करोड़ रुपये मुआवजा बैंक खाने में भेजने का वादा किया.

13 June, 2017

शांत पड़े मंडसौर में आग भड़काने जा रहे थे हार्दिक पटेल, पुलिस ने किया गिरफ्तार

शांत पड़े मंडसौर में आग भड़काने जा रहे थे हार्दिक पटेल, पुलिस ने किया गिरफ्तार

hardik-patel-arrested-in-neemach-going-mandsaur-madhya-pradesh
Neemach: मध्य प्रदेश का हिंसा प्रभावित क्षेत्र मंडसौर अब पूरी तरह से शांत हो चुका है लेकिन अब भी राजनेता यहाँ फिर से दंगे भड़काने का प्रयास कर रहे हैं ताकि इन्हें मोदी सरकार और बीजेपी के खिलाफ मुद्दा मिले, आज घोर मोदी विरोधी नेता हार्दिक पटेल भी मध्य प्रदेश की जनता को मोदी सरकार के खिलाफ भड़काने के लिए मंडसौर जा रहे थे लेकिन उन्हें भी नीमच में गिरफ्तार कर लिया गया.

हार्दिक पटेल चाहते हैं कि मध्य प्रदेश की तरह गुजरात में भी किसान आन्दोलन करें और यहाँ भी हिंसा भड़के ताकि बीजेपी के खिलाफ बड़ा मुद्दा मिल सके, हार्दिक पटेल जानते थे कि उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा इसके बावजूद भी वे मंडसौर के लिए निकल पड़े, हार्दिक पटेल जानते हैं कि उनकी गिरफ्तारी के बाद गुजरात के पटेल समाज के खून में उबाल आएगा और वे गुजरात में भी हिंसा-प्रदर्शन शुरू कर देंगे, अगर यहाँ भी बीजेपी सरकार ने उपद्रवियों पर गोलियां चला दी और कुछ लोग मर गए तो हार्दिक पटेल को मुंह माँगी मुराद मिल जाएगी क्योंकि वे फिर से बीजेपी के खिलाफ एक बड़ा आन्दोलन शुरू कर सकेंगे.

हार्दिक पटेल की योजनानुसार मध्य प्रदेश पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है, अब देखना ये है कि गुजरात के पटेल हार्दिक पटेल के झांसे में फंसकर गुजरात में प्रदर्शन, हिंसा और आगजनी करते हैं या नहीं.
सिर्फ 2 दिन का उपवास और खर्च किये 2 करोड़ रुपये, ट्विटर पर शिवराज का उड़ाया जा रहा 'उपहास'

सिर्फ 2 दिन का उपवास और खर्च किये 2 करोड़ रुपये, ट्विटर पर शिवराज का उड़ाया जा रहा 'उपहास'

dhongi-bjp-dhongi-cm-trending-on-twitter-shivaj-singh-slamed
भोपाल: मध्य प्रदेश में कांग्रेसी नेताओं द्वारा जगह जगह हिंसा और आगजनी के विरोध में सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने उपवास शुरू करके नहले पर दहला मारा था, देखते ही देखते मध्य प्रदेश शांत पड़ गया, लोग शिवराज सिंह की तारीफ करने लगे, उन्होंने किसानों को अच्छी तरह से अपना सन्देश भी दिया और किसानों ने उनकी बात को समझा भी लेकिन किसी को अंदाजा नहीं था कि शिवराज सिर्फ एक दिन में अपना उपवास ख़त्म करने 2 करोड़ का टेंट उखाड़ देंगे.

इस उपवास कार्यक्रम में शिवराज सिंह ने हर व्यवस्था की थी, फाइबर के टेंट लगाए गए थे, मुख्यमंत्री, मंत्रियों और बाबुओं के लिए कमरे बनाए गए थे, उनके लिए कूलर, पंखे, बेड, बिस्तर लगाए गए थे, सभी मंत्रियों का ऑफिस तम्बू में ही अरेंज कर दिया गया था, शिवराज सिंह ने दशहरा मैदान से ही सरकार चलाने का दावा किया था, ऐसा लगता था कि कम से कम 10 दिन तक यहाँ से सरकार चलेगी, यह सब व्यवस्था करने के लिए 2 करोड़ रुपये से अधिक खर्चा किया गया था, भारी सुरक्षा व्यावस्था तैनात थी, हर कोने को CCTV कैमरों की निगरानी में कर दिया गया था, परिंदा भी पर नहीं मार सकता था लेकिन अचानक ही शिवराज ने नारियल पानी पीकर उपवास ख़त्म कर दिया.

शिवराज सिंह के इस अनशन-उपवास की आज ट्विटर पर जमकर आलोचना हो रही है, उनका जमकर उपहास उड़ाया जा रहा है क्योंकि 2 करोड़ के खर्चे में उन्होने दो दिन तक भी उपवास नहीं किया, उन्होंने पहले दिन 12 बजे के करीब उपवास शुरू किया, भाषण दिया, शाम हो गयी, रात हो गयी, दूसरे दिन वे 10 बजे फिर उपवास स्थल पर आए और भाषण दिया और 12 बजे नारियल पानी पीकर उपवास ख़त्म कर दिया.

अब लोग बोल रहे हैं कि अगर 24 घंटे ही उपवास करना था तो 2 करोड़ रुपये खर्च करने की क्या जरूरत थी, कहीं भी टेंट लगाकर बैठ जाते, मीडिया कैमरे लेकर पहुँच जाती, लेकिन इतना तामझाम करने के बाद सिर्फ 24 घंटे का उपवास किया. देखिये ट्विटर पर क्या लिख रहे लोग -