Sep 22, 2017

हरियाणा सरकार की बैलगाड़ी की रफ़्तार, CBI ने आज दर्ज की प्रद्युम्न मर्डर केस में FIR


cbi-register-fir-in-pradumn-murder-case-in-ryan-international-school

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पिछले हफ्ते रेयान स्कूल में 7 वर्षीय मृतक छात्र प्रद्युम्न के परिवार से मिलकर कहा था कि हमने ये केस CBI को दे दिया है, लोगों को ऐसा लगा कि खट्टर ने सच में यह केस CBI को दे दिया है लेकिन बाद में पता चला कि खट्टर ने सिर्फ हवा में बातें की हैं क्योंकि हरियाणा के गृह सचिव की तरफ से 3-4 दिनों तक CBI के पास चिट्ठी ही नहीं भेजी गयी थी. खैर जब मामले ने तूल पकड़ा और मीडिया में ख़बरें आयीं तो हरियाणा के गृह सचिव ने आनन फानन में CBI को चिट्ठी भेजी, वैसे तो स्पीड पोस्ट और फैक्स का ज़माना है इसलिए चिट्ठी 10 मिनट में फैक्स के जरिये CBI को पहुँच जानी चाहिए थी, अगर स्पीड पोस्ट से भी चिट्ठी भेजी जाती तो एक दिन लगते लेकिन CBI के पास चिट्ठी पहुँचने में पांच दिन लग गए. आज CBI ने प्रद्युम्न मर्डर केस में FIR रजिस्टर कर ली है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा सरकार और CBI की बैलगाड़ी जैसे रफ़्तार देखकर प्रद्युम्न के परिजन कल सुप्रीम कोर्ट जाने वाले थे, शायद इसी बात से डरकर CBI ने फटाफट FIR दर्ज की है, यह भी रिपोर्ट आ रही है कि इस लेट लतीफी में CBI की कोई गलती नहीं है क्योंकि उन्हें हरियाणा सरकार से आज ही चिट्ठी मिली है.

इस मामले को लेकर हाई कोर्ट भी सीरियस हो चुका है इसलिए रेयान के मालिकों को जमानत अर्जी खारिज कर दी है. हाई कोर्ट द्वारा जमानत याचिका खारिज होते ही रेयान के मालिकों को गिरफ्तार कर लिया जाना चाहिए था लेकिन हरियाणा की पुलिस ने यह काम भी नहीं किया इसलिए कुछ लोग कह रहे हैं कि रेयान स्कूल को बचाने की कोशिश की जा रही है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रेयान स्कूल में प्रद्युम्न की हत्या 8 सितम्बर को हुई थी लेकिन यह केस CBI तक पहुँचते पहुँचते 14 दिन लग गए, प्रद्युन के परिजनों को शक है कि सबूतों को मिटाने के लिए रेयान स्कूल वालों को मौका दिया जा रहा है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: