Feb 3, 2018

करणी सेना ने किया पद्मावत को पास तो साध्वी देवा बोलीं, इन्होने देख लिया दीपिका का लुंगी डांस


sadhvi-deva-thakur-slammed-karni-sena-leader-on-padmaavat-protest

नई दिल्ली: अब पूरे देश के सामने करणी सेना की पोल खुल गयी है, जिस फिल्म के विरोध में उन्होंने राजपूतों की भावनाएं भड़काकर पूरे देश में हिंसा-आगजनी करवाई, अब उसी फिल्म को इन्होने पास कर दिया है और बहुत अच्छी फिल्म बताते हुए देश के सभी सिनामघरों में लगाने की अपील की है.

करणी सेना का असली रूप देखकर साध्वी देवा ठाकुर ने इनके नेताओं का जमकर मजाक उड़ाया है, उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है - करणी सेना के नेताओं ने बंद कमरे में दीपिका का लुंगी डांस देख लिया है जिसकी वजह से अब इन्हें फिल्म अच्छी लगने लगी है. उन्होंने कहा कि आज इन्होने महारानी पद्मावत को बेच दिया है तो कल को अपनी माँ को भी बेच सकते हैं.

उन्होंने कहा कि आज मुझे बहुत तकलीफ हो रही है, चंद लोग इकठ्ठा हुए, ड्रामेबाजी की और आज उन्होंने लेटर जारी कर दिया, पद्मावत फिल्म को पास कर लिया, उसकी तारीफ कर दी, डूब मरना चाहिए ऐसे लोगों को.

उन्होंने समाज के तमाम युवाओं से अपील करते हुए कहा - जो लोग जाति के नाम पर जहर फैलाते हैं, उन लोगों को जवाब देने का आप लोगों का फर्ज बनता है. आप उन्हें जवाब दीजिये. इन लोगों के काले कारनामें, बुराइयां और बंद कमरे में बैठकर बो सारे समझौते करना, बंद कमरे में बैठकर समाज एवं हिंदुत्व को बेचना, इन सब चीजों को सामने लाने की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि ये लोग बंद कमरे में बैठकर डील करते हैं लेकिन इनकी बातों में आकर सर कोई और फुडवाता है, जेल कोई और जाता है. इन लोगों को शर्म आनी चाहिए.

करणी सेना ने लिया यु-टर्न, पद्मावत की तारीफ

करणी सेना ने अपने सभी समर्थकों से आन्दोलन ख़त्म करने की अपील की है और एक लेटर जारी किया है जिसमें लिखा है - हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के निर्देशानुसार हमने आज दिनांक 2 फ़रवरी को मुंबई में फिल्म पद्मावत देखी.

हम यह बताते हुए बहुत गर्व अनुभव कर रहे हैं कि फिल्म पद्मावत में राजपूतों की वीरता और त्याग का बहुत ही सुन्दर चित्रण किया गया है, यह फिल्म महारानी पद्मावती की महानता को समर्पित है.

इस फिल्म में महारानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच में कोई भी दृश्य नहीं है, इस फिल्म में ऐसा कोई भी दृश्य नहीं है जो राजपूतों की भावनाओं को नुकसान पहुंचाए.

हम इस फिल्म से पूर्णतः संतुष्ट हैं इसलिए हम हमारा आन्दोलन विरोध बिना शर्त के वापस लेते हैं, साथ ही आपको आश्वासन देते हैं कि हम इस फिल्म को राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात एवं भारत के सभी सिनेमाघरों में प्रदर्शित करने में आपका एवं फिल्म वितरकों का पूर्णतः सहयोग करेंगे.

rajput-karni-sena-letter-on-padmaavat
पोस्ट शेयर करें, कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट करें
loading...

0 comments: