Feb 4, 2018

गुजरात में 3 लफंगों को खड़ा किया, राजस्थान में करणी सेना को, 2019 तक कांग्रेस यही सब करेगी: काजल


kajal-hindustani-exposed-congress-link-with-karni-sena-to-break-hindu

नई दिल्ली: पद्मावत फिल्म से पहले करणी सेना ने फिल्म के प्रति ऐसी अफवाह फैलाई कि लोगों ने यकीन कर लिया और विरोध प्रदर्शन में करणी सेना का साथ दिया, लेकिन अब लोगों की आँखों से चश्मा उतर चुका है क्योंकि करणी सेना ने ना सिर्फ आन्दोलन वापस ले लिया है है फिल्म की तारीफ़ भी की है, अब हिन्दू लोग खुद को ठगा हुआ सा महसूस कर रहे हैं, यह विरोध पद्मावात फिल्म का नहीं था बल्कि राजपूतों और हिन्दुओं को बीजेपी के खिलाफ भड़काकर कांग्रेस को राजस्थान उपचुनावों में फायदा पहुंचाने के लिए किया गया था और उसका फायदा कांग्रेस को हुआ भी, क्योंकि करणी सेना चुपचाप जाकर कांग्रेस की गोद में बैठ गयी और उसके उकसावे पर राजस्थान के राजपूतों और हिन्दुओं ने कांग्रेस को वोट दिया.

इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए सोशल एक्टिविस्ट काजल हिन्दुस्तानी ने कहा है कि दरअसल ये कांग्रेस का खेल है. कांग्रेस ने जिस तरह से गुजरात में तीन लफंगों - अल्पेश हार्दिक और जिग्नेश को खड़ा किया था, उसी प्रकार से राजस्थान में राजपूत समाज के ठेकेदारों करणी सेना को खड़ा कर दिया ताकि हिन्दुओं को तोड़कर फायदा लिया जा सके.

काजल ने कहा कि 2019 चुनाव तक कांग्रेस यही खेल खेलती रहेगी, हिन्दुओं को तोड़कर वह वापस सत्ता में आना चाहती है, हर समाज में एक एक ठेकेदार खड़े हो गए हैं, गुजरात में पाटीदार आन्दोलन, ओबीसी आन्दोलन, दलित आन्दोलन, राजस्थान में राजपूत आन्दोलन, गुर्जर आन्दोलन, हरियाणा में जाट आन्दोलन. अब सभी राज्यों में ऐसे ही आन्दोलन शुरू होंगे और बीजेपी के खिलाफ लोगों को भड़काया जाएगा.

उन्होंने करणी सेना के ठेकेदारों पर करारा हमला करते हुए कहा कि करणी सेना ने भले ही अपना स्वाभिमान बेच दिया, मैं अपना स्वाभिमान किसी भी कीमत पर नहीं बेचूंगी. मैं चाय बेच लूंगी, मैं पकौड़े बेच लूंगी, लेकिन मैं अपना ईमान, अपना धर्म, अपना राष्ट्रवाद किसी भी कीमत पर नहीं बेचूंगी. मैं अपने जुबान की बड़ी पक्की हूँ, करणी सेना ने भले ही पद्मावत फिल्म देख ली है लेकिन मैंने ना फिल्म देखी है और ना देखूंगी, मेरे परिवार का भी कोई व्यक्ति फिल्म नहीं देखेगा.

काजल ने कहा कि 2 तारीख को करणी सेना ने फिल्म देखी और कहा कि हमें कोई दिक्कत नहीं है, क्यों भाई, आपको 24 तारीख को हाथ जोड़ जोड़ कर कहा जा रहा था कि फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग लगी है, आप लोग आकर फिल्म देख लो, आपको तब नहीं देखना था, आपको तो हल्ला-गुल्ला करना था, आपको तो दबंगई करनी थी, आपको तो करनी थी गुंडई और आपने करी, इतना जान-माल का नुकसान गया, करोड़ों की प्रॉपर्टी गयी, इतना प्रोपेगेंडा आप लोगों ने चलाया, खैर जो हुआ सो हुआ.

काजल ने कहा कि मुझे एक परसेंट भी प्रॉब्लम ना तो राजपूत से है, ना पटेल से है, ना जाटों से है, ना मुझे SC, ST, OBC, दलित, किसी से दिक्कत नहीं है, मुझे दिक्कत उन लोगों से है जो ये गलत इश्यु क्रियेट करके हमें बांटने की कोशिश कर रहे हैं.
पोस्ट शेयर करें, कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट करें
loading...

0 comments: