Jan 20, 2018

अब उपदेश राणा को सिर्फ हिन्दुओं पर भरोसा, अगर सिनेमाघरों में सीटें हुई फुल तो जलेगी उनकी चिता


updesh-rana-will-burnt-alive-if-hindu-will-watch-film-padmavat

नई दिल्ली: उपदेश राणा ने कहा है कि अब पद्मावत फिल्म को रिलीज होने से कोई नहीं रोक सकता क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म पर से बैन हटा लिया है. उन्होंने कहा कि यह सिर्फ पद्मावती फिल्म का विरोध नहीं है बल्कि हिन्दुओं की अस्मिता का सवाल है. अगर पद्मावती फिल्म रिलीज हुई तो यह हिन्दुओं की अस्मिता की हार होगी. अगर हिन्दुओं की अस्मिता हार गयी तो उपदेश राणा जिल्लत की जिंदगी नहीं जी पाएगा और खुद का आत्मदाह करेगा.

उपदेश राणा ने कहा कि मैं फिल्म की रिलीज के पहले दिन कलेक्शन देखूंगा, अगर सिनेमाघरों में सीटें फुल हुईं और संजय लीला भंसाली की कमाई हुई तो मैं पहले दिन ही आत्मदाह कर लूँगा. 

उन्होंने कहा कि अब मुझे सिर्फ हिन्दुओं के खून पर भरोसा है, अगर मेरी हार होगी, अगर मेरी मांग नहीं मानी गयी तो मैं जरूर आत्मदाह करूँगा. अगर मुझे बचाना चाहते हैं तो इस फिल्म को बैन करवाएं या फिल्म को देखने ही ना जाएं. मेरी आप लोगों से हाथ जोड़कर अपील है कि ना तो खुद इस फिल्म को देखें और ना ही दूसरे लोगों को देखने देंगे, भले ही लोगों के हाथ जोड़ने पड़ें. अधिक से अधिक लोगों को फिल्म देखने से रोकें.

उपदेश राणा ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट हिन्दुओं की ताकत देखना चाहता है, अगर यह फिल्म रिलीज हो गयी और हिन्दू अपनी ताकत नहीं दिखा पाए तो कल को राम मंदिर के खिलाफ फैसला आ जाएगा, उस वक्त आप क्या करोगे. तब कौन आन्दोलन करेगा. क्या हम राम मंदिर के खिलाफ फैसला भी मंजूर कर लेंगे. सुप्रीम कोर्ट को हिन्दुओं को एकजुट होकर अपनी ताकत दिखानी चाहिए वरना कल को आपके साथ ही बुरा होगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: