Jan 6, 2018

फंसेगी गुरुग्राम पुलिस, कानून मंत्री और मोदी तक पहुंचेगी बॉबी कटारिया की बात, CBI जांच की मांग


sagita-dahiya-will-take-bobby-kataria-cese-to-modi-cbi-gurugram-police

गुरुग्राम: रईस समाजसेवी बॉबी कटारिया पर पर्स चोरी का इल्जाम लगाकर उन्हें घुटनों पर बैठाना और 6 दिन की रिमांड लेकर उन्हें टॉर्चर करना गुरुग्राम पुलिस को काफी मंहगा पड़ने वाला है. गुरुग्राम की समाजसेवी संगीता दहिया ने गुरुग्राम पुलिस पर गलत धाराएं लगाने का आरोप लगाते हुए फटकारते हुए कहा कि बात ख़त्म नहीं हुई है, बात तो अभी शुरू हुई है, यह मामला देश के कानून मंत्री, प्रधानमंत्री मोदी, राष्ट्रपति तक पहुंचाया जाएगा और CBI जांच की मांग की जाएगी.

आपको बता दें कि अगर सच में इस मामले की CBI जांच हो गयी तो गुरुग्राम पुलिस 6 महीनें में लगातार दूसरी बार फंसेगी क्योंकि अभी हाल ही में रियान स्कूल को बचाने के लिए प्रद्युमन मर्डर केस में पुलिस वालों ने स्कूल के ही बस कंडक्टर अशोक को टॉर्चर करके ह्त्या का गुनाह कबूल करवा दिया था लेकिन जब CBI जांच हुई तो हत्यारा कोई और निकला, लेकिन गुरुग्राम पुलिस की जमकर फजीहत हुई.

गुरुग्राम पुलिस ने यही काम बॉबी कटारिया मामले में किया है. उनपर 3000 के पर्स चोरी का केस लगाया है जबकि बॉबी कटारिया गुरुग्राम शहर के बीचो बीच बसे बसई गाँव में 1000 गज में बनी कोठी में रहते हैं और रईसों वाला जीवन जीते हैं, साथ में समाजसेवी संस्था युवा एकता फाउंडेशन चलाते हैं. संस्था के लिए पैसे मांगने पर पुलिस ने उनपर जबरन मसूली का केस (IPC की धारा 386) दर्ज कर रखा है. पुलिस को इसे भी साबित करना पड़ेगा. पुलिस ने इसी वजह से बॉबी कटारिया को अरेस्ट किया, 6 दिन तक टॉर्चर किया और कथित तौर पर उन्हें चलने लायक नहीं छोड़ा है.

अगर इस मामले की CBI से जांच करायी जाएगी तो बड़े बड़े लोगों के नाम सामने आ सकते हैं, बॉबी कटारिया ने कुछ दिनों पहले फरीदाबाद के अरावली स्कूल के मालिक धन सिंह भड़ाना से पंगा लिया था जो फरीदाबाद के ही सांसद और मोदी सरकार में मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर के रिश्तेदार हैं. कुछ लोग कह रहे हैं कि उन्हीं की वजह से सब कुछ हो रहा है. इन सभी चीजों का खुलासा सीबीआई जांच में हो सकता है. बॉबी कटारिया के समर्थन में देश भर से लाखों युवा आ गए हैं इसलिए मोदी सरकार की भी बदनामी हो रही है साथ खट्टर सरकार को खटारा बताया जा रहा है. अगर इस मामले में दोषियों को सजा नहीं मिली तो लाखों-करोड़ों युवाओं का पुलिस-प्रशासन और सरकार से भरोसा उठेगा और इसका नुकसान 2019 चुनाव में सिर्फ मोदी को होगा, बाकी तो किनारे हो जाएंगे.

कहा है बॉबी कटारिया का मामला

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आपसी अनबन की वजह से बॉबी कटारिया को गुरुग्राम पुलिस के SHO संदीप और SHO घनश्याम को गालियाँ दी, उसी दिन 24 दिसम्बर को रात में 11 बजे गिरफ्तार कर लिया. दूसरे दिन कोर्ट में पेश करके 4 दिन के रिमांड पर ले लिया और उसपर पर्स चोरी का आरोप लगा दिया जो किसी को पच नहीं रहा है क्योंकि बॉबी कटारिया अच्छे और समृद्ध परिवार से है ऐसे में वह किसी का पर्स कैसे चोरी कर सकता है. उसके बाद उसे 2 दिन के लिए फिर से रिमांड पर भेज दिया गया और इस तरह से उसे कुल 6 दिन की रिमांड पर लिया गया. उनपर धारा 386 और 504 का भी केस लगाया गया है.

गुरुग्राम पुलिस के पास 6 दिन रिमांड काटने के बाद उसे फरीदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और 2 दिन की रिमांड पर ले लिया, फरीदाबाद में उसपर एक स्कूल मालिक ने वसूली का केस दर्ज कर रखा है. अब गुरुग्राम और फरीदाबाद पुलिस की तानाशाही की खबर पूरे देश में फ़ैल रही है. फिलहाल बॉबी कटारिया फरीदाबाद की नीमका जेल में बंद हैं. उनका जमानत लेने की कोशिश की जा रही है, उनपर जबरन वसूली का केस है जिसकी वजह से उन्हें जमानत नहीं मिल पा रही है लेकिन हाई कोर्ट में जाने पर जमानत मिल सकती है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: