Jan 25, 2018

खूब पैसे बाँटें हैं भंसाली ने, 1 पत्थर फेंका गया तो राजपूतों को आतंकी बताने लगे मीडिया चैनल


media-channel-saying-karni-sena-rajpus-terrorist-bhansali-pay-him

गुरुग्राम: ऐसा लगता है कि पद्मवाती फिल्म के निर्माता संजय लीला भंसाली ने अधिकतर मीडिया चैनलों को खरीद लिया है, शायद यही वजह है कि स्कूल की एक बस पर किसी अज्ञात उपद्वावी ने एक पत्थर फेंका, बस का एक शीशा टूट गया, बच्चों को डराकर सीट के नीचे बैठा दिया गया, बस के अन्दर से बच्चों की वीडियो बनायी गयी, उस वीडियो को तुरंत मीडिया को दिया गया, मीडिया ने तुरंत ही इसका आरोप करणी सेना पर लगातार राजपूतों को उग्रवादी, आतंकवादी बोलना शुरू कर दिया.

पहली बात तो यह समझने लायक है कि बस पर हमला नहीं बल्कि किसी ने एक पत्थर फेंक दिया था, यह काम राजपूतों को बदनाम करने के लिए असामाजिक तत्त्व भी कर सकते हैं और भंसाली भी करवा सकते हैं, जब पत्थर फेंका गया तो बच्चों को डराकर सीट के नीचे बिठा दिया गया और बस के अन्दर से किसी ने वीडियो बना ली. यह सब एक प्लानिंग के तहत किया गया लगता है.

उसके बाद जो हुआ हुआ वह हैरान करने लायक है, मीडिया चैनलों ने इस खबर को इतना हाई लाइट कर दिया जैसे कि पाकिस्तान ने भारत पर हमला कर दिया हो, देखते ही देखते टीवी डिबेट शुरू हो गयी, अफजल गैंग मीडिया ने राजपूतों को आतंकवादी, उग्रवादी, एंटी नेशनल, पता नहीं क्या क्या बोलना शुरू कर दिया.

मीडिया लोग ऐसा काम तभी करते हैं जब उन्हें मोटा माल मिला होता है, ऐसा लगता है कि संजय लीला भंसाली ने अधकतर मीडिया चैनलों को खरीद लिया है, अधिकतर चैनल उसकी फिल्म का प्रमोशन कर रहे हैं और करणी सेना को आतंकवादी बता रहे हैं.

यह भी हो सकता है कि मीडिया के जरिये राजपूतों और करणी सेना को आतंकवादी बताकर भंसाली अपने थप्पड़ का बदला ले रहे हों क्योंकि करणी सेना के लोगों ने फिल्म की शूटिंग के समय उन्हें चांटा मारा था. 
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें
loading...

0 comments: