Jan 7, 2018

गुरुग्राम पुलिस की तानाशाही, नहीं निकालने दिया बॉबी कटारिया के लिए कैंडल मार्च, कई गिरफ्तार


gurugram-police-stopped-bobby-kataria-supporters-from-candle-march

गुरुग्राम: कोई सोच भी नहीं सकता कि मोदी की नाक के नीचे गुरुग्राम में खट्टर सरकार ऐसा भी कर सकती है. आज बॉबी कटारिया के समर्थक उसके लिए कैंडल मार्च निकालना चाहते थे, इसके लिए कल परमीशन भी ली गयी थी लेकिन पुलिस ने उन्हें कैंडल मार्च निकालने से रोकने के लिए कथित तौर पर हजारों पुलिस के जवान तैनात कर दिए, हर जगह नाके लगा दिए गए, पूरा राजीव चौक जाम कर दिया गया. 

पुलिस ने अपनी तानाशाही दिखाते हुए लोगों को कैंडल मार्च निकालने से भी रोक दिया, पुलिस ने बॉबी कटारिया के समर्थकों को देवीलाल स्टेडियम के बाहर इकठ्ठा ही नहीं होने दिया, जैसे ही 10-20 लोग कहीं पर इकठ्ठे होते, पुलिस वाले वहां पहुंचकर लाठीचार्ज कर देते. कथित तौर पर पुलिस ने कई लोगों को जमकर पीटा.

पुलिस किसी भी कीमत पर बॉबी कटारिया के समर्थकों को कैंडल मार्च नहीं निकालने देना चाहती थी, पहले ही 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका था, उसके बाद भी संगीता दहिया ने बॉबी कटारिया की माँ के साथ कैंडल मार्च निकालने की कोशिश की तो पुलिस ने वहां पर आकर उन्हें जबरदस्ती रोक दिया और लाठीचार्ज कर दिया.

संगीता दहिया ने पुलिस-प्रशासन को लताड़ा

संगीता दहिया ने गुरुग्राम के पुलिस प्रशासन को लताड़ते हुए खट्टर सरकार, मोदी सरकार, राष्ट्रपति और न्यायिक सिस्टम से सवाल किया. उन्होंने कहा कि आज की तारीख में बॉबी कटारिया का मुद्दा बहुत बड़ा मुद्दा है लेकिन आप लोगों ने अपनी ऑंखें बंद कर रखी हैं, पुलिस ने यहाँ पर लाठीचार्ज किया, हमारे लोगों को इकठ्ठा नहीं होने दिया, कई लोगों को गिरफ्तार किया, हमें रोकने के लिए यहाँ पर करीब 1000 पुलिस वालों को तैनात किया गया है. 

उन्होंने कहा कि बॉबी कटारिया की माँ भी हमारे साथ हैं, इनसे इनका बच्चा छीन लिया गया, उसे मार मार कर घुटनों पर बिठा दिया, वह चल भी नहीं पा रहा है. इस मामले में एक SIT बिठाई जाय, आप लोग निष्पक्ष तरीके से जांच कराएं, हमने गुरुग्राम पुलिस की हरकत प्रद्युमन केस में देख लिया है, किस तरह से गुरुग्राम पुलिस की किरकिरी हुई थी.

उन्होंने कहा कि मोमबत्ती का मतलब होता है कि शांतिपूर्वक अपील, मैं मोदी जी से कहना चाहती हूँ, इस माँ को देखो, इस माँ की अपील सुनो, इस माँ की अपील सुनकर न्याय बिठाओ, उस माँ की बात सुनकर न्याय करो, बॉबी कटारिया एक समाजसेवी है, अपशब्द बोलकर उसनें गलती की है लेकिन उसी के अनुसार उसे सजा दी जाय ना कि उसके ऊपर कानूनी आतंकवाद दिखाया जाय , पुलिस वालों का कानूनी आतंकवाद नहीं चलेगा.

उन्होंने मोदीजी से कहा - अगर हिंदुस्तान में इस तरह की स्थिति हो रखी है कि पुलिस वाले ही इस तरीके की हरकत करेंगे तो हम कहाँ जाएंगे, हम आज कैंडल मार्च कर रहे हैं लेकिन यहाँ पर भारी मात्रा में पुलिस है, पुलिस हमें कैंडल मार्च नहीं निकालने दे रहे हैं, पुलिस वालों ने यहाँ पर लाठीचार्ज किया है, फरीदाबाद से कई माँ-बहने आयी थीं लेकिन पुलिस ने उन्हें उठाकर थाने में बंद कर दिया है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: