Dec 31, 2017

पीएम मोदी ने सुना दी मुस्लिम महिलाओं को एक और खुशखबरी, मोदी के लिए दुवा मांगने लगी महिलायें


pm-modi-gift-muslim-women-could-go-haj-yatra-without-mehram

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज मन की बात में देश की जनता को संबोधित किया और मुस्लिम महिलाओं को बड़ी खुशखबरी सुनायी. उन्होंने कहा कि हमारी जानकारी में एक बात आयी कि यदि कोई मुस्लिम महिला हज यात्रा के लिए जाना चाहती है तो वह मेहरम या अपने मेल गार्जियन के बगैर नहीं जा सकती.

मोदी ने कहा कि - मैंने इसके बारे में पहली बार सूना तो मुझे लगा कि ऐसा कैसे हो सकता है. ऐसे नियम किसने बनाए. ऐसा भेदभाव क्यों, मैं जब इसकी गहराई में गया तो हैरान हो गया. आजादी के 70 साल के बाद भी यह पाबंदी लगाने वाले हमीं लोग थे, दशकों से मुस्लिम महिलाओं के साथ अन्याय हो रहा था लेकिन कहीं कोई चर्चा नहीं होती थी, यहाँ तक कि कई इस्लामिक देशों में भी यह पाबंदी नहीं है लेकिन भारत में मुस्लिम महिलाओं को यह अधिकार प्राप्त नहीं था.

मोदी ने कहा कि मुझे ख़ुशी है कि हमारी सरकार ने इसपर ध्यान दिया, अल्पसंख्यक मंत्रालय ने इसपर आवश्यक कदम उठाये और 70 साल से चली आ रही इस परंपरा को हमने ख़त्म कर दिया, आज मुस्लिम महिलाएं मेहरम के बिना हज के लिए जा सकती हैं, मुझे ख़ुशी है कि इस बार लगभग 1300 महिलाएं मेहरम के बिना हज यात्रा पर जाने के लिए अप्लाई कर चुकी हैं. देश के अलग अलग भागों से, केरल से लेकर उत्तर तक महिलाओं ने बढ़ चढ़ कर हज यात्रा में हिस्सा लेने की कोशिश की है.

मोदी ने कहा कि हमारी सरकार के अल्पसंख्यक मंत्रालय को मैंने सुझाव दिया है कि वे यह सुनिश्चित करें कि ऐसी सभी महिलाओं को हज यात्रा पर जाने की अनुमति दें जो अकेले अप्लाई कर रही हैं, आमतौर पर हज यात्रा पर जाने वालों के लिए लाटरी सिस्टम है लेकिन महिलाओं को लाटरी सिस्टम से बाहर रखा जाय और उन्हें विशेष श्रेणी में अवसर दिया जाय. मेरी दृढ मान्यता है भारत की विकास यात्रा हमारी नारी शक्ति के बल पर, उनकी प्रतिभा के भरोसे आगे बढ़ी है और आगे बढ़ती रहेगी.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: