Dec 9, 2017

15 साल के बच्चे को गेम से हो गया इतना प्यार कि खेलने से रोकने पर माँ और बहन को मार डाला


greater-noida-boy-murder-mother-sister-for-stopping-mobile-game

नॉएडा: मोबाइल बच्चों को बिगाड़ता जा रहा है। बच्चों के हाँथ में मोबाइल पकड़ाना खतरे से खाली नहीं है। कभी कभी इससे बच्चे खुद बर्बाद हो जाते हैं तो कभी परिवार की जान के दुश्मन बन जाते हैं। हाल में ग्रेटर नोएडा में हुए दोहरे हत्याकांड का जिम्मेदार घर का 15 वर्षीय बेटा ही निकला। पुलिस ने उसे उत्तर प्रदेश के वाराणसी से पकड़ लिया है। हत्या करने के बाद वो वाराणसी भाग गया था। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो बच्चे ने पुलिस को बताया है कि उसकी माँ और बहन उसे मोबाइल पर गेम खेलने से मना करते थे इसलिए उन्हें मार दिया।

मालुम हो कि ग्रेटर नोएडा के गौर सिटी सोसायटी-दो में सौम्य अग्रवाल अपने परिवार के साथ रहते हैं। चार दिसंबर की रात सौम्य की पत्नी अंजलि व बेटी मनिकर्णिका की हत्या कर दी गई थी। घटना के बाद से उनका बेटा गायब था। घटना वाले दिन सौम्य बिजनेस के सिलसिले में बाहर गए थे। जांच में पुलिस ने बाथरूम में बेटे के कपड़े बरामद किए थे, जिस पर खून के निशान थे। साथ ही सीसीटीवी फुटेज में बेटा बैग टांगकर घर से बाहर जाते हुए दिखाई दिया था।

पुलिस यह मानकर चल रही थी कि बेटे ने ही हत्या की घटना को अंजाम दिया है। बेटे के मोबाइल की अंतिम लोकेशन दिल्ली के चांदनी चौक में मिली थी। पुलिस को पता चला कि दिल्ली से ट्रेन पकड़कर वह मुगलसराय चला गया था। वहां से ट्रेन से ही बनारस चला गया था। जहाँ वो अस्सी घाट पर गुमसुम बैठा था और पुलिस की उसपर निगाह पडी और पकड़ा गया। आज पुलिस प्रेस वार्ता कर पूरी जानकारी दे सकती है।
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: