Dec 27, 2017

कल तक पाकिस्तानी नेताओं को दिल्ली में दावत दे रहे थे कांग्रेसी नेता, आज कह रहे एक्शन लो, वाह


congress-party-changing-pakistan-policy-speaking-against-pakistan

कांग्रेस पार्टी अब एक और एक्सपेरिमेंट करने जा रही है, पहले उसनें सॉफ्ट हिंदुत्व की पॉलिटिक्स खेली, राहुल गाँधी को जनेऊधारी हिन्दू बनाया गया और कांग्रेस पार्टी को गुजरात में इसका फायदा मिला, अब कांग्रेस को सफलता का रास्ता दिख रहा है, अब कांग्रेस प्रो-पाकिस्तानी से एंटी पाकिस्तानी बन रही है, मतलब पाकिस्तान के प्रति नरम रूख छोड़कर आक्रमण बयान दे रही है ताकि उसे 2019 लोकसभा चुनाव में इसका भी फायदा मिले.

अगर आपको याद ना हो तो बता दें, पूर्व कांग्रेस सरकार में पाकिस्तान और उनके आतंकियों के साथ नरमी से पेश आया जाता था, पिछले तीन साल में जितने आतंकी मारे गए कांग्रेस के 10 सालों में भी नहीं मारे गए. मोदी सरकार ने पाकिस्तान के खिलाफ आक्रामक रूख अपनाया है. बीजेपी को इसका फायदा भी मिला है. अब यही आक्रामक रूख कांग्रेस भी अपनाने का दिखावा कर रही है और पाकिस्तान के खिलाफ बयानबाजी करके खुद को देशभक्त पार्टी साबित करने की कोशिश कर रही है हालाँकि यही कांग्रेस पार्टी जब आतंकी हाफिज सईद छूट जाता है तो तालियाँ भी बजाती है.

आपने देखा होगा कि गुजरात चुनाव से ठीक पहले कांग्रेसी नेताओं ने पाकिस्तानी नेताओं को दिल्ली में चुपचाप दावत दी थी, इस दावत में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, मणिशंकर अय्यर, पूर्व सेना अध्यक्ष दीपक कपूर और अन्य लोग शामिल हुए थे, पहले इन लोगों ने मुलाकात की बात छुपानी चाही लेकिन जब बात सामने आ गयी तो मनमोहन सिंह ने कहा कि मोदी सरकार पाकिस्तान से अच्छे रिश्ते नहीं बना पायी इसलिए हम अपनी तरफ से कोशिश कर रहे हैं.

सिर्फ 15 दिन में कांग्रेस पार्टी ने अपनी पॉलिसी बदल दी है और पाकिस्तान के खिलाफ आक्रामक रूख अपना लिया है, कल तक ये लोग पाकिस्तानी नेताओं को दिल्ली में दावत दे रहे थे लेकिन आज पाकिस्तान के खिलाफ कड़े एक्शन की मांग कर रहे हैं, ऐसा इसलिए ताकि इन लोगों ने जिस तरह से बीजेपी ने हिन्दुओं का वोट छीना उसी तरह से एंटी-पाकिस्तानी वोट भी छीन लें और 2019 में सरकार बना लें.

कांग्रेस बहुत चालाक पार्टी है, अपना रूप हर दिन बदलती रहती है, इनके नेता पाकिस्तान में मोदी को ख़त्म करने की अपील करके आते हैं, जब मोदी अपनी तरफ से पाकिस्तान से रिश्ते सुधारने की कोशिश करते हैं तो यही कांग्रेसी नेता कहते हैं कि मोदी ने तो नवाज शरीफ की माँ के पैर चूम लिए, ये वहां पर दावत खाने गए थे लेकिन जब मोदी सरकार पाकिस्तान के हमलों का जवाब देती है तो यही कांग्रेसी नेता कहते हैं कि मोदी सरकार पड़ोसियों से अच्छे सम्बन्ध बनाने में फेल हो गयी है. मतलब कांग्रेस पार्टी को कोई समझ नहीं सकता.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: