Nov 7, 2017

राजनाथ सिंह ने कांग्रेस पार्टी को झूठ बोलने और दुष्प्रचार करने में दिया नंबर वन का ख़िताब


rajnath-singh-told-congress-party-biggest-lair-dushprachar-in-world

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज शिमला में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी पर जमकर हमला बोला और उसकी हार की भविष्यवाणी भी कर दी. उन्होंने कहा कि इस देश में अगर किसी राजनीतिक पार्टी को दुष्प्रचार करने में महारत हासिल है तो वह कांग्रेस है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि आर्थिक मोर्चे पर वह दुष्प्रचार करके हमारी केंद्र की सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है. निसंदेह नोटबंदी और GST बड़े फैसले हैं और यह देश की अर्थव्यवस्था सुधारने के लिए किये गए हैं लेकिन थोड़े कड़े हो सकते हैं.

राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत ही नहीं दुनिया के किसी भी देश के इतिहास को अगर देखें तो जब कभी भी आर्थिक मोर्चे पर बड़े और कुछ कड़े फैसले लिए जाते हैं तो ये थोड़े समय के लिए पेन देने वाले होते हैं और लम्बे समय तक फायदे देने वाले होते हैं.

राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो जनहित में कुछ और बोल्ड फैसले हमारी सरकार कर सकती है. हमारे लिए जनता सर्वोपरि है, देश सर्वोपरि है.

राजनाथ सिंह ने कहा कि वह कांग्रेस आर्थिक मोर्चे पर हमारे खिलाफ कुप्रचार कर रही है जिस कांग्रेस के शासन काल में मंहगाई भारत में डबल डिजिट में थी और हालात तो इस सीमा पर पहुँच गए थे कि GDP की ग्रोथ इन्फ्लेशन की ग्रोथ रेट से कम होती थी.

राजनाथ सिंह ने यह भी कहा कि देशवासियों को शायद याद नहीं होगा, इसी कांग्रेस पार्टी ने फिस्कल डेफिसिट बढ़ाई थी, करंट अकाउंट डेफिसिट बढ़ाई थी, ट्रस्ट डेफिसिट बढ़ाई.

आज वही कांग्रेस हमारी केंद्र की सरकार की कामयाबी को पचा नहीं पा रही है, अगर भारत की आर्थिक हालत इतनी खराब होती तो विदेशी निवेशक निवेश करने के लिए क्यों आते, भारत की अर्थव्यवस्था में विदेशी निवेश तेजी से बढ़ रहा है, आंकड़े इस बात के गवाह हैं. कांग्रेस सरकार के समय तो सारे देशी निवेशक हाईवे पर थे और सारे विदेशी निवेशक रन-वे पर थे.

उन्होंने वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट की चर्चा करते हुए कहा कि आर्थिक सुधारों का ही परिणाम है कि एक ही साल में Ease of Doing Business लिस्ट में 130 से 100वें स्थान पर आ गया. यही नहीं अभी भी भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ रही है.

उन्होंने कांग्रेस को सलाह देते हुए कहा कि विरोधी दलों को हर काम का सिर्फ इसलिए विरोध नहीं करना चाहिए कि वह विपक्षी दल हैं, उन्हें अच्छे कामों का समर्थन भी करना चाहिए, खासकर जब देश की अर्थव्यवस्था में सुधार करने वाले कामों का समर्थन करना चाहिए और अगर कुछ कमियां हों तो उसे दूर करने की सलाह देनी चाहिए.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: