Oct 20, 2017

बाबा की इक्षा थी कि केदारनाथ का पुनर्निर्माण उनका ये बेटा ही करे, इसलिए कांग्रेस को घर भेज दिया



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज उत्तराखंड में भगवान केदारनाथ का दर्शन किया और केदारनाथ के पुनर्निर्माण के लिए पांच योजनाओं की शुरुआत की. मोदी ने जनसभा को भी संबोधित किया और जय जय केदार के नारे लगाए. मोदी ने कहा कि कल हमारे देश में दीपावली का त्यौहार मनाया गया और आज से कई राज्यों में नूतन वर्ष (नव वर्ष) की शुरुआत होती है इसलिए आप सभी को नव वर्ष की शुभकामनाएं.

मोदी ने कहा कि आज फिर से बाबा जी ने मुझे अपने पास बुला लिया और मैं भी बाबा के पास खिंचा चला आया. मोदी ने बताया कि मैंने अपनी जिन्दगी के कुछ महत्वपूर्ण वर्ष बिताये थे, एक समय था जब मैं इस मिटटी में रम गया था लेकिन मेरी सेवा बाबाजी को मंजूर नहीं थी इसलिए मुझे दोबारा गुजरात भेज दिया.

मोदी ने कहा कि जब कुछ वर्ष पहले यहाँ बाढ़ की त्रासदी आयी थी तो सभी राज्यों के हजारों लोग यहाँ की धरते में समा गए थे, यहाँ पर सब कुछ बर्बाद हो गया था, उस समय मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था लेकिन मैं खुद को यहाँ पर आने से नहीं रोक पाया था, उस समय मैंने इस सरकार से केदारनाथ के पुनः-निर्माण का आग्रह किया था, मैंने बंद कमरे में सरकार से बात की लेकिन कुछ ही देर में टीवी पर ब्रेकिंग न्यूज़ आने लगी कि मोदी केदारनाथ का पुनर्निर्माण करना चाहता है, तुरंत ही दिल्ली वाले परेशान हो गए और राज्य सरकार को आदेश दिया कि मोदी को मना कर दो. उसके बाद राज्य सरकार ने प्रेस कांफ्रेंस करके कहा कि हमें गुजरात की मदद की जरूरत नहीं है, हम खुद पुनर्निर्माण कर लेंगे.

मोदी बोले कि राज्य सरकार ने भले ही मुझे मना कर दिया लेकिन बाबा केदारनाथ चाहते थे कि उनका पुनर्निर्माण उनका ये बेटा ही करे इसलिए पिछले चुनाव में उन्होंने कांग्रेस को घर भेज दिया, दिल्ली में और उत्तराखंड में हमारी सरकार बना दी इसलिए हमने केदारनाथ के पुनर्निर्माण का काम शरू किया है, आज हमने पांच योजनाओं की शुरुआत की है. केदारनाथ का हर तरफ से विकास किया जाएगा. मैं जानता हूँ कि इसमें काफी खर्चा आएगा लेकिन मेरा मानना है कि एक बार देशवासी तय कर लें तो वे जैसा पुनर्निर्माण चाहते हैं वैसा करने से कोई नहीं रोक सकता.

उन्होंने उद्योगो, देशवासियों और सभी राज्य सरकारों से केदारनाथ के पुनर्निर्माण करने में सहायता करने की अपील की. उन्होंने कहा कि यहाँ के विकास के साथ पर्यावरण को बचाने का भी वादा किया, उन्होंने कहा कि इसका पुनर्निर्माण तो किया जाएगा लेकिन पर्यावरण को भी बचाया जाएगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: