Oct 28, 2017

पहले कांग्रेस को भ्रष्टाचार से पहचाना जाता था लेकिन अब कांग्रेस का हाथ आतंकवादी के साथ: नकवी


mukhtar-abbas-naqvi-told-congress-ka-haath-har-atankwadi-ke-sath

आज बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सोनिया गाँधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल के बारे में बड़ा खुलासा किया. उन्होंने बताया कि गुजरात के जिस अस्पताल में आतंकवादी मुहम्मद कासिम को नौकरी दी गयी थी उसमें अहमद पटेल करीब 30 वर्षों तक ट्रस्टी रहे हैं. 

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह इत्तिफाक नहीं हो सकता कि अहमद पटेल जिस अस्पताल में तीन दशकों से ट्रस्टी रहे हों और अभी भी उनका अस्पताल में आदेश चलता हो उसमें किसी आतंकवादी को ऐसे ही नौकरी दे दी जाय. यह बहुत गंभीर मसला है और अहमद पटेल से इस पर सवाल पूछा जाएगा. उन्होंने बताया कि गुजरात पुलिस ने तमाम तरह की जानकारी के बाद उस आतंकी को गिरफ्तार किया है, उस अस्पताल का संबंध कांग्रेस पार्टी के बहुत ही वरिष्ठ नेता से सम्बन्ध है इसलिए लोग सवाल करेंगे और सवाल जायज भी है.

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मुद्दे पर ना हम राजनीति करते हैं और ना ही हम राजनीति करना चाहते हैं, हम यह भी नहीं पसंद करते कि कोई और इस तरह की राजनीति करे.

उन्होंने कहा कि यह बड़े अफ़सोस की बात है कि एक ISIS से जुड़ा आतंकवादी गिरफ्तार किया जाता है, उसके तमाम तरह के खतरनाक मंसूबों की जानकारी सुरक्षा एजेंसियों को होती है, उस आतंकवादी पर कार्यवाही की मांग करने के बजाय कांग्रेस पार्टी इसे राजनीतिक मामला बता रही है. कांग्रेस के इस बयान से अहमद पटेल पर सवाल और गंभीर हो जाता है.

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि पहले लोग कहते थे कि कांग्रेस का हाथ करप्शन के साथ लेकिन अब तो लोग यह भी कहने लगे हैं कि कांग्रेस का हाथ आतंक और आतंकवादियों के साथ. उन्होंने कहा कि लोग ऐसा कहेंगे क्योंकि कांग्रेस की एक हिस्ट्री रही है कि वे किस तरह से आतंकवाद और आतंकवादियों को संरक्षण देने वालों का साथ देती रही है.

उन्होंने कहा कि एक अस्पताल में एक आतंकवादी वर्षों से कार्य कर रहा था और उसे आतंकी गतिविधियों का केंद्र बनाया हुआ था, उस अस्पताल का रिश्ता कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल से है. अब तो कांग्रेस के लोग कह रहे हैं कि उनका कोई रिश्ता ही नहीं है. अस्पताल ने भी बयान जारी कर दिया तो क्या वह अस्पताल बेनामी संपत्ति है. यह तो अपने आप में कई सवाल खड़ा कर रहा है.

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि अभी कुछ दिनों पहले जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उस अस्पताल में गए थे तो वहां पर कार्यक्रम को अहमद पटेल ने ही होस्ट किया था, सारा ताम झाम उन्होंने किया था, सारा अरेंजमेंट उन्होंने किया था, कार्यक्रम का संचालन भी अहमद पटेल ने किया था, अब कह रहे हैं कि हमारा अस्पताल से कोई सम्बन्ध नहीं है, यह अपने आप में कई सवाल खड़े करता है.

उन्होंने कहा कि हम इस मामले पर राजनीति नहीं कर रहे हैं, हम तो राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी से सवाल पूछ रहे हैं कि उनके नेता के अस्पताल में आतंकवादी को नौकरी क्यों दी गयी. कांग्रेस को इस सवाल का जवाब देना होगा. हर कोई जानता है कि आतंकवादियों को संरक्षण देने वाले भी उतने ही गुनाहगार होते हैं, इसलिए हमारी कांग्रेस पार्टी से मांग है कि वह आतंकवाद और आतंकवादियों के संरक्षण से जुड़े मुद्दे पर सफाई दें. वह स्पष्ट करें कि अहमद पटेल के आतंकी के साथ सम्बन्ध हैं या नहीं.

उन्होंने कहा कि हम कांग्रेस पार्टी से कहना चाहते हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े इस मामले में खुद को पाक साफ़ साबित करें वरना आतंकवादियों को संरक्षण देने का जो धब्बा उनके दामन पर लगेगा वो भ्रष्टाचार के धब्बे से भी अधिक काला होगा. पहले कहा जाता था कि भ्रष्टाचार और कांग्रेस एक दूसरे के लिए बने हैं लेकिन अब यह कहा जाएगा कि कांग्रेस और आतंकवादी एक दूसरे के लिए बने हैं. कांग्रेस अगर इस सवाल का जवाब नहीं देगी तो उसे गंभीर खामियाजा भुगतना पड़ेगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: