Oct 13, 2017

रियल स्टेट को GST में लाकर सबसे बड़े भ्रष्टाचार पर MODI की नजर, कांग्रेस ने बताया 'डिजास्टर'


modi-sarkar-want-real-estate-under-gst-law-congress-told-disaster

आज भारत का कोई भी आम घर खरीदने का सपना भी नहीं देख सकता क्योंकि किसी बड़े शहर में घर खरीदना उसके लिए असंभव है. साधारण सैलरी में कोई भी आदमी घर नहीं खरीद सकता, इसके लिए या तो भ्रष्टाचार करना पड़ेगा या घोटाले करने पड़ेंगे.

ऐसा क्यों है कि आम आदमी घर खरीदने का सपना भी नहीं देख पा रहा है जबकि बड़े आदमी कई घरों के मालिक बन जाते हैं. इसका कारण है रियल स्टेट सेक्टर में कालाबाजारी, कमीशनखोरी और दलाली.

जब कोई व्यक्ति घर खरीदता है तो घर बेचने वाले मालिक, प्रॉपर्टी डीलर, रियल स्टेट एजेंट से मिलकर सौदा फिक्स करते हैं, घर का मार्किट प्राइस 10 लाख होता है तो खरीदारों से 20-30 लाख माँगा जाता है. जब खरीदार राजी हो जाता है तो उससे 10 लाख का चेक मांगते हैं और बाकी के 10-20 लाख रूपया कैश में मांगते हैं. सरकार को सिर्फ 10 लाख दिखाया जाता है जबकि 20-30 लाख रुपये कालेधन की दुनिया में चले जाते हैं, इनपर ना तो सरकार को टैक्स दिया जाता है और ना ही इन रुपयों को अर्थतंत्र में गिना जाता है, अगर सबसे बड़ा कालाधन कहीं है तो रियल स्टेट में.

अब मोदी सरकार रियल स्टेट सेक्टर को भी GST के दायरे में लाना चाहती है ताकि यहाँ पर भी कमीशनखोरी, दलाली और कालाधन का बाजार ख़त्म हो जाए. अगर ऐसा हो गया तो सभी प्रॉपर्टी डीलरों, कमीशन एजेंटों को GST नंबर लेना पड़ेगा और हर लेन-देन सरकार को दिखाना पड़ेगा. अभी तक प्रॉपर्टी एजेंट पैसा कमाकर छिपा देते हैं, कई प्रॉपर्टी डीलर हर महीना करोड़ों रुपये कमाते हैं लेकिन सरकार को टैक्स नहीं देते, कालाधन कमाते हैं, कालेधन से घर खरीदते हैं और बड़ी बड़ी गाड़ियों में घुमते हैं. गलत तरीके से कमाया हुआ कालाधन तिजोरी में छिपा देते हैं जिसकी वजह से सरकार को बहुत नुकसान होता है लेकिन अब मोदी सरकार की नजर इनकी काली कमाई पर पड़ चुकी है. 

वास्तव में मोदी सरकार 2022 तक सभी गरीबों को आवास देता चाहती है लेकिन यह तब तक नहीं होता जब तक रियल स्टेट को GST में लाकर यहाँ पर भ्रष्टाचार ख़त्म नहीं किया जाएगा. रियल स्टेट में आने के बाद प्रॉपर्टी के दाम कम होने लगेंगे, आम आदमी को सस्ते घर मिलेंगे, कुछ अपने आप घर खरीद लेंगे और कुछ मोदी सरकार बनाकर देगी, इस तरह गरीबों का सपना पूरा हो जाएगा.

कांग्रेस ने बताया डिजास्टर

मोदी सरकार के इस फैसले को कांग्रेस पार्टी ने डिजास्टर बताया है. ANI से बात करते हुए कांग्रेस नेता राजू बाघमारे ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और अरुण जेटली ने देश को गड्ढे में ढकेलने का पूरा प्रबंध कर दिया है. रियल स्टेट सेक्टर में पहले से ही मंदी चल रही है, अगर उसे GST में लाया गया तो डिजास्टर होगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: