Oct 1, 2017

विकास चाहिए तो कीमत भी चुकानी होगी, सरकार के पास पैसा आएगा तभी तो होगा विकास: अरुण जेटली


finance-minister-arun-jaitley-said-vikas-needs-money-burden-on-all

केंदीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज फरीदाबाद में एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन सभी आलोचकों और विपक्षी पार्टियों को करारा जवाब दिया है जो मोदी सरकार पर मंहगाई का आरोप लगा रहे हैं. आपको बता दें कि मोदी सरकार ने जुलाई 2017 से GST लागू किया है जिसकी वजह से टैक्स चोर व्यापारियों में दहशत मची हुई है. इसकी वजह से कुछ मंदी भी आयी लेकिन अब हालात सामान्य हो रहे हैं.

आपको बता दें कि GST की वजह से कुछ चीजें मंहगी हो गयी हैं जबकि कुछ चीजें सस्ती भी हुई हैं लेकिन सस्ती चीजों पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है, सिर्फ मंहगी चीजों के लिए मोदी सरकार पर निशाना साधा जा रहा है.

आज वित्त मंत्री ने कहा कि भारत में सभी लोग विकास मांग रहे हैं, विकास सब को चाहिए तो इसकी कीमत भी चुकानी पड़ेगी क्योंकि भारत सरकार के पास एक्साइज ड्यूटी से तो राजस्व आता है उसी पैसे को देश के विकास में लगाया जाता है. अगर हमारे पास पैसा ही नहीं आएगा तो विकास कैसे कराया जाएगा.

उन्होंने कहा कि भारत सरकार के पास टैक्स से जो भी राजस्व आ रहा है उसे पूरी ईमानदारी के साथ देश के विकास पर खर्च किया जाएगा. राजस्व भारत सरकार के लिए लाइफलाइन की तरह है, इसी राजस्व से भारत को विकासशील से विकसित अर्थव्यवस्था बनाने की कोशिश की जा रही है.

अरुण जेटली ने कहा कि भारत में लोग टैक्स ना देने को परम्परा समझते थे लेकिन अब धीरे धीरे टैक्स के महत्व को समझ रहे हैं, धीरे धीरे हर तबके के लोग टैक्स के महत्व को समझ जाएंगे और टैक्स देना शुरू करेंगे जिसकी वजह से सरकार के राजस्व में बढ़ोतरी होगी. इसी राजस्व को विकास में लगाया जाएगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: