Sep 5, 2017

अखिलेश यादव बोले, इंजन तो हमने ही चला दिया था, YOGI ने तो केवल डिब्बे चलाए हैं


akhilesh-yadav-said-we-run-metro-engine-yogi-added-dibbe

अखिलेश यादव आज बहुत परेशान हैं. जिस मेट्रो का उद्घाटन उन्होने 1 दिसम्बर 2016 को किया था वह मेट्रो आज ट्रैक पर दौड़ी और उसे योगी आदित्यनाथ ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. मतलब उद्घाटन के बाद भी यात्रियों को मेट्रो ट्रेन में बैठने के लिए 8 महीनें का इन्तजार करना पड़ा है. आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ मेट्रो को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और खुद भी मेट्रो का सफ़र किया. मतलब आज मेट्रो के असल में उद्घाटन हुआ.

अखिलेश यादव यह बात पचा नहीं पाए. उन्होंने ट्विटर पर कहा कि इंजर तो पहले ही चल दिया था, डिब्बे तो पीछे आने ही थे. अब आप खुद सोचिये, किसी भी प्रोजेक्ट का उद्घाटन उस वकत होता है जब वह बनकर तैयार हो जाता है. अखिलेश ने 8 महीनें पहले उद्घाटन किया लेकिन वह चली ही नहीं तो उद्घाटन किस बात का हुआ. अखिलेश ने केवल इंजन में बैठकर मेट्रो का उद्घाटन कर दिया. उस वक्त ना ट्रैक तैयार था और ना ही डिब्बे जुड़े थे. आज ट्रैक भी तैयार हो गया और डिब्बे भी जुड़ गए और यात्री आज से बैठने भी लगे हैं.

ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग तक चलने लगी लखनऊ मेट्रो 

आज मेट्रो ट्रेन ट्रांसपोर्ट नगर से चार बाग़ के लिए चलने लगी है. यात्री अब इसमें बैठ सकेंगे. योगी आदित्यनाथ और राजनाथ सिंह ने खुद भी मेट्रो में सफ़र किया. योगी ने इसे जनता की मेट्रो बताया है जबकि अखिलेश इसे समाजवादियों की मेट्रो बताते हैं जबकि इसमें जनता का पैसा खर्च हो रहा है.
योगी आदित्यनाथ ने आज मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को 2019 में पूरा करने का वादा किया. उन्होंने कहा कि जब 2019 में लखनऊ मेट्रो प्रोजेक्ट का पूरा काम हो जाएगा तो शहर पूरी तरह से बदल जाएगा, लोगों को ट्रैफिक से निजात मिल जाएगी, शहर का विकास तेज गति से होने लगेगा और बड़ी बड़ी कंपनियां लखनऊ में बिजनेस के लिए आना शुरू कर देंगी. उन्होने राज्य के कई अन्य शहरों में भी मेट्रो रेल चलाने का वादा किया साथ ही लखनऊ मेट्रो के लिए सस्ता लोन दिलवाने के लिए मोदी सरकार का धन्यवाद किया.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: