Aug 29, 2017

अब CBI जांच से थर थर कांपेंगे अपराधी, रॉबर्ट वाड्रा का हो रहा होगा सबसे बुरा हाल: पढ़ें क्यों?


what-is-cbi-janch-how-cbi-court-order-difference-than-civil-court

अब तक CBI जांच के बारे में देश के लोगों को पता नहीं था लेकिन आज ही बाबा राम रहीम पर आए फैसले ने देशवासियों को CBI जांच की काफी जानकारी दे दी है और कुछ जानकारी हम देने जा रहे हैं. आज जिस तरह से बाबा राम रहीम के खिलाफ CBI कोर्ट का फैसला आया है उसे देखकर अपराधी थर थर कापेंगे और भगवान ने मनाएंगे कि उनके मामके की CBI जांच ना हो.

CBI जांच से सबसे अधिक परेशान रॉबर्ट वाड्रा हो रहे होंगे क्योंकि उनके खिलाफ 1 मामले में CBI जांच चल रही है और हरियाणा में भी चलने वाली है. राजस्थान सरकार ने हाल ही में वाड्रा लैंड डील के खिलाफ CBI जांच के सिफारिश की थी और अब हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी यही करने जा रहे हैं क्योंकि धींगरा रिपोर्ट में वाड्रा लैंड डील के खिलाफ कई अनियमितताएं पाई गयी हैं और CBI जांच की सिफारिश की गयी है. अगर खट्टर ने भी वाड्रा के खिलाफ CBI जांच की सिफारिश कर दी तो समझ लो वाड्रा के खिलाफ भी ऐसा फैसला आ सकता है और उन्हें भी जेल जाना पड़ सकता है.

क्या ख़ास होता है CBI जांच में

CBI जाँच की सबसे खास बात ये होती है कि मामले में सजा भी CBI कोर्ट ही सुनाती है. CBI कोर्ट जो भी फैसला सुनाती है उसे ना तो हाईकोर्ट रोक पाती है और ना ही सुप्रीम कोर्ट क्योंकि CBI देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी है. CBI की जांच रिपोर्ट पर कोई सवाल नहीं खड़ा कर सकता. जब CBI कोर्ट के फैसले के खिलाफ कोई अभियुक्त हाई कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करता है तो अधिकतर लोगों की याचिका रद्द कर दी जाती है क्योंकि हाईकोर्ट के पास किसी और एजेंसी से जांच कराने का कोई आप्शन ही नहीं होता. जिन मामलों की जांच पुलिस द्वारा की जाती है उन्हें ही हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में जाने का फायदा मिलता है, एक बार CBI कोर्ट ने सजा सुना दी तो समझ लो सजा काटनी ही पड़ेगी.

अब बाबा राम रहीम के मामले को ही देखिये, उनके लोग CBI कोर्ट के फैसले के खिलाफ अब हाई कोर्ट में फैसला करेंगे, उसके बाद सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे लेकिन दोनों जहाँ से उन्हें खाली हाथ वापस लौटना पड़ेगा क्योंकि उन्हें CBI जाँच के आधार पर सजा सुनाई गयी है, जब ये हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में जाएंगे तो हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी उनकी सजा बरकरार रखेगा क्योंकि उनके पास किसी और से जांच कराने का आप्शन ही नहीं रहेगा क्योंकि CBI देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: