Aug 2, 2017

शिक्षा मित्रों की धमकी सुनकर यूपी के लोग परेशान, कहीं ये हमारे बच्चों को भी ना बना दें मुसलमान


parents-want-action-on-shiksha-mitra-threatening-co-convet-islam

TET परीक्षा से डरकर उत्तर प्रदेश के शिक्षा मित्रों ने योगी सरकार को धमकी दी है कि अगर उनकी नौकरी गयी तो वे अपने परिवार सहित इस्लाम धर्म कबूल कर लेंगे, सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को आदेश दिया है कि TET यानी टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट पास करने वाले शिक्षा मित्रों को ही अध्यापक की नौकरी पर रखा जाए, जिन शिक्षा मित्रों ने TET परीक्षा पास नहीं की है, उन्हें TET परीक्षा पास करने के दो मौके दिए जाँय.

सुप्रीम कोर्ट का ये आदेश सुनकर लाखों शिक्षा मित्रों ने यूपी में आन्दोलन शुरू कर दिया है, हजारों लोग केवल 10वीं पास करने के बाद जुगाड़ लगाकर शिक्षा मित्र बन गए और अब 40 हजार रुपये की सैलरी ले रहे हैं, वहीँ करीब 70 हजार के करीब BEd और TET पास लोग बेरोजगार बैठे हैं, मतलब जो पढ़ाने के काबिल है वो बेरोजगार बैठा है और जिसनें केवल 10 पास करके जुगाड़ से शिक्षा मित्र की नौकरी पा ली वे लोग 40 हजार रुपये महीना कमा रहे हैं, उनकी अयोग्यता की वजह से कोई माँ-बाप अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में भेजता ही नहीं, मतलब शिक्षा मित्रों को फ्री में सैलरी दी जा रही है.

अब सुप्रीम कोर्ट ने सभी शिक्षा मित्रों के लिए TET जरूरी कर दिया है तो ये लोग परेशान हैं, कई लोगों ने फर्जी मार्कशीट बनवाकर नौकरी पायी है, अब उनका सर्टिफिकेट भी चेक किया जाएगा, हो सकता है कि हजारों लोग तो ऐसे ही नौकरी के अयोग्य हो जाँय.

यही सब देखकर हजारों शिक्षा मित्रों ने धमकी दी है कि वे अपने परिवार सहित इस्लाम धर्म कबूल कर लेंगे, उनकी धमकी सुनकर अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में भेजने वाले अभिभावक परेशान हैं, उनका कहना है कि हम शिक्षामित्रों के भरोसे अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में भेज रहे हैं, जब ये लोग खुद ही इस्लाम कबूलने की धमकी दे रहे हैं तो हो सकता है कि हमारे बच्चों को भी मुस्लिम बना दें, हो सकता है कि उन्हें भ्रमित करके इस्लाम कबूल करवा दें. यूपी के लोगों ने ऐसे शिक्षा मित्रों को देशद्रोही मानते हुए कार्यवाही की मांग की है और माँ-बाप को सावधान रहने के लिए कहा है.

shiksha-mitra-threatening-to-become-musalman

नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment:


  1. शिक्षक के नाम पर ये कंलक है ।

    ऐसे लोगो को शिक्षक बने रहने का अधिकार नही है ।
    देश मे एक शिक्षा प्रणाली की महती आवश्यकता है।
    शिक्षा के पाठ्यक्रम मे नैतिक मूल्य मानवीय मूल्य को कहानी के रुप मे शामिल करने की आवश्यकता है।

    शिक्षक शिक्षा के अधिकारी निति निर्माता को व्यक्तित्व विकास चरित्र निर्माण के तत्वो पर निर्धारित पाठ्यक्रम से उनमुखी करण करने की आवश्यकता है।
    शिक्षक समाज के आदर्श होते है इनका व्यक्तित्व वान एवं चरित्र वान होने से ही समाज मे सुधार हो सकता है ।

    ReplyDelete