Jul 18, 2017

चेयरमैन की सीट पर बैठे थे कांग्रेसी नेता, अगर बैठे होते बीजेपी नेता तो सोचो आज क्या होता


why-mayawati-resign-from-rajya-sabha
राज्य सभा में आज मायावती ने जमकर बवाल किया और इस्तीफे की धमकी देते हुए वापस निकल आयीं और शाम को उन्होंने राज्य सभा की सदस्यता से इस्तीफ़ा भी दे दिया. आज राज्य सभा की कार्यवाही डिप्टी चेयरमैन पीजे कुरियन चला रहे थे. मायावती ने उनपर दलितों की आवाज दबाने का आरोप लगा दिया. उन्होंने कहा कि मेरी आवाज बिना समाप्त हुए चेयरमैन ने घंटी बजा दी.

आपको बता दें कि उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी राज्य सभा के चेयरमैन हैं और पीजे कुरियन डिप्टी चेयरमैन हैं, दोनों ही कांग्रेस के विश्वासपात्र नेता रहे हैं और इसीलिए कांग्रेस ने इन्हें इस पद पर बैठाया था. आज मायावती ने पीजे कुरियन पर उनकी आवाज दबाने का आरोप लगा दिया, हैरानी इस बात की थी कि बगल में ही बैठे कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा मायावती का उत्साह बढ़ा रहे थे और उन्हें कुछ कह रहे थे.

गनीमत ये है कि अभी उप-राष्ट्रपति पद के लिए वेंकैया नायडू का चुनाव नहीं हुआ है, वरना वे चेयरमैन की सीट पर बैठे होते, अगर उन्होंने मायावती को बोलने से रोका होता तो मायावती बहुत बवाल करतीं और उन्हें बीजेपी का समझकर पता नहीं क्या क्या आरोप लगातीं.

डिप्टी चेयरमैन ने मायावती को बोलने से क्यों रोका

मायावती सहारनपुर दंगे पर बोल रही थीं, शोर्ट ऑवर डिस्कशन चल रहा था, हर सदस्य को सिर्फ 3 मिनट में अपनी बात ख़त्म करने की हिदायत दी गयी थी लेकिन मायावती ने पांच मिनट बोला, कुरियन ने कहा कि और भी लोगों को अपनी बात रखना है, आपने 3 मिनट की जगह 5 मिनट बोल दिया है. आप यहाँ पर अपनी बात रखो, यहाँ पर भाषण देना गलत है, जल्दी से बात ख़त्म करो. इसके बाद भी मायावती नहीं रुकीं तो उन्होंने घंटी बजा दी.

अब आप खुद सोचिये, अगर एक घंटे में 30 लोगों को अपनी बात कहनी है तो हर सदस्य को 3-3 मिनट समय दिया जाएगा लेकिन मायावती अकेले ही 30 मिनट बोलना चाहती थीं, अगर मायावती अकेले ही सारा समय खा जातीं तो दूसरों को बोलने का मौका नहीं मिलता. मायावती सहनपुर दंगों पर भाषण दे रही थीं और बीजेपी पर सीधा सीधा आरोप लगा रही थीं, इसीलिए बीजेपी सदस्यों ने भी उनका विरोध करना शुरू कर दिया. मायावती यह देखकर बौखला गयीं और राज्य सभा से इस्तीफ़ा देने की धमकी देकर निकल गयीं.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: