Jul 29, 2017

शर्म आती थी सपा लिखने से, जो बेटा अपने बाप का नहीं हुआ वो किसी का क्या होगा: बुक्कल नवाब


mlc-bukkal-nawab-criticised-akhilesh-yadav-after-resign-from-sp

आज समाजवादी पार्टी के MLC बुक्कल नवाब ने सपा पार्टी से इस्तीफ़ा देने के बाद अखिलेश यादव की जमकर आलोचना की, उन्होंने कहा कि पिछले एक साल से सपा में रहकर घुटन महसूस हो रही थी, अखिलेश यादव ने अपने पिता का अपमान किया, उन्हें जबरजस्ती पद से हटा दिया और खुद उनकी कुर्सी पर बैठ गए, जो बेटा अपने बाप का नहीं हुआ वो किसी और का क्या होगा.

बुक्कल नवाब ने कहा कि अब मुझे अपने नाम के आगे समाजवादी पार्टी लिखने में भी शर्म आती है, अब ये समाजवादी पार्टी नहीं है बल्कि समाजवादी पार्टी अखाड़ा बन गयी है, अब इस पार्टी के लोग आपस में लड़ रहे हैं. इसलिए मैंने सपा से इस्तीफ़ा देने का फैसला कर दिया है.

बुक्कल नवाब ने की मोदी-योगी की तारीफ

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी और योगी आदित्यनाथ के काम की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी ने जो नारा दिया है 'सबका साथ और सबका विकास' मैं उससे बहुत प्रभावित हूँ, अगर बीजेपी वाले मुझे आमंत्रित करेंगे तो मैं बीजेपी ज्वाइन करूँगा क्योंकि यहाँ पर मैं योगी आदित्यनाथ के काम से बहुत खुश हूँ, उनके शासन में भ्रष्टाचार बंद हो गया है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: