Jul 26, 2017

पहले हिन्दू राष्ट्रवाद अब अजीत डोभाल पर वार, राहुल से मुलाकात के बाद कांग्रेसी बन गया चीन


chinese-media-told-ajit-doval-is-main-schemer-in-donglang-vivad

राहुल गाँधी भी कमाल की चीज हैं, चीनी राजदूत से मिलने के बाद चीन की तरफ से ठीक वैसी ही प्रतिक्रिया आ रही है जैसी कांग्रेसी नेताओं की तरफ से आती है, पहले चीनी मीडिया ने कहा कि भारत में हिन्दू राष्ट्रवाद की वजह से दोनों देशों में टेंशन है और अब कहा है कि अजीत डोभाल की वजह से बॉर्डर पर समस्या हो रही है और अजीत डोभाल ही डोकलाम के मेन स्कीमर हैं.

आपको बता दें कि राहुल गाँधी ने 8 जुलाई को चीनी राजदूत से चुपचाप मुलाकात की थी, उनकी मुलाकात का पर्दाफाश होने पर काफी बवाल भी मचा था हालाँकि अब मामला शांत है लेकिन जब से राहुल गाँधी चीनी राजदूत से मिले हैं तब से चीन भी कांग्रेस की भाषा बोलने लगा है, सोशल मीडिया पर ये चर्चा है कि कहीं राहुल गाँधी ने चीन के साथ ये सब मुद्दे उठाने की डील तो नहीं की है, कांग्रेस भी हिन्दू राष्ट्रवाद और भगवा आतंकवाद का नारा लगाती है और चीन भी यही सब कर रहा है.

आपको बता दें कि भारत के नेशनल सिक्यूरिटी एडवाइजर (NSA) अजीत डोभाल BRICS सम्मलेन में भाग लेने के लिए चीन जा रहे हैं, NSA BRICS की मीटिंग में ब्राजील, रूस, इंडिया, चीन और साउथ अफ्रीका के NSA की मुलाक़ात होगी. चीन ने अजीत डोभाल पर दबाव डालने के लिए यह आरोप लगाए हैं.

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि सिक्किम सीमा विवाद के मुख्य रणनीतिकार अजीत डोभाल की चीन यात्रा से सिक्किम बॉर्डर विवाद हल नहीं होगा, भारत को अपनी सेना को सीमा पर से हटाना ही होगा, भारत के पास इसके अलावा कोई विकल्प नहीं है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डोकलाम क्षेत्र में भारत और चीन के 300-300 सैनिक आमने सामने खड़े हैं, चीन डोकलाम में सड़क बनाना चाहता है जबकि यह जमीन भूटान की है और भारत भूटान के बीच रक्षा समझौता है.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

1 comment: