May 20, 2017

रक्षा विशेषज्ञों ने जताई आशंका, नीच पाकिस्तान ने शायद पहले ही कर दी है कुलभूषण जाधव की हत्या


indian-defens-experts-fear-kulbhushan-jadhav-killed-by-pakistan

New Delhi: अंतर्राष्ट्रीय न्यायिक अदालत द्वारा कुलभूषण जाधव की फांसी रोकने के आदेश के बावजूद भी पाकिस्तान अपनी बात पर कायम है, पाकिस्तान हमेशा यही रट लगा रहा है कि हम अन्तर्रष्ट्रीय अदालत का आदेश नहीं मानेंगे, हमारे पास कुलभूषण जाधव के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं, राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ कोई भी समझौता नहीं किया जाएगा और कुलभूषण जाधव को राजनयिक मदद किसी भी कीमत पर नहीं पहुंचाई जाएगी.

सबसे बड़ा सवाल तो यही उठता है कि अगर पाकिस्तान को अन्तर्रष्ट्रीय अदालत का आदेश नहीं मानना था तो उसनें अदालत में पैरवी क्यों की, उसके वकील ने पाकिस्तान को सही साबित करने के लिए पूरी ताकत क्योंकि लगाई और जब पाकिस्तान केस हार गया तो वह अंतर्राष्ट्रीय अदालत का आदेश क्यों नहीं मान रहा है.

अब भारतीय रक्षा विशेषज्ञ आशंका जता रहे हैं कि पाकिस्तान ने शायद पहले ही कुलभूषण जाधव की हत्या कर दी है, पाकिस्तना ने या तो टार्चर करके कुलभूषण जाधव को मार डाला और बाद में उनको फांसी की सजा सुनाने का नाटक रचा ताकि दुनिया को ये ना लगे कि पाकिस्तान ने कैदी के साथ अन्याय किया है साथ ही मानवाधिकार का उल्लंघन किया है.

आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार और विदेश मंत्री सरताज अजीज ने भी साफ़ साफ़ कहा कि पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय अदालत के आदेश को नहीं मानेगा और उसके सामने सभी विकल्प खुले हैं, सरताज अजीज के इस बयान के बाद भारतीय रक्षा विशेषज्ञों ने कुलभूषण जाधव की ह्त्या की आशंका जताई है, यह भी हो सकता है कि कुलभूषण जाधव ऐसी हालत में ना हों कि उन्हें दुनिया के सामने लाया जा सके.

अगर पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय अदालत का आदेश नहीं मानेगा तो भी उसकी छवि खराब होगी और अगर उसनें कुलभूषण जाधव की हत्या पहले कर दी है तो भी उसकी बदनामी होगी क्योंकि जिस दिन कुलभूषण जाधव को फांसी दी जाएगी, उस दिन तो उनकी सूरत पाकिस्तान को दिखानी ही पड़ेगी, अब सवाल ये है कि अगर पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव की हत्या पहले ही कर दी है तो वह फांसी पर किसे चढ़ाएगा, वह किसी को फांसी पर चढ़ाएगा या चुपचाप ये बता देगा कि कुलभूषण जाधव को फांसी दी जा चुकी है और उनकी लाश किसी को नहीं मिलेगी. पाकिस्तान इतना नीच देश है कि वहां पर कुछ भी हो सकता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय अदालत का आदेश नहीं माना तो यह मामला UNSC में जाएगा वीटो पॉवर वाले पाँचों देश इस केस का फैसला करेंगे, पाकिस्तान को भरोसा है कि चीन उसकी मदद जरूर करेगा और अपने वीटो का अधिकार करके कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा बरकरार रखेगा.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: