Apr 20, 2017

केजरीवाल के लिए खुशखबरी, पाकिस्तान ने भी शुरू किया प्रचार, बताया डोनाल्ड ट्रम्प से भी ग्रेट


pakistan-started-campaign-for-arvind-kejriwal-in-mcd-election-2017

New Delhi, 20 April: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की MCD चुनावों में हालत खस्ता है, राजौरी गार्डन विधानसभा उप-चुनाव में पहली ही उनकी करारी हार हो चुकी है, उनके हालत पतली देखकर पाकिस्तान ने भी उनके लिए प्रचार शुरू कर दिया है, आज पाकिस्तान अख़बार DAWN में केजरीवाल के समर्थन में एक खबर छपी है जिसमें उनकी जमकर तारीफ की गयी है और उन्हें डोनाल्ड ट्रम्प से भी महान बताया गया है. इस खबर को केजरीवाल ने रि-ट्वीट किया है और अच्छा लेख बताया है, आप खुद देखिये.

पाकिस्तानी अखबार में लिखा है - पानी को जब फ्रीज करने की कोशिश की जाती है तो भी वह वह फैलता है क्योंकि उसके अन्दर फैलने की प्रवित्ति होती है, ठीक इसी तरह से केजरीवाल हैं जिन्हें भारत के मीडिया झूठे आरोप लगाकर, मनगढ़ंत ख़बरें चलाकर फ्रीज करने की कोशिश करते हैं लेकिन केजरीवाल उसके बावजूद भी फैलते हैं, इस मामले में वह डोनाल्ड ट्रम्प की तरह हैं क्योंकि डोनाल्ड ट्रम्प को भी अमेरिकी मीडिया ने उसी तरह से ट्रीट किया था जिस तरह से भारतीय मीडिया केजरीवाल को करता है लेकिन केजरीवाल डोनाल्ड ट्रम्प से कई मामलों में आगे हैं.

आगे लिखा है - डोनाल्ड ट्रम्प एक अरबपति आदमी हैं और वे अच्छी चीजों को पसंद करते हैं लेकिन केजरीवाल एक माध्यम परिवार से आये हैं इसलिए शाकाहारी भोजन और कफ सीरप से खुश हैं. इसके अलावा डोनाल्ड ट्रम्प गरीबों के प्रो-पुअर हेल्थकेयर को ख़त्म करके मंहगी शिक्षा व्यवस्था खड़ी कर रहे हैं और शैक्षणिक संस्थानों को सार्वजनिक स्थानों से दूर कर रहे हैं उसके विपरीत केजरीवाल पुरानी अर्थनीति पर विश्वास करके भारत को पुराने रास्ते पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं, केजरीवाल अपने समकक्षों की तुलना में पूँजीवाद को ख़त्म करने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि वह विश्वास करते हैं कि पूँजीवाद ने ही भारत का विकास रोका है.

पाकिस्तानी खबर में ये भी लिखा है कि - जैसे कि बीजेपी ने धार्मिक ध्रुवीकारण करके उत्तर प्रदेश चुनाव जीता है उसके बिपरीत केजरीवाल खुलेआम कहते हैं कि - भले ही मुझे 100 बार हारना पड़े लेकिन मैं धर्म को ढाल बनाकर चुनाव नहीं जीतूँगा. पाकिस्तान के इमरान खान ने भी केजरीवाल जैसी ही शुरुआत की थी लेकिन धार्मिक कट्टरता में वे बीजेपी के ही समान हैं.

इसके बाद लिखा गया है - एक बार जब बीजेपी शासित हरियाणा में भीड़ ने मुस्लिमों पर हमला किया था तो केजरीवाल ने खुद जांच करने के लिए अपने टीम को भेजा, 2015 में जब हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कथित रूप से बीफ खाने वाले मुस्लिमों को देश छोड़ने के लिए तो केजरीवाल ने खट्टर के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक बताते हुए उनके इस्तीफे की मांग की.

आगे लिखा गया है - इसके अलावा केजरीवाल ने 1984 में सिख विरोधी दंगों की जांच के लिए एक विशेष जांच दल का गठन किया, जब हिन्दुओं की भीड़ ने दिल्ली में चर्चों को तोड़ दिया था तो सिर्फ आम आदमी पार्टी ने साम्प्रदाईक ताकतों का मुकाबला किया था, हाल ही में केजरीवाल ने एक जैन साधू जो नग्न चलते हैं उनके साथ दिखे थे, केजरीवाल ने आज तक अपने विरोधियों पर हमला करने के लिए धर्म का इस्तेमाल नहीं किया है, यहाँ तक कि उन्होने जामा मस्जिद के ईमाम जो मुस्लिम साम्प्रदाईकता के लिए जाने जाते हैं, उनका समर्थन लेने से इनकार कर दिया था.

आगे लिखा है - केजरीवाल के विरोधी उनपर जितना कीचड़ फेंकते हैं वह उतना साफ़ दिखते हैं, उनके विधायकों को दिल्ली पुलिस ने पता नहीं कितनी जेल में जाला है लेकिन अदालत उन्हें बरी कर देती है, दिल्ली पुलिस केजरीवाल के अंडर में नहीं है, उनके ऑफिस पर भी रेड डाल दी जाती है, यह केवल फ्रस्ट्रेशन की वजह से किया जाता है.

आगे लिखा है - पिछले 2 वर्षों में AAP के 13 विधायकों को गिरफ्तार किया गया है, और उनपर रेप, वसूली, धोखाधड़ी, जालसाजी और दंगा कराने के आरोप लगे हैं लेकिन उनमें से कई को जमानत मिल गयी और 2 बाइज्जत बरी हो गए.

इसी तरह से केजरीवाल के कसीदे में पाकिस्तान अखबार ने बहुत कुछ लिखा है, अब लगता है कि केजरीवाल एक बार फिर से पाकिस्तान में हीरो बन जाएंगे और शायद दिल्ली में रहने वाले मुस्लिम पाकिस्तान का इशारा समझते हुए एक बार फिर से केजरीवाल को वोट दे दें.
नीचे कमेन्ट बॉक्स में अपनी राय लिखें
पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पेज LIKE करें
loading...

0 comments: