लखीमपुर की घटना के बीच कांग्रेस और TMC में हुई भिड़ंत, दोनों एक दूसरे पर हुए हमलावर

एक तरफ लखीमपुर हिंसा को लेकर विपक्ष मोदी और योगी सरकार को घेरने का प्रयास कर रहा है तो वहीँ दूसरी तरफ विपक्ष में ही बिखराव भी दिख रहा है, कांग्रेस और टीएमसी के बीच ट्विटर वॉर छिड़ गया, दोनों ने एक दूसरे पर तीखा -पलटवार किया है, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी द्वारा 2019 के लोकसभा चुनावों में अमेठी में राहुल गांधी की हार पर कटाक्ष करने के बाद दो मुख्य विपक्षी पार्टियों के बीच लड़ाई शुरू हुई। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने टीएमसी पर पलटवार किया।

टीएमसी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता भूपेश बघेल ने कहा, “राष्ट्रीय विकल्प बनने के लिए ऐसे कांग्रेसी नेताओं का ‘शिकार’ किया जा रहा है जो अपनी सीट भी नहीं जीत सकते. राष्ट्रीय विकल्प बनने के लिए गंभीर प्रयासों की जरूरत है. इसके लिए कोई शॉर्टकट नहीं है.’

भूपेश बघेल को जवाब देते हुए टीएमसी ने कहा, ये शब्द पहली बार मुख्यमंत्री बने भूपेश बघेल की तरफ से आ रहे हैं. अपने से ज्यादा क्षमतावान पर हमला करने से आपको सम्मान नहीं मिलता. अपने हाईकमान को खुश करने के लिए ये बेहद सतही कमेंट है. क्या कांग्रेस अमेठी में अपनी ऐतिहासिक हार को मिटाने के लिए एक और ट्विटर ट्रेंड करवाएगी? बता दें कि पश्चिम बंगाल में ऐतिहासिक रूप से चुनाव जीतने वाली तृणमूल कांग्रेस इस वक्त अपनी राष्ट्रीय उपस्थिति बनाने के कांग्रेसी नेताओं को अपने खेमे में ला रही है. बताया जा रहा है कि इससे कांग्रेसी लीडरशिप नाराज है.