जल्द भाजपा छोड़ सकते हैं सुब्रमण्यम स्वामी, राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटाए जानें के बाद बदला ट्विटर बायो

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी लम्बे समय से पार्टी के खिलाफ मुखर होकर बोलते रहे हैं, पीएम मोदी के कई फैसलों पर सवाल उठा चुके हैं, कल भाजपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सूची जारी की, उसमें स्वामी को जगह नहीं मिली है, गुरुवार को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति से निकाले जाने के बाद स्वामी ने अपने ट्विटर बायो से पार्टी का नाम हटा दिया। माना जा रहा है कि सुब्रमण्यम स्वामी कभी भी भाजपा छोड़ने का ऐलान कर सकते हैं.

इण्डिया टुडे के मुताबिक़, राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के ट्विटर बायो में कहीं भी भाजपा का उल्लेख नहीं किया गया है, इस समय के स्वामी के बायो में राज्यसभा सांसद, पूर्व केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, हार्वर्ड से अर्थशास्त्र में पीएचडी, प्रोफ़ेसर लिखा हुआ है. सुब्रमण्यम स्वामी, जिन्हें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीतियों के कड़े आलोचक के रूप में जाना जाता है, भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं में शामिल थे, जिन्हें गुरुवार को पार्टी की 80 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यकारी समिति से हटा दिया गया था।

भाजपा सांसद वरुण गांधी और उनकी माँ मेनका गांधी को भी हटा दिया गया, वरुण कृषि कानूनों और लखीमपुर खीरी हिंसा के संदर्भ में केंद्र की नीतियों के बारे में मुखर रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह और प्रहलाद पटेल, सुरेश प्रभु, राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत सिंह, विजय गोयल, विनय कटियार और एसएस अहलूवालिया उन लोगों में शामिल हैं, जिन्हें नई सूची में जगह नहीं मिली है।