असली किसान खेतों में हैं, खालिस्तान समर्थक और भारत तेरे टुकड़े कहने वाले आंदोलन कर रहे हैं: राजा भैया

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर पिछले कई महीनों से हजारों किसान आंदोलन कर रहे हैं, कानून को रद्द करने की मांग कर रहे हैं, कथित किसान आंदोलन पर प्रतिक्रिया देते हुए राजा भैया ने कहा, असली किसान खेतों में हैं, खालिस्तान समर्थक और भारत तेरे टुकड़े कहने वाले धरना दे रहे हैं. राजा भैया ने कहा, खाद्य एवं रसद विभाग बहुत महत्वपूर्ण विभाग है, दो बार मैं खुद इसको संभाल चुका हूँ और दावे के साथ कह रहा हूँ कि एमएसपी खत्म नहीं होगी, उक्त बातें राजा भैया ने इंडिया टीवी के एक कार्यक्रम में कही.

जनसत्ता दल लोकतान्त्रिक के अध्यक्ष राजा भैया ने कहा, धरना देने वाले कह रहे हैं कि एमएसपी खत्म हो जाएगी, मैं कह रहा हूँ एमएसपी कभी खत्म हो ही नहीं सकती। इस चीज को सरकार कह भी चुकी है, राजा भैया ने कहा, किसान आंदोलन देश के एक विशेष हिस्से में चल रहा है, उसमें एक राज्य के लोग ज्यादा सक्रिय हैं. असली किसान खेतों में काम कर रहा है.


26 जनवरी को लालकिले पर आंदोलनकारी किसानों द्वारा किये गए उपद्रव को लेकर राजा भैया ने कहा, प्रदर्शन के नाम पर लालकिले पर जो तांडव हुआ, उससे समझ लेना चाहिए कि ये किसान नहीं हैं, असली किसान खेतों में हैं, धरना ऐसे लोग दे रहे हैं, उसमें कोई खालिस्तान की मांग कर रहा है, कोई भारत तेरे टुकड़े होंगे कह रहा है, कोई राष्ट्रीय ध्वज का अपमान कर रहा है, कोई लालकिले पर चढ़ा जा रहा है. ये किसान नहीं हैं.

उल्लेखनीय है कि कृषि कानून के विरोध में तथाकथित किसानों ने 26 जनवरी को लालकिले पर जमकर उपद्रव किया था, पुलिसकर्मियों पर हमला भी किया था, साढ़े 3 सौ से ज्यादा पुलिसकर्मीं घायल हुए थे.