क्वाड संगठन वैश्विक हित के लिए प्रतिबद्ध और मानवता के हित में एकजुट हुए हैं: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि क्वाड संगठन वैश्विक हित के लिए प्रतिबद्ध शक्ति है और क्वाड नेताओं के साथ विचार-विमर्श काफी व्यापक और रचनात्मक रहा। वाशिंगटन में क्वाड शिखर सम्मेलन में अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि संगठन के चारों देश 2004 में सुनामी के बाद पहली बार हिंद प्रशांत क्षेत्र में सहयोग के लिए मिले थे और आज जब पूरा विश्व कोविड संकट का सामना कर रहा है, पूरी मनुष्य जाति के हित के लिए फिर इस संगठन की बैठक हो रही है।

अमरीका के राष्ट्रपति जो. बाइडन ने कहा कि कोविड रोधी वैक्सीन की वैश्विक आपूर्ति बढ़ाने के लिए भारत में अतिरिक्त एक अरब वैक्सीन डोज उत्पादन की अमरीका की पहल आगे बढ़ रही है। व्हाइट हाउस में बैठक के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा का स्वागत करते हुए बाइडन ने कहा कि क्वाड समूह में लोकतांत्रिक साझेदार हैं जो वैश्विक और भविष्य के मुद्दों पर साझा विचार रखते हैं। उन्होंने कहा कि यह समूह वर्तमान समय की प्रमुख चुनौतियों का सामना करने के लिए एकजुट हैं।

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने कहा कि क्वाड संगठन यह उदाहरण रख रहा है कि किस तरह चार देशों की तरह विश्व के अन्य लोकतांत्रिक देश वैश्विक समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। क्वाड सम्मेलन में अपने संबोधन में श्री मॉरिसन ने कहा कि इस समय विश्व का कोई भी हिस्सा हिंद- प्रशांत क्षेत्र से अधिक संवेदनशील नहीं है।

जापान के प्रधानमंत्री सुगा ने कहा कि क्वाड देशों के साझा मूल्य हैं। चाहे क्षेत्रीय मुद्दे हों या कोविड संकट जैसा वैश्विक मुद्दा क्वाड संगठन ने इन में से अधिकांश के समाधान के प्रयास किए हैं। सुगा ने कहा कि क्वाड ने अब तक अनेक क्षेत्रों में सार्थक सहयोग किया है।

अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि क्वाड नेताओं की शिखर बैठक के लिए ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान के प्रधानमंत्रियों की मेजबानी करना उनके लिए सम्मान की बात है। एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि क्वाड के नेता भविष्य के लिए समान विचार साझा करते हैं और वे 21वीं सदी की महत्वपूर्ण चुनौतियों से निपटने के लिए एकजुट हो रहे हैं।