कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने किया बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया, जापान ने की कड़ी निंदा

उत्‍तर कोरिया ने आज अपने पूर्वी तट से दो बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया। इससे पहले सोमवार को भी उत्‍तर कोरिया ने दूर तक मार करने में सक्षम एक क्रूस मिसाइल का परीक्षण किया था। यह मिसाइल जापान के काफी हिस्‍से को भेद सकती है। जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने कहा है कि इस परीक्षण ने क्षेत्र में शांति और सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर दिया है।

दक्षिण कोरिया के संयुक्‍त चीफ ऑफ स्‍टाफ ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा है कि यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि इस मिसाइल का लक्ष्‍य और मारक क्षमता क्‍या थी। संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद क्रूस मिसाइलों के परीक्षण की अनुमति नहीं देता लेकिन वह बैलेस्टिक मिसाइलों को ज्‍यादा खतरनाक मानता है क्‍योंकि वह अधिक शक्तिशाली हथियार तथा अन्‍य साजोसामान ले जा सकती हैं। साथ ही इनकी मारक क्षमता भी काफी अधिक होती है और दूर तक लक्ष्‍य भेद सकती हैं।

चीन के विदेशमंत्री आज सोल में दक्षिण कोरिया के विदेशमंत्री के साथ बातचीत कर रहे हैं। बैठक में उत्‍तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम तथा परमाणु निरस्‍त्रीकरण पर बातचीत हो सकती है। इस वर्ष मार्च में उत्‍तर कोरिया ने प्रतिबंधों की अवहेलना कर बैलेस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया था जिसकी अमरीका, जापान तथा दक्षिण कोरिया ने कड़ी निंदा की थी।