अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया की जेल से रिहा हो जाएंगे हरियाणा के विशाल जूड, खालिस्तानी साजिश का बने थे शिकार

ऑस्ट्रेलिया की जेल में बंद भारतीय छात्र विशाल जूड अक्टूबर में रिहा किये जाएंगे। विशाल को रिहा करने का आदेश ऑस्ट्रेलिया की एक अदालत ने दिया है, ‘द आस्ट्रेलिया टुडे’ की खबर के मुताबिक़, एनएसडब्ल्यू विभाग के लोक अभियोजकों ने जूड पर लगाए आठ नस्लीय आरोपों को हटा दिया है। पुलिस ने शुरू में विशाल के खिलाफ चार अलग-अलग घटनाओं में 10 आरोप लगाए थे।

विशाल को कथित तौर पर 16 सितंबर 2020 और 14 फरवरी 2021 के बीच हुए झगड़ों के तीन मामूली आरोपों के लिए दोषी ठहराया गया। जिन आरोपों के लिए जूड को दोषी ठहराया गया है उसके लिए उनकी गिरफ्तारी के दिन 16 अप्रैल 2021 से छह महीने की जेल की सजा सुनाई गई थी। इस तरह अब जूड की सजा 15 अक्टूबर 2021 को समाप्त होगी। क्योंकि वो अब 15 अक्टूबर को रिहा हो जाएंगे।

विशाल जूड मूल रूप से हरियाणा के कुरुक्षेत्र के रहने वाले हैं, ऑस्ट्रेलिया में वो खालिस्तानियों का शिकार हो गए हैं और वह लगभग 5 महीनें से सिडनी की जेल में बंद हैं, ऑस्ट्रेलिया में जब किसानो के समर्थन में विरोध प्रदर्शन हो रहा था तो उस वक्त उस प्रदर्शन मे कुछ खालिस्तानी भारत को भी भला-बुरा कहने लगे, इसके बाद वहां मौजूद विशाल से यह सब सहन नहीं हुआ और उन्होंने सैकड़ों खालिस्तानियों के बीच तिरंगा लहरा दिया।

इससे ख़ार खाये खालिस्तानियों ने न सिर्फ विशाल के साथ हाथापाई की बल्कि अपनी ताकत का लाभ उठाते हुए विशाल को झूठे मुकदमें में फंसवाकर जेल में डलवा दिया। विशाल पिछले 6 महीनों से सिडनी की जेल में बंद हैं..

विशाल जूड की तत्काल रिहाई के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विदेश मंत्री श्री एस.जयशंकर से बात की थी और मामले में तत्काल हस्तक्षेप करने की अपील की। विदेश मंत्री ने ऑस्ट्रेलियन एंबेसी को भारत की चिंता से अवगत कराया था. विदेश मंत्री ने मुख्यमंत्री को विश्वास दिलाया था कि विशाल जूड बहुत जल्द ऑस्ट्रेलिया की जेल से रिहा हो जाएगा। अब विशाल के रिहाई की तारीख ( 15 अक्टूबर ) आ गई है.