भगवान इंद्रदेव को नहीं मंजूर किसान महापंचायत, करनाल में शुरू हुई मूसलाधार बारिश, टूटे तम्बू

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ तथाकथित किसानों ने अब जगह-जगह महापंचायत शुरू कर दी है, 5 सितंबर को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में महापंचायत थी और आज हरियाणा के करनाल में महापंचायत है, लेकिन ऐसा लगता है कि ये महापंचायत भगवान इंद्रदेव को मंजूर नहीं है, करनाल में आज जहाँ किसानों की महापंचायत होनी है वहां सुबह से ही मूसलाधार बारिश शुरू हो चुकी है, मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने बताया कि बारिश के कारण किसान महापंचायत में लगे कई टेंट और तम्बू भी टूट गए हैं..

किसान महापंचायत को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है, करनाल के पुलिस अधीक्षक ( एसपी ) गंगा राम पुनिया ने बताया कि ‘महापंचायत को देखते हुए ज़िला प्रशासन और पुलिस द्वारा सुरक्षा के पुख़्ता बंदोबस्त किए गए हैं। पुलिस की 40 कंपनियां अनाज़ मंडी और आस-पास के क्षेत्र में तैनात की हैं..करनाल एसपी ने कहा, पुलिस इसलिए तैनात की गई है कि क़ानून व्यवस्था बनी रहे और कोई भी गैरक़ानूनी गतिविधि न हो। किसान महापंचायत के दौरान हम बातचीत भी करेंगे और चाहेंगे कि मामले का बातचीत से हल निकले।

करनाल में आज होने वाली किसान महापंचायत को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। राज्य सरकार ने 4 ज़िलों में इंटरनेट, मोबाइल और एसएमएस सेवाएं बंद कर दी हैं। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा, प्रशासन के पुख़्ता बंदोबस्त हैं। किसी को भी क़ानून हाथ मे नहीं लेने दिया जाएगा। हमारी किसान भाइयों से अपील भी है कि वो अपनी जनसभा करना चाहते हैं तो करें। परन्तु शांतिपूर्ण तरीके से करें।