रोहिणी कोर्ट शूटआउट: जेल में बंद गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया को मिल रही थी लाइव अपडेट

दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में 3 दिन पहले अचानक फायरिंग हो गई, जिसमें मोस्टवांटेड गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ़ गोगी समेत चार लोगों की मौत हो गई, जेल में बंद गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की पेशी के दौरान दो हमलावरों ने उसकी गोली मारकर ह्त्या कर दी, जवाबी कार्यवाही में दिल्ली पुलिस के जवानों ने दोनों हमलावरों को मार गिराया। जितेंद्र गोगी पर हमला करने वाले दोनों हमलावर वकील की वर्दी में आये थे.

इंडिया टुडे ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि ‘जेल में बंद गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया को रोहिणी कोर्ट शूटआउट के दौरान मारे गए हमलावरों और अन्य दो आरोपियों उमंग यादव और विनय से लगातार इंटरनेट के जरिए कॉल पर लाइव अपडेट मिल रहा था। सूत्रों के अनुसार तिहाड़ की मंडोला जेल में बंद टिल्लू गोलीबारी से पहले दो हमलावरों से हर मिनट जानकारी ले रहा था, जिन्होंने शुक्रवार को गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी पर गोलियां चलाईं और खुद भी पुलिस की जवाबी फायरिंग में मारे गए.

सूत्रों के हवाले से इंडिया टुडे ने जानकारी दी है कि ‘वह उनसे सवाल पूछते थे कि रोहिणी कोर्ट तक पहुँचने में उन्हें कितना समय लगेगा, वे अब कहाँ पहुँच गए हैं? उसके बाद टिल्लू ने इंटरनेट कॉलिंग के जरिए विनय और उमंग से भी बात की और उन्हें रोहिणी कोर्ट में मौजूद रहने और स्थिति से अवगत कराते रहने को कहा। इसके बाद टिल्लू ने फिर से गोलीबारी से पहले दोनों हमलावरों को बुलाया और पूछा कि वे कहां हैं.

“जब टिल्लू को पता चला कि दोनों हमलावर कोर्ट रूम के अंदर बैठे हैं और कोर्ट के अंदर और बाहर भारी पुलिस बल तैनात है, तो टिल्लू को लगा कि उनका बचना मुश्किल होगा। इसके बाद टिल्लू ने फिर से दो अन्य आरोपियों को बुलाया। विनय और उमंग, और उनसे उनके ठिकाने के बारे में पूछा। टिल्लू ने उन्हें भागने के लिए कहा, लेकिन भाग नहीं पाए.