बंगाल में एक और BJP नेता की मृत्यु, चुनाव बाद गुंडों ने किया था जानलेवा हमला, 4 महीनें कोमा में थे

बंगाल में एक और भाजपा नेता की मृत्यु हो गई है, बंगाल चुनाव में क्षिण 24 परगना के मोगराहाट विधानसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार रहे धुरजाती साहा की आज इलाज के दौरान मृत्यु हो गई, वह इलाके में मानस साहा ( Manas Saha ) के नाम से मशहूर थे। मतगणना के दिन मतगणना केंद्र पर गुंडों ने उनपर जानलेवा हमला किया था, तबसे वह कोमा में थे, लेकिन आज उनकी मृत्यु हो गई. ठाकुरपुकुर के एक नर्सिंग होम में उन्होंने अंतिम सांस ली।

बीजेपी का आरोप है कि तृणमूल विधायक जियाउद्दीन मुल्ला के नेतृत्व में धुरजाती साहा को पीटा गया, राज्य के मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने दो मई की घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई जांच शुरू भी हो गई है..

बैरकपुर से बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने कहा, ‘मुख्यमंत्री कहते हैं कि चुनाव के बाद कुछ नहीं हुआ. जो हुआ वह एक छोटी सी घटना है। लेकिन कोर्ट का कहना है कि बहुत कुछ हुआ है। घटना पुलिस के सामने हुई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। एक बार फिर बीजेपी प्रत्याशी नेता की मौत तृणमूल के गुंडों की गुंडागर्दी का नतीजा है, चुनाव के बाद कितनी भयानक घटनाएं हुई हैं, यह इस बात का सबूत है।’

भाजपा नेता अभिजीत दास ने कहा, ‘मानस साहा ( Manas Saha ) मतगणना के दौरान मतगणना केंद्र से बाहर निकले। तभी तृणमूल के गयासुद्दीन मुल्ला की टीम ने उन पर हमला कर दिया। लाठी-डंडों से पीटा जाता, मौके पर ही वह बेहोश हो गए. बाद में उन्हें नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। हालांकि, स्थिति में ज्यादा सुधार नहीं हुआ। आज उनकी मृत्यु हो गई.

बंगाल भाजपा अध्यक्ष डॉ सुकांत मजूमदार ने कहा, ‘इस घटना से पूरा बंगाल सदमे में है। सत्ता में आने के बाद भी वह ( टीएमसी ) विपक्ष के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर हमला कर रहे हैं, अंत में एक प्रत्याशी की मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, मतगणना के दिन यानि दो मई की दोपहर करीब 1.30 बजे तृणमूल कार्यकर्ता मतगणना केंद्र के सामने जमा हो गए. उसी समय मोगराहाट विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी धुरजाती साहा उर्फ ​​मानस ( Manas Saha ) मतगणना केंद्र से बाहर आ गए। तभी गुंडों ने उन्हें खींच लिया और लाठी-डंडों से बेरहमी से पिटाई की.