पहले RSS के बारें में फैलाया अफवाह, अब UP पुलिस से गिड़गिड़ाकर माफ़ी मांग रहा भीम आर्मी का नेता

सोशल मीडिया पर कोई भी फोटो-वीडियो शेयर करने से पहले उसके सत्यता की जांच अवश्य कर लेनी चाहिए नहीं तो कानूनी कार्यवाही का सामना करना पड़ सकता है, सोशल मीडिया पर दिखने वाली हर चीज न तो सच होती है और न ही झूठ होती है, सोशल मीडिया पर लिखा गया एक पोस्ट आपको प्रसिद्धि दिला सकता है, सोशल मीडिया पर ही किया गया एक पोस्ट आपको जेल भी पहुंचा सकता है, ताजा मामला भीम आर्मी से जुड़े एक नेता का है, उन्होंने सोशल मीडिया पर आरएसएस को बदनाम करने के लिए एक वीडियो शेयर कर दिया। जब यूपी पुलिस ने कार्यवाही की बात कही तो अब माफ़ी मांग रहे हैं.

दरअसल भीम आर्मी के राजनैतिक दल ‘आजाद समाज पार्टी’ के नेता शिवकुमार चावला ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया। आरएसएस के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए दावा किया कि वीडियो उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद का है, जहाँ आरएसएस के गुंडे जबरन जय श्री राम बुलवा रहे हैं और मार-मारकर अधमरा कर दिए, भीम आर्मी के नेता ने पुलिस से कार्यवाही की मांग की.

भीम आर्मी के नेता ने सोंचा भी न होगा कि जिस वीडियो को शेयर कर वो कार्यवाही की मांग कर रहा है, वही वीडियो उसके लिए आफत बन जाएगा। भीम आर्मी के नेता द्वारा शेयर किये गए वीडियो की जब उत्तर प्रदेश पुलिस फैक्ट चेक ने वीडियो की पड़ताल की तो वीडियो मुरादाबाद का नहीं हरियाणा के यमुनानगर का निकला। यूपी पुलिस ने ट्वीट कर कहा, वायरल वीडियो उत्तर प्रदेश का नहीं बल्कि हरियाणा के यमुनानगर का है, आपके ( भीम आर्मी के नेता ) द्वारा गलत तत्थ्यों को प्रसारित किये जाने के दृष्टिगत मुरादाबाद पुलिस को आपके विरुध्द आवश्यक विधिक कार्यवाही के लिए निर्देशित किया जाता है..

यूपी पुलिस का यह ट्वीट पढ़कर भीम आर्मी के नेता के होश उड़ गए, एक अन्य ट्वीट कर भीम आर्मी का नेता शिवकुमार अब न सिर्फ माफ़ी मांग रहा है बल्कि यह भी कह रहा है कि इस तरह की गलती आगे से नहीं होगी।