अफगानिस्तान से बचाव मिशन का नाम दिया गया ‘ऑपरेशन देवी शक्ति’, देवी के नाम से भड़की सपा

अफगानिस्तान में कटटर इस्लामिक आतंकी संगठन तालिबान के कब्जे के बाद अब भारत अपने नागरिकों को निकाल रहा है, भारत ने मंगलवार को अफगानिस्तान से बचाव मिशन का एक नाम दिया, विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने ट्वीट कर जानकारी दी कि अफगानिस्तान में चलाये जा रहे रेस्क्यू मिशन को ‘ऑपरेशन देवी शक्ति’ ( Operation Devi Shakti  ) नाम दिया गया है, उनका ट्वीट अफगानिस्तान से 78 लोगों को सुरक्षित निकालने के संदर्भ में था।

अफगानिस्तान से बचाव मिशन का नाम ‘ऑपरेशन देवी शक्ति’ ( Operation Devi Shakti  ) रखे जाने से समाजवादी पार्टी बुरी तरह भड़क गई है, सपा प्रवक्ता ने कहा, देवी-देवता शक्ति लिखने से विदेश नीति बेहतर नही होगी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता आईपी सिंह ने ट्वीट कर कहा, क्या भारत इकलौता देश है जो अपने नागरिकों को वापस ला रहा है?…….. नहीं, दुनियाभर के तमाम देश अपने-अपने नागरिकों को अफगानिस्तान से वापस ले जा रहे हैं, विदेश मंत्री जी, पूर्व विदेश सचिव जी
देवी-देवता शक्ति लिखने से विदेश नीति बेहतर नही होगी।

रेस्क्यू मिशन का नाम क्यों रखा गया ‘ऑपरेशन देवी शक्ति’ ( Operation Devi Shakti  ) 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मिशन से जुड़े लोगों ने जानकारी दी है कि जैसे ‘मां दुर्गा’ निर्दोषों को राक्षसों से बचाती है। उसी तरह भारत भी अपने नागरिकों को हिंसाग्रस्त क्षेत्र से सुरक्षित बचाकर ला रहा है, इसलिए ही इस मिशन का नाम ‘ऑपरेशन देवी शक्ति’ रखा गया है.

आतंकी गुट तालिबान से घिरे काबुल से ताजिक शहर में निकाले जाने के एक दिन बाद भारत ने मंगलवार को अपने 25 नागरिकों और दुशांबे से कई अफगान सिखों और हिंदुओं सहित 78 लोगों को वापस लाया।

मंगलवार की निकासी के साथ, दिल्ली वापस लाए गए लोगों की संख्या 16 अगस्त के बाद से 800 से अधिक हो गई, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वी मुरलीधरन ने इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लोगों का स्वागत किया।

उल्लेखनीय है कि तालिबान ने 15 अगस्त को काबुल पर कब्ज़ा कर लिया। काबुल पर तालिबान के कब्जे के दो दिनों के भीतर, भारत ने 200 लोगों को निकाला, जिसमें भारतीय दूत और अफगान राजधानी में अपने दूतावास के अन्य कर्मचारी शामिल थे।