सपा में शामिल हुआ माफिया मुख़्तार अंसारी का भाई सिबगतुल्लाह, अखिलेश यादव ने दिलाई सदस्यता

जेल की हवा खा रहे माफिया मुख़्तार अंसारी के भाई सिबगतुल्लाह अंसारी ( Sibgatullah Ansari ) और उनके बेटे आज समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए, लखनऊ स्थित सपा कार्यालय में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने दोनों को सपा की सदस्यता ग्रहण कराई। गैंगस्टर से नेता बने सिबगतुल्लाह अंसारी के अलावा पूर्व बसपा नेता अंबिका चौधरी ने भी आज समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया।

सिगबतुल्लाह ( Sibgatullah Ansari ) और चौधरी को पार्टी में शामिल करने के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, ”मैं सिबगतुल्लाह अंसारी ( Sibgatullah Ansari ) और उनके सहयोगियों को पार्टी में शामिल होने के लिए बधाई देता हूं. आपके शामिल होने से न केवल पूर्वांचल बल्कि पूरे राज्य में संदेश जाएगा कि 2022 में सपा की सरकार बनेगी।

अखिलेश यादव ने कहा, ‘मैं अंबिका चौधरी का पार्टी में स्वागत करता हूं और उनके साथ पार्टी में आए सभी साथियों का भी स्वागत करता हूं। हम सब मिलकर काम करेंगे कि 2022 में सपा की सरकार बने।’ सपा में शामिल होने के बाद अम्बिका चौधरी ने कहा, “आज का दिन मेरे लिए पुनर्जन्म जैसा है, मैं बहुत कुछ कहना चाहता हूं लेकिन शब्दों की कमी है।

चौधरी ने आगे कहा, “मेरे मन में एक इच्छा है, मैं अखिलेश को सीएम बनाना चाहता हूं। मैं अपने संकल्प को पूरा करने के लिए कुछ भी करूंगा। हमारे पास 2022 के विधानसभा चुनाव तक का लक्ष्य है।”

आपको बता दें कि अम्बिका चौधरी पहले सपा में ही थे, लेकिन उसके बाद बसपा में शामिल हो गए, आज फिर से इन्होनें घर वापसी कर ली. दरअसल हाल ही में सम्पन्न हुए पंचायत चुनाव में सपा ने चौधरी के बेटे आनंद चौधरी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया, उसके बाद ही अम्बिका ने बसपा से इस्तीफा दे दिया।

बता दें कि मुख्तार अंसारी और उनके भाई अफजल अंसारी को वर्ष 2010 में बसपा से निष्कासित कर दिया गया था और 2010 में अपने भाइयों के साथ कौमी एकता दल का गठन किया था, जिसका 2016 में समाजवादी पार्टी (सपा) में विलय हो गया था। हालांकि, विलय का उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश ने विरोध किया था। लेकिन अब उन्हीं नेताओं को पार्टी में शामिल करा रहे हैं.