प्रशांत किशोर ने पंजाब CM अमरिंदर के मुख्य सलाहकार के पद से दिया इस्तीफा, जानें क्यों?

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रधान सलाहकार पद से इस्तीफा दे दिया है, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रशांत किशोर (Prashant Kishor ) ने कहा, “सार्वजनिक जीवन में सक्रिय भूमिका से अस्थायी अवकाश लेने के अपने निर्णय के मद्देनजर” इस्तीफा दे दिया। मैं आपके PA के रूप में जिम्मेदारियों संभालने में सक्षम नहीं हूं। इस जिम्मेदारी से मुक्त करने की कृपा करें।

आपको बता दें कि 1 मार्च 2021 को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor ) को अपना मुख्य सलाहकार नियुक्त किया था, उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया गया था, सीएमओ पंजाब की ओर से जारी सेवा शर्तों में बताया गया था कि प्रशांत किशोर का कार्यकाल अमरिंदर सिंह के पंजाब सीएम के रूप में कार्यकाल के बराबर होगा। उन्हें एक निजी सचिव, एक निजी सहायक, एक डेटा एंट्री ऑपरेटर, एक क्लर्क और दो चपरासी उनका साथ देंगे। उल्लेखनीय है कि 2022 में पंजाब में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

प्रशांत किशोर (Prashant Kishor ) ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और अब पंजाब कांग्रेस के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.. प्रशांत किशोर ने 2017 के चुनावों से पहले अमरिंदर के साथ काम किया था। पार्टी ने 117 सदस्यों की विधानसभा में 77 सीटों के साथ शानदार बहुमत हासिल किया था।

प्रशांत किशोर पिछले कुछ महीनों में कई विपक्षी नेताओं के साथ बैठक कर रहे हैं. एनसीपी प्रमुख शरद पवार के साथ उनकी कई बैठकों ने हाल ही में विपक्षी दलों के संभावित राजनीतिक पुनर्गठन के बारे में अटकलों को हवा दी। हालांकि, उन्होंने यह सुनिश्चित किया है कि किसी भी विपक्षी गठबंधन में कांग्रेस का हिस्सा होना चाहिए।

प्रशांत किशोर को चुनावी रणनीतिकार कहा जाता है, हाल ही में प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी के लिए रणनीति बनाई थी और सफलता भी मिली।