शिवसेना ने मोदी सरकार को बताया उन्मादी, कहा- BJP ने हिंदुत्व की आग भड़काई, फिर भी बंगाल..?

सत्ता के लिए विचारधारा को त्याग चुकी शिवसेना ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए उन्मादी करार दिया है, शिवसेना के मुखपत्र सामना के सम्पादकीय में लिखा गया है कि ‘पिछले 5-6 सालों से देश कुछ उन्मादियों के हाथ में आ गया है. चुनाव राज्य का हो या फिर देश का सिर्फ दंगे, उन्माद, धार्मिक मतभेद, धर्मद्वेष का इस्तेमाल कर जीत हासिल करने का मुख्य एजेंडा रहा है. पश्चिम बंगाल में भी बीजेपी ने हिंदुत्व के नाम पर हिंसा भड़कानी चाही लेकिन राज्य के हिंदुओं ने ही बीजेपी के इस एजेंडे को रिजेक्ट कर दिया।

संपादकीय में आगे लिखा है कि इस बात पर विचार किया जाना चाहिए कि सरसंघचालक मोहन भागवत को ये क्यों कहना पड़ रहा है कि सभी धर्मों के लोगों का DNA एक है और जो हिंदू ये कहता है कि भारत में मुस्लिम नहीं रह सकता वो हिंदू है ही नहीं. दरअसल चुनाव जीतने के लिए उपद्रव और सांप्रदायिकता का सहारा लिया जा रहा है लेकिन पश्चिम बंगाल में ये साफ़ हो गया है कि अब हिंदू भी ये सब पसंद नहीं कर रहे हैं.

सामना में लिखा है- सही मायने में हिंदू-मुस्लिम का एक साथ होना, यह संकल्पना ही गुमराह करनेवाली है. क्योंकि हिंदू और मुसलमान एक ही हैं. भारत जैसे देशों में हिंदू या मुसलमान किसी का भी वर्चस्व नहीं हो सकता. मॉब लिंचिंग हिंदुत्व की संकल्पना के लिए ठीक नहीं है.