दानिश सिद्दीकी की हत्या: रवीश कुमार ने गोली को भेजी लानत, गोली चलाने वालों के बारे में कुछ नही?

समाचार एजेंसी रायटर्स के लिए काम करने वाले भारतीय मूल के फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की अफगानिस्तान में गोली मारकर ह्त्या कर दी गई, दानिश की ह्त्या उस वक्त की गई जब वह आतंकी संगठन तालिबान और अफगानिस्तानी सेना के बीच चल रहे संघर्ष को कवर कर रहे थे, दानिश की ह्त्या के बाद भारत में भी लोग शोक व्यक्त कर रहे हैं, क्योंकि वह भारतीय थे, हालाँकि कुछ लोग सेलेक्टिव तरीके से शोक व्यक्त कर रहे हैं, उन्हीं में से एक हैं एनडीटीवी वाले रवीश कुमार।

दानिश सिद्दीकी की ह्त्या पर रवीश कुमार ने सेलेक्टिव तरीके से शोक व्यक्त किया। गोली को लानत भेज दी, लेकिन गोली चलाने आतंकियों को कुछ नहीं भेजा। अगर यह घटना भारत में हुई होती तो अभी तक यही रवीश कुमार दो बीघे का लेख लिख देते, स्क्रीन काली कर देते। लेकिन तालिबानी आतंकियों के विरोध में एक शब्द नहीं लिखे।

दानिश सिद्दीकी को शहीद को करार देते हुए रवीश कुमार ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, पुलित्ज़र पुरस्कार प्राप्त करने के बाद भी आपने मोर्चों का चुनाव नहीं छोड़ा। बंदूक़ से निकली उस गोली को हज़ार लानतें भेज रहा हूँ जिसने एक बहादुर की ज़िंदगी ले ली।

आपको बता दें कि शुक्रवार को कंधार प्रांत में पाकिस्तान के साथ सीमा पार के पास अफगान सुरक्षा बलों और तालिबान लड़ाकों के बीच झड़प को कवर करते हुए रॉयटर्स के पत्रकार दानिश सिद्दीकी की गोली मारकर ह्त्या कर दी गई.