रविशंकर और प्रकाश जावड़ेकर की मंत्रिपद से छुट्टी कर बोले PM मोदी, ये लोग काबिल और क्षमतावान हैं

बुधवार ( 7 जुलाई ) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ, कई नए मंत्रियों ने शपथ ली, कई राज्य मंत्रियों का प्रमोशन हुआ तो कई वरिष्ठ मंत्रियों की मंत्रिपरिषद से छुट्टी कर दी गई, मंत्रिपरिषद से हटाए गए मंत्रियों में रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर भी शामिल रहे, मंत्रिमंडल का विस्तार और विभागों का बँटवारा होने के बाद कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की, इस दौरान पीएम मोदी ने नए मंत्रियों को कई गुरुमंत्र दिए. Prakash Javadekar Ravi Shankar

सूत्रों के हवाले से इंडिया टीवी ने दावा किया है कि केंद्रीय मंत्रियों के साथ बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने रविशंकर प्रसाद, प्रकाश जावड़ेकर और अन्य दिग्गज नेताओं का जिक्र किया, जिन्हें कैबिनेट से हटा दिया गया था। मंत्रिपरिषद से हटाए गए मंत्रियों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ऐसा नहीं है कि ये लोग काबिल और क्षमतावान नहीं, यह व्यवस्था के चलते हटे। पीएम ने कहा, इनके मंत्रालयों का जिम्मा संभालने वाले इनसे मिलें और इनके अनुभव का फायदा उठाएं। Prakash Javadekar Ravi Shankar

आपको बता दें कि प्रकाश जावड़ेकर भारत सरकार में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री थे, जबकि रविशंकर प्रसाद केंद्रीय कानून और आईटी मंत्री थे, अब केंद्रीय कानून मंत्री किरण रिजिजू बन गए हैं, सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर बन गए हैं, जबकि आईटी मंत्रालय का जिम्मा पूर्व आईएएस अधिकारी अश्विनी वैष्णव को दिया गया है, इसके इलावा इनके पास रेल मंत्रालय भी है. Prakash Javadekar Ravi Shankar

प्रकाश जावड़ेकर और रविशंकर प्रसाद के साथ-साथ स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन, शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, श्रम मंत्री संतोष गंगवार, बाबुल सुप्रियो, प्रताप सारंगी और रतनलाल कटारिया समेत 12 मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया। माना जा रहा है कि इस्तीफा देने वाले मंत्रियों को संगठन में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। राज्यपाल भी बनाये जा सकते हैं. असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई लोगों को मंत्रिपरिषद में स्थान मिला।