चीन के चमचे केपी ओली को लगा बड़ा झटका, नेपाल की सुप्रीम कोर्ट ने छीनी प्रधानमंत्री की कुर्सी

चीन के चमचे केपी शर्मा को ओली को बड़ा झटका लगा है, नेपाल की सुप्रीम कोर्ट ने ओली के स्थान पर नेपाली कांग्रेस के अध्‍यक्ष शेर बहादुर देउबा को दो दिन के अंदर प्रधानमंत्री बनाने का आदेश दिया है। इससे पहले विपक्षी दलों के बहुमत नहीं जुटा पाने पर राष्‍ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने दोबारा ओली को कार्यवाहक पीएम बना दिया था। अब सुप्रीम कोर्ट ने राष्‍ट्रपति के संसद को भंग करने के फैसले को पलट दिया है।

सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने सोमवार को नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा को दो दिनों के भीतर प्रधान मंत्री के रूप में नियुक्त करने का भी आदेश दिया। मुख्य न्यायाधीश चोलेंद्र शमशेर राणा की अगुवाई वाली पीठ ने पिछले सप्ताह मामले में सुनवाई पूरी की थी।

राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने प्रधानमंत्री ओली की सिफारिश पर 22 मई को पांच महीने में दूसरी बार 275 सदस्यीय निचले सदन को भंग कर दिया था और 12 नवंबर और 19 नवंबर को मध्यावधि चुनाव की घोषणा की थी.

पिछले हफ्ते चुनाव आयोग ने चुनावों को लेकर अनिश्चितता के बावजूद मध्यावधि चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा की थी। राष्ट्रपति द्वारा सदन को भंग करने के खिलाफ नेपाली कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन द्वारा 30 से अधिक याचिकाएं दायर की गईं। इसी पर फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने शेरबहादुर को पीएम बनानें का आदेश दिया है.