आतंकियों की गिरफ़्तारी पर मायावती ने उठाये सवाल, कहा- चुनाव से पहले ऐसा क्यों होता है?

बसपा प्रमुख Mayawati ने यूपी ATS के ऑपरेशन पर सवाल उठा दिया है, अलकायदा के आतंकियों की गिरफ़्तारी पर मायावती ने कहा, चुनाव से पहले ऐसा क्यों होता है? Mayawati ने अपने ट्वीट में लिखा, यूपी पुलिस का लखनऊ में आतंकी साजिश का भण्डाफोड़ करने व इस मामले में गिरफ्तार दो लोगों के तार अलकायदा से जुड़े होने का दावा अगर सही है तो यह गंभीर मामला है और उचित कार्रवाई होनी चाहिए वरना इसकी आड़ में कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए जिसकी आशंका व्यक्त की जा रही है।

एक अन्य ट्वीट में Mayawati ने लिखा, यूपी विधानसभा आमचुनाव के करीब आने पर ही इस प्रकार की कार्रवाई लोगों के मन में संदेह पैदा करती है। अगर इस कार्रवाई के पीछे सच्चाई है तो पुलिस इतने दिनों तक क्यों बेखबर रही? यह वह सवाल है जो लोग पूछ रहे हैं। अतः सरकार ऐसी कोई कार्रवाई न करे जिससे जनता में बेचैनी और बढ़े। इससे पहले अखिलेश यादव ने भी यूपी एटीएस के ऑपरेशन पर सवाल उठाते हुए कहा था कि मुझे यूपी पुलिस पर भरोसा है ही नहीं।

उत्तर प्रदेश एंटी टेरर स्क्वॉड ( एटीएस ) ने कल सराहनीय कार्य करते हुए लखनऊ के काकोरी से अलकायदा के दो आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया। स्वतंत्रता दिवस से पहले दोनों आतंकी फिदायीन बनकर यूपी को दहलाना चाहते थे, लेकिन एटीएस ने इनके नापाक मंसूबों पर पानी फेर दिया।


यूपी एटीएस ने लखनऊ के काकोरी से दो आतंकियों को ज़िंदा पकड़ लिया, दोनों आतंकियों के पास से कई बड़े बम व् भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं। आतंकियों की पहचान मिन्हाज अहमद और मसीरुद्दीन के रूप में हुई है, अलकायदा से जुड़े हुए हैं, दोनों पाकिस्तान में बैठे अपने आतंकी आकाओं के आदेश पर 15 अगस्त से पहले उत्तर प्रदेश में बड़ा बम धमाका करने वाले थे.

यूपी एटीएस के सफलतापूर्वक ऑपरेशन पर यूपी के ADG (कानून व्यवस्था), प्रशांत कुमार ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, आज उत्तर प्रदेश के ATS ने बड़े मॉड्यूल का पर्दाफाश किया है। ATS की टीम ने अलकायदा समर्थित अंसार गजवा​-तुल-हिंद से जुड़े दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से हथियार और विस्फोटक सामग्री बरामद हुई है.