मायावती ने सपा को बताया दलित विरोधी पार्टी, कहा- अब महालाचार हो चुकी है सपा

जैसे-जैसे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, वैसे-वैसे बसपा सुप्रीमों मायावती समाजवादी पार्टी पर हमलें तेज कर रही हैं, शुक्रवार को ट्वीट कर मायावती ने सपा को दलित विरोधी करार देते हुए कहा कि अब ये पार्टी महालाचार हो हो चुकी है, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमों मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा, समाजवादी पार्टी की घोर स्वार्थी, संकीर्ण व ख़ासकर दलित विरोधी सोच एवं कार्यशैली आदि के कड़वे अनुभवों तथा इसकी भुक्तभोगी होने के कारण देश की अधिकतर बड़ी व प्रमुख पार्टियाँ चुनाव में इनसे किनारा करना ही ज़्यादा बेहतर समझती हैं, जो सर्वविदित है..

इसीलिए आगामी यूपी विधानसभा आमचुनाव अब यह पार्टी किसी भी बड़ी पार्टी के साथ नहीं बल्कि छोटी पार्टियों के गठबंधन के सहारे ही लड़ेगी। ऐसा कहना व करना सपा की महालाचारी नहीं है तो और क्या है?

उल्लेखनीय है कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव कई बार स्पष्ट कर चुके हैं कि सपा किसी बड़ी पार्टी से गठबन्धन नहीं करेगी, छोटी पार्टी से गठबंधन करेगी। इसी संदर्भ में मायावती ने ट्वीट कर कहा है कि समाजवादी पार्टी की घोर स्वार्थी, संकीर्ण व ख़ासकर दलित विरोधी सोच एवं कार्यशैली आदि के कड़वे अनुभवों तथा इसकी भुक्तभोगी होने के कारण देश की अधिकतर बड़ी व प्रमुख पार्टियाँ चुनाव में इनसे किनारा करना ही ज़्यादा बेहतर समझती हैं..