किसान नेता राकेश टिकैत की बढ़ाई गई सुरक्षा, जानें क्यों?

Rakesh tikait and Tikri
Rakesh tikait and Tikri border

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेता राकेश टिकैत की सुरक्षा बढ़ा दी गई है, शासन के आदेश पर मुजफ्फरनगर पुलिस लाइन से उन्हें दो और गनर उपलब्ध कराए गए हैं। अब तीन पुलिसकर्मी उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक़, राकेश टिकैत को लगातार मिल रही धमकियों को संज्ञान लेते हुए उनकी सुरक्षा बढ़ाई गई है.

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत तीन कृषि कानूनों के विरोध में बीते सात माह से 24 नवंबर से दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं। इस बीच भाकियू नेता को तीन बार धमकी मिल चुकी है। राकेश टिकैत के पास पहले से ही एक सुरक्षाकर्मी उपलब्ध है। अब उन्हें मिल रही लगातार धमकियों को गंभीरता से लेते हुए शासन ने गाजियाबाद प्रशासन से रिपोर्ट मंगवाई थी। जिसके बाद शासन ने राकेश टिकैत की सुरक्षा बढ़ाने का निर्णय लेते हुए मुजफ्फरनगर जिला प्रशासन से उन्हें दो और सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराने के आदेश दिए।

तीनों काले कानूनों को लेकर सरकार की हठधर्मिता से देश में इमरजेंसी जैसी हालात पैदा हो गयी है। किसान बिना बिल वापसी के घर वापसी नहीं जाएगा। सरकार कृषि बिल वापसी को लेकर अनावश्यक हठधर्मिता कर रही है। तीनों कानून वापस लेने होंगे, और एमएसपी पर कानून बनाना होगा..