जनसंख्या विस्फोट परमाणु हमले के समान है, कानून न बना तो भारत गहरे संकट में फंस जाएगा: राज्यसभा सांसद

population control law
harnath yadav mp

भारत में जनसँख्या विस्फोट हो रहा है, रोजाना लाखों लोगों की आबादी बढ़ जाती है, सरकार चाहकर पर भी इतने लोगों को रोजगार और अन्य सुविधाएं नहीं दे सकती, देश के संसाधन सीमित हैं लेकिन आबादी बढ़ती ही जा रही है। आबादी बढ़ना देश के लिए खतरनाक है, अब इसे नियंत्रित करने की मांग तेज हो रही है, राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने कहा है कि जनसंख्या विस्फोट परमाणु हमले के समान है, कानून न बना तो भारत गहरे संकट में फंस जाएगा। भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय के एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, जनसंख्या की विस्फोटक स्थिति किसी शत्रु देश द्वारा एटमी हमले के समान है। जनसंख्या_नियंत्रण_कानून अपरिहार्य है, अन्यथा देश गहरे संकट में फंस जाएगा। हरनाथ यादव इससे पहले भी population control law बनाने की मांग कर चुके हैं.

भाजपा नेता और अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय लम्बे समय से population control law बनाने की मांग कर रहे हैं, उन्होंने ट्वीट कर कहा, जनसंख्या_नियंत्रण_कानून की मांग वाली याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई है, 50% समस्याओं का मूल कारण जनसंख्या विस्फोट है लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय अब तक इस याचिका का विरोध करता रहा है, उपाध्याय ने इस मामलें में प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है.


मिली जानकारी के मुताबिक़, राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने एक कठोर व प्रभावी population control law बनाने के लिए राज्यसभा में प्राइवेट बिल पेश किया है, यादव को धन्यवाद देते हुए अश्विनी उपाध्याय ने कहा, यह बिल चीन जैसा ही कठोर और प्रभावी है इसलिए कानून बनने पर भारत की 50% समस्यायों का समाधान करेगा।

कुछ दिन पहले भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय ने कहा था कि अगर भारत में ‘जनसंख्या नियंत्रण कानून’ बना होता तो आज बेड के लिए हाहाकार और दवाइयों के लिए मारामारी न होती। उपाध्याय ने अपने ट्वीट में लिखा, यदि एक कठोर जनसंख्या_नियंत्रण_कानून बनाया होता तो आज न तो बेड के लिए हाहाकार मचता और न तो दवा के लिए मारामारी होती।