अल-हुसैन कोरोना अस्पताल में लगी भीषण आग, डॉक्टर समेत 50 लोगों की दर्दनाक मौत, दर्जनों जख्मी

सोमवार को इराक के दक्षिणी शहर नासिरिया में एक कोरोनोवायरस अस्पताल में भीषण आग लग गई, जिसकी वजह से कई डॉक्टर समेत लगभग 50 लोगों की मौत हो गई है जबकि दर्जनों लोग गंभीर रूप से जख्मी हैं, बताया जा रहा है कि अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक विस्फोट के कारण आग भयानक आग लगी, प्रधानमंत्री मुस्तफा अल-कदीमी ने वरिष्ठ मंत्रियों के साथ तत्काल बैठक की और नासिरिया में स्वास्थ्य और नागरिक सुरक्षा प्रबंधकों को निलंबित करने और गिरफ्तार करने का आदेश दिया। बयान में कहा गया है कि अस्पताल के प्रबंधक को भी निलंबित कर दिया गया और गिरफ्तार करने का आदेश दिया गया।

स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता अम्मार अल-जमिली ने स्थानीय मीडिया को बताया कि जब आग लगी तब वार्ड के अंदर कम से कम 63 मरीज थे। नासिरिया के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि आग पर काबू पाने के बाद अल-हुसैन कोरोनावायरस अस्पताल में तलाशी अभियान जारी था, लेकिन घने धुएं के कारण कुछ जले हुए वार्डों में प्रवेश करना मुश्किल हो रहा था।

इण्डिया टुडे के मुताबिक़, अस्पताल के एक गार्ड अली मुहसिन ने कहा, “मैंने कोरोनोवायरस वार्ड के अंदर एक बड़ा विस्फोट सुना और फिर आग बहुत तेजी से भड़की।” स्वास्थ्य सूत्रों ने कहा कि सोमवार को लगी आग से मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि कई मरीज अभी भी लापता हैं। उन्होंने बताया कि मरने वालों में दो स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल हैं।

अप्रैल में, बगदाद के एक कोविड -19 अस्पताल में ऑक्सीजन टैंक विस्फोट के कारण लगी आग में कम से कम 82 लोग मारे गए और 110 अन्य घायल हो गए।