कल तक शिवसेना को दोस्त बता रहे थे देवेंद्र फडणवीस, अब बता रहे तालिबानी

कल तक शिवसेना को दोस्त बताने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस अब उसी शिवसेना को तालिबानी बता रहे हैं, उन्होंने कहा कि बुर्का फट गया है, फडणवीस ने यह बयान तब दिया जब महाराष्ट्र विधानसभा के स्पीकर ने भाजपा के 12 विधायकों को एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया। महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष भास्कर जाधव ने सोमवार को सदन में अभद्र व्यवहार करने पर भाजपा के 12 विधायकों को एक साल के लिए निलंबित कर दिया। विधानसभा अध्यक्ष ने भाजपा विधायकों के खिलाफ यह कार्यवाही तब की है जब पूर्व मुख्यमंत्री व् भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने एक दिन पहले ही कहा था कि शिवसेना भाजपा की दुश्मन नहीं है… Fadnavis Shivsena

विधानसभा अध्यक्ष को गाली देने और कुर्सी से बदसलूकी करने के आरोप में 12 विधायकों को एक साल के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव पारित किया गया। भाजपा के 12 निलंबित विधायकों में संजय कुटे, आशीष शेलार, अभिमन्यु पवार, गिरीश महाजन, अतुल भटकलकर, पराग अलावनी, हरीश पिंपले, राम सतपुते, विजय कुमार रावल, योगेश सागर, नारायण कुचे और कीर्तिकुमार बांगड़िया हैं। Fadnavis Shivsena

भाजपा विधायकों के सपेन्शन के बाद विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ‘सरकार ने झूठी कहानी गढ़ी है और हमारे 12 विधायकों को निलंबित कर दिया है। हमारे विधायकों ने स्पीकर को गाली नहीं दी। कुछ गरमागरम बहस हुई लेकिन सभी विधायकों की ओर से हमारे वरिष्ठ सदस्य आशीष शेलार ने अध्यक्ष अध्यक्ष भास्कर जाधव से माफी मांगी।  Fadnavis Shivsena

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना के प्रति नरम रुख अपनाते हुए कहा था, राजनीति में कोई किंतु-परंतु नहीं होता है, मौजूदा परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लिए जाते हैं। फडणवीस ने यह भी कहा था कि शिवसेना भाजपा की दुश्मन नहीं है..

एक साल के लिए निलंबित किए गए विधायकों में आशीष शेलार भी शामिल हैं। शेलार ने कहा कि शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी के रूप में नया तालिबान महाराष्ट्र पर शासन करने की कोशिश कर रहा है। भाजपा के किसी विधायक ने भास्कर जाधव का अपमान नहीं किया है।